News Nation Logo

महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना मामले पर स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने दिया ये बयान

स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा कि राज्य में संक्रमित हुये सभी मरीजो में से तकरीबन 85 प्रतिशत  मरीजो में कोरोना के लक्षण नहीं पाये गए है.जिसके तहत इनमें से ज्यादातर को अलग कमरे में रखने की सलाह दी गई है, यानी की होम क्वारंटाइन.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 15 Mar 2021, 07:51:19 PM
rajesh tope maharashtra health minister

Maharashtra health minister Rajesh Tope (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 16,620 मामले दर्ज किए गए
  • पूरे राज्य में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जा रही है
  • कोरोना की रोकथाम के लिए नियमों का पालन करें-स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

मुंबई:

देश में सोमवार को 86 दिनों के बाद कोविड-19 के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं. पिछले 24 घंटों में 26,291 मामले दर्ज हुए हैं, जो रविवार के आंकड़ों से 971 ज्यादा हैं. वहीं इस दौरान 118 मौतें भी हुईं. हालांकि यह संख्या एक दिन पहले की मृत्यु संख्या से 43 कम रही. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 15 मार्च सोमवार से पहले 18 दिसंबर को देश में 26,991 मामले दर्ज किए गए थे. अब देश में मामलों की कुल संख्या 1,13,85,339 और मरने वालों की संख्या 1,58,725 तक पहुंच गई है.

इन नए मामलों में से 72 फीसदी मामले केवल 3 राज्यों के हैं. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 16,620 मामले दर्ज किए गए. राज्य में इस साल दर्ज हुए दैनिक मामलों की यह सबसे बड़ी संख्या है. वहीं पंजाब में 1,501 और गुजरात में 810 नए मामले दर्ज किए गए.

और पढ़ें: EXCLUSIVE: देश में बंद नहीं होना चाहिए कोवीशिल्ड का टीकाकरण: CSIR DG

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कोरोना मरीजों की की संख्या बढ़ने से लॉकडाउन की जगह सख्त प्रतिबंध लगाएंगे. आम जनता कोरोना नियमों का पालन करते सहयोग करें.

उन्होंने आगे कहा कि  राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है और संक्रमण की घटनाओं में तेजी हुई है. लेकिन मृत्यु दर इसके मुकाबले कम है, लोगों को अनावश्यक भीड़ से बचना चाहिए.

स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा कि राज्य में संक्रमित हुये सभी मरीजो में से तकरीबन 85 प्रतिशत  मरीजो में कोरोना के लक्षण नहीं पाये गए है. जिसके तहत इनमें से ज्यादातर को अलग कमरे में रखने की सलाह दी गई है, यानी की होम क्वारंटाइन. मौजूदा समय में राज्य के अस्पतालो के बेड की कोई कमी नहीं है. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए ट्रैकिंग,टेस्ट और इलाज इन तीन तरीको से काम किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना के 16 हजार से ज्यादा नए केस, लातूर में नाइट कर्फ्यू

उन्होंने आगे कहा कि पूरे राज्य में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जा रही है. शादियों और सामाजिक कार्यक्रम जैसे कार्यक्रमो में इकट्ठा होनेवाली भीड़ को रोकने के लिए सख्त नियम लगाए जा रहे हैं. लोग वे-वजह भीड़ नहीं करे और सतर्क रहें.

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए नियमों का पालन करें जैसे कि, सुरक्षित दूरी, मास्क का उपयोग और लगातार हाथ धोने से मरीजो की संख्या सीमित हो सकती है. राज्य में कोरोना के टीके की प्रक्रिया में तेजी आई है,जिसके तहत तकरीबन सवा लाख लोगों को कोरोना का टीका रोज़ाना लग रहा है. राज्य में टीकों की कोई कमी नहीं है और निजी और सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण की संख्या बढ़ाने के प्रयास भी किया जा रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 15 Mar 2021, 07:46:42 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.