News Nation Logo

BREAKING

क्या मिलेगी उमर अकमल को राहत?

पाकिस्तान के क्रिकेटर कमरान अकमल के छोटे भाई उमर अकमल पर 3 साल का बैन लगा था लेकिन कुछ वक्त पहले उसको घटाकर 18 महीनों का किया गया था. इस साल फरवरी में पीसीएल से पहले क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में खेलने से रोक लगा दी थी.

Sports Desk | Edited By : Ankit Pramod | Updated on: 19 Aug 2020, 05:57:34 PM
Umar Akmal

उमर अकमल (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पाकिस्तान (Pakistan) के क्रिकेटर कमरान अकमल (Kamran Akmal) के छोटे भाई उमर अकमल (Umar Akmal)  पर 3 साल का बैन लगा था लेकिन कुछ वक्त पहले उसको घटाकर 18 महीनों का किया गया था. इस साल फरवरी में पीसीएल से पहले क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में खेलने पर रोक लगा दी थी. बता दें कि उमर अकमल पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उसी मामले में उन पर ये कार्रवाई हुई थी. इसके बाद उमर अकमल पर 3 साल का बैना लगा था लेकिन उसको अब कम कर दिया गया है. उमर अकमल ने पाकिस्तान के लिए आखिरी बार अक्टूबर में मैच खेला था. पाकिस्तान के लिए उमर ने 16 टेस्ट, 121 वनडे, 84 टी-20 मैच खेले हैं.

यह भी पढ़ें ः Reliance Jio Special Offer : फ्री में देख पाएंगे IPL 2020 के मैच

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने स्वतंत्र निर्णायक द्वारा बल्लेबाज उमर अकमल के तीन साल के प्रतिबंध में कटौती करने के फैसले को पर दोबारा सोचने पर चुनौती दी है. पीसीबी के मुख्य संचालन अधिकारी सलमान नसीर ने पुष्टि की कि अपील दायर की गई है. नसीर ने कहा, ‘‘स्वतंत्र निर्णायक के फैसले को चुनौती देने का फैसला हमारे लिए काफी मुश्किल था लेकिन अंतिम रिपोर्ट पढ़ने के बाद हमें कुछ चिंताएं थी. हमने महसूस किया कि सजा पर्याप्त नहीं थी क्योंकि उमर के खिलाफ भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन के दो आरोप थे.

यह भी पढ़ें ः Dream 11 के साथ आगे भी जारी रह सकता है IPL और BCCI का रिश्‍ता, जानिए क्‍या हैं दो विकल्‍प

पीसीबी के स्वतंत्र निर्णायक उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति फाकिर मुहम्म्द खोकर ने 2020 में पाकिस्तान सुपर लीग से पहले दो भ्रष्ट संपर्क की सूचना देने में विफल रहने पर उमर पर लगे तीन साल के प्रतिबंध को 29 जुलाई को घटाकर 18 महीने का कर दिया था. उमर ने बोर्ड के अनुशासन पैनल द्वारा अप्रैल में लगाए तीन साल के प्रतिबंध के खिलाफ अपील की थी जिस पर खोकर ने फैसला सुनाया था.

ये भी पढ़ें: पाकिस्‍तान के खराब प्रदर्शन के बाद भी कोच मिसबाह उल हक खुश

नसीर ने कहा, ‘‘हमने खेल पंचाट में अपील दायर करने का फैसला किया क्योंकि जब हमने स्वतंत्र निर्णायक के फैसले को देखा तो उन्होंने लिखा था कि वह टेस्ट बल्लेबाज के आचरण से संतुष्ट नहीं हैं और यह साबित हुआ है कि टेस्ट बल्लेबाज के बयान विरोधाभासी हैं और विश्वसनीय नहीं हैं. उन्होंने साथ ही लिखा कि वह इस मामले को सहानुभूति के आधार पर देख रहे हैं और अपना फैसला दिया.

ये भी पढ़ें: BCCI धोनी के लिए फेयरवेल मैच का आयोजन करने को तैयार: अधिकारी

हमारे लिए मुख्य सवाल यह है कि क्या सहानुभूति के आधार पर सजा को कम करना चाहिए. ’’ नसीर ने कहा कि हमें साथ ही लगा कि दो आरोपों में प्रत्येक के लिए 18 माह की सजा अलग अलग चलनी चाहिए और एक साथ नहीं. आपको बता गदें कि पाकिस्तानी बल्लेबाज उमर अकमल का तीन साल का प्रतिबंध ‘सहानुभूति’ के आधार पर घटाकर 18 महीने का कर दिया गया था जो साल के शुरू में भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट नहीं करने के लिये लगाया गया था. उमर अकमल ने कहा था वो फैसले से संतुष्ट नहीं थे और वह निलंबन को पूरी तरह से हटाने के लिये लड़ेंगे. अकमल का प्रतिबंध अब फरवरी 2020 से अगस्त 2021 तक प्रभावी होगा.

(इनपुट एजेंसी)

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 19 Aug 2020, 04:59:04 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Umar Akmal Pakistan