News Nation Logo
Banner

पेमेंट करते समय अब नहीं होगी टेंशन, RBI ने सिक्योरिटी को और किया मजबूत

RBI का कहना है कि लैपटॉप, डेस्कटॉप, हाथ घड़ी और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (Internet of Things-IoT) आधारित उत्पादों को टोकन व्यवस्था (Token System) के दायरे में शामिल कर लिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 26 Aug 2021, 03:21:31 PM
भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India-RBI)

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India-RBI) (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • यूजर्स के लिए कार्ड ट्रांजैक्शन के और अधिक सुरक्षित और सुविधाजनक होने की संभावना
  • RBI ने 2019 में कार्ड ट्रांजैक्शन की टोकन व्यवस्था को लेकर दिशानिर्देश जारी किया था

नई दिल्ली :

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India-RBI) ने भुगतान प्रणाली (Payment System) की सुरक्षा (Security) को और मजबूत बनाने के लिए नई व्यवस्था को बना दिया है. RBI का कहना है कि लैपटॉप (Laptop), डेस्कटॉप, हाथ घड़ी (Wrist Watch) और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (Internet of Things-IoT) आधारित उत्पादों को टोकन व्यवस्था (Token System) के दायरे में शामिल कर लिया गया है. आरबीआई (Latest Reserve Bank News) का कहना है कि इस कदम के बाद यूजर्स के लिए लेनदेन (Transaction) के और अधिक सुरक्षित (Secure) और सुविधाजनक होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार असंगठित श्रमिकों तक योजनाओं का फायदा पहुंचाने के लिए उठाने जा रही है ये कदम

2019 में में आरबीआई ने जारी किए थे दिशानिर्देश
बता दें कि रिजर्व बैंक ने 2019 में कार्ड ट्रांजैक्शन की टोकन व्यवस्था को लेकर दिशानिर्देश जारी किया था. दिशानिर्देश के तहत अधिकृत कार्ड नेटवर्क को अनुरोध करने पर ही टोकन की सेवाएं देने की अनुमति दी गई थी. हालांकि यह अनुमति कुछ शर्तों पर निर्भर करती है.

यह भी पढ़ें: भारतीय रेलवे ने बिहार और उत्तर प्रदेश के यात्रियों को दी सौगात, जानें पूरी खबर

बता दें कि इसके पहले यह सुविधा सिर्फ मोबाइल फोन और टैबलेट के लिए ही उपलब्ध थी. बता दें कि पेमेंट सिस्टम की सुरक्षा को मजबूत बनाने के उद्देश्य से टोकन व्यवस्था (टोकनाइजेशन) को शुरू किया गया था. टोकन व्यवस्था के तहत वास्तविक कार्ड ब्योरा के बजाय अनूठा वैकल्पिक कोड ब्यौरा सृजित किया जाता है उसे टोकन कहते हैं. 

यह भी पढ़ें: अलर्ट: 1 सितंबर से बदल जाएगा PF से जुड़ा यह अहम नियम, जल्द निपटा लें यह काम, वरना होगा बड़ा नुकसान

यूजर्स के लिए कार्ड के जरिए ट्रांजैक्शन हो जाएगा ज्यादा सुरक्षित 

आरबीआई का कहना है कि व्यवस्था की समीक्षा और विभिन्न पक्षों से मिले सुझाव को देखते हुए टोकन व्यवस्था के दायरे में लैपटॉप, डेस्कटॉप, हाथ घड़ी, बैंड और इंटरनेट ऑफ थिंग्स आधारित उत्पादों को शामिल करने का फैसला लिया गया है. आरबीआई के इस कदम से यूजर्स के लिए कार्ड (Debit-Credit Card) के जरिए ट्रांजैक्शन ज्यादा सुरक्षित हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: पैन कार्ड (pan card) खो गया है और नंबर नहीं है याद तो परेशान न हों, ऐसे मिलेगा नया कार्ड

First Published : 26 Aug 2021, 03:16:37 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×