News Nation Logo
Banner

भारत में हीरो बने पाक गेंदबाज दानिश कनेरिया, टीम इंडिया के खिलाड़ियों को लेकर देश नाराज

भारत के क्रिकेट फैंस ही नहीं बल्कि आम लोग भी इन दिनों दानिश कनेरिया की जमकर तारीफ कर रहे हैं. फैंस का मानना है कि दानिश कनेरिया मुस्लिम बाहुल्य पाकिस्तान में रहते हुए भी अयोध्या राम मंदिर के भूमिपूजन की तस्वीरें शेयर कर खुशियां जता रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 11 Aug 2020, 03:16:56 PM
danish kaneria

दानिश कनेरिया (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

पाकिस्तान (Pakistan) के प्रतिबंधित लेग स्पिनर दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) ने राम मंदिर (Ram Mandir) भूमि पूजन पर खुशी जताते हुए दुनिया भर के हिंदुओं के लिए इस दिन को ऐतिहासिक करार दिया था. कनेरिया ने साथ ही राम लला का दर्शन करने के लिए अयोध्या आने की भी इच्छा जाहिर की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पांच अगस्त को अयोध्या (Ayodhya)में राम मंदिर के निर्माण की आधारशिला रखी थी, जिस पर विश्व भर के हिंदू समुदाय ने खुशी प्रकट की थी और कनेरिया ने भी इस पर खुशी जाहिर की थी. दानिश कनेरिया ने एक भारतीय न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि अगर भगवान राम ने उन्हें बुलाया तो वह जरूर अयोध्या आएंगे और राम लला के दर्शन करेंगे.

ये भी पढ़ें- इंग्लैंड के लिए बुरी खबर, परिवार में निधन के कारण ये बड़ा खिलाड़ी बाहर

कनेरिया ने कहा कि धार्मिक व्यक्ति होने के नाते वे हिंदू धर्म और भगवान को फॉलो करते हैं और उन्हें बहुत मानते भी हैं. उन्होंने कहा कि वे भगवान राम बहुत मानता हैं और उनके बताए रास्तों पर चलने की कोशिश करते हैं. कनेरिया ने आगे कहा कि उन्होंने बचपन से ही रामायण देखी है और वे राम भगवान के जीवन के आदर्शों को पूजते हैं. पाकिस्तान क्रिकेट टीम के आखिरी हिंदू खिलाड़ी कनेरिया ने कहा से राम मंदिर बनने के बाद दर्शन को लेकर सवाल पूछा गया था. जिसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि अगर राम भगवान ने चाहा और उनका बुलावा आया तो वे राम भगवान के दर्शन के लिए जरूर अयोध्या जाएंगे. उन्होंने कहा कि अयोध्या उनके लिए एक धार्मिक जगह है और कभी मौका मिला तो वे जरूर वहां जाना चाहेंगें.

ये भी पढ़ें- युवा हैदर अली को पाकिस्तान टीम में शामिल करना चाहते हैं लतीफ

राम मंदिर के हटकर जब कनेरिया से पूछा गया कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम में एक हिंदू क्रिकेटर होने के क्या मायने हैं, तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम की ओर से खेलना उनके लिए सम्मान की बात है. अपने देश के लिए खेलना और एक हिंदू क्रिकेटर होने के नाते पाकिस्तान टीम का प्रतिनिधित्व करना और अपनी टीम को मैच जिताना हमेशा ही उनके लिए एक बड़ी उपलब्धि की तरह है और ये उनके लिए गर्व और सम्मान की बात है. कनेरिया ने कहा कि आए दिन उनके ऊपर रिलीजन कॉर्ड खेलने के आरोप लगाए जाते हैं. उन्होंने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे किसी तरह का कोई रिलीजन कॉर्ड नहीं खेलते हैं.

ये भी पढ़ें- बटलर ने कहा, इस पारी से पहले लगा था कि यह आखिरी टेस्ट होगा

दानिश ने बताया कि उनकी शिकायत सिर्फ और सिर्फ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और उसके दोहरे रवैये से है. बाकी खिलाड़ियों के साथ पाकिस्तान बोर्ड का व्यवहार बहुत अच्छा है लेकिन जब बात दानिश कनेरिया की आती है तो पीसीबी उन्हें दरकिनार कर देता है. पीसीबी का यही रवैया उन्हें काफी दुख पहुंचाता है. कनेरिया ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए रखी गई नींव और भूमिपूजन पर कहा कि उन्होंने मंदिर निर्माण को लेकर जो ट्वीट किया था, वो किसी को बताने या चिढ़ाने के लिए नहीं किया था. वे राम भगवान में विश्वास रखते हैं और उनकी पूजा करते हैं इसीलिए उन्होंने ये ट्वीट किया था.

ये भी पढ़ें-पाकिस्तान की हार पर कप्तान अजहर अली पर भड़के अकरम

राम मंदिर निर्माण को लेकर खुशी जाहिर करते हुए ट्वीट करने वाले पाकिस्तान के गेंदबाज दानिश कनेरिया भारत में काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं. भारत के क्रिकेट फैंस ही नहीं बल्कि आम लोग भी इन दिनों दानिश कनेरिया की जमकर तारीफ कर रहे हैं. फैंस का मानना है कि दानिश कनेरिया मुस्लिम बाहुल्य पाकिस्तान में रहते हुए भी अयोध्या राम मंदिर के भूमिपूजन की तस्वीरें शेयर कर खुशियां जता सकते हैं लेकिन भारत जैसे हिंदू बाहुल्य देश में रहने के बावजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों को राम मंदिर को लेकर खुशी जताने में दिक्कत है. भारतीय क्रिकेट फैंस का कहना है कि जो पाकिस्तान हिंदुओं के लिए इतना असुरक्षित हो गया है, ये सब जानते हुए भी दानिश कनेरिया ने राम मंदिर निर्माण को लेकर अपनी खुशियां जाहिर कीं और दुनियाभर के हिंदू समुदाय के लोगों को शुभकामनाएं दीं.

ये भी पढ़ें- VIDEO : विराट कोहली ने RCB के लिए कही बड़ी बात, देखिए बेहद खास वीडियो

बताते चलें कि राम मंदिर निर्माण को लेकर टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और लंबे समय टीम से बाहर चल रहे अनुभवी बल्लेबाज सुरेश रैना ने ही राम मंदिर को लेकर खुशी जताई थी. इनके अलावा टीम इंडिया का कोई भी बड़ा नाम राम मंदिर को लेकर ट्वीट करना ठीक नहीं समझा. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली हों या फिर उप-कप्तान रोहित शर्मा, किसी ने भी राम मंदिर को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. बस, यही वजह है कि भारतीय क्रिकेट फैंस टीम इंडिया के धुंरधरों से काफी नाराज हैं.

First Published : 11 Aug 2020, 03:16:56 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो