News Nation Logo
Banner

ICC देखना चाहता है भारत और पाकिस्तान की सीरीज ....लेकिन

भारत और पाकिस्तान का मैच हमेशा से रोमांचक होता है.दोनों टीमों को एक साथ मैदान पर दुनियाभर के क्रिकेट फैंस देखना पसंद करते हैं. इन हाई वोल्टेज मैच में काफी ड्रामा देखने को मिलता है.

By : Ankit Pramod | Updated on: 30 Nov 2020, 05:08:51 PM
ind vs Pak

भारत बनाम पाकिस्तान (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

india vs Pakistan:  भारत और पाकिस्तान का मैच हमेशा से रोमांचक होता है.दोनों टीमों को एक साथ मैदान पर दुनियाभर के क्रिकेट फैंस देखना पसंद करते हैं. इन हाई वोल्टेज मैच में काफी ड्रामा देखने को मिलता है. आईपीसीसी के टूर्नामेंट में भारत ने पाकिस्तान को ज्यादा बार धूल चटाई है. हालांकि भारत और पाकिस्तान अब सीरीज नहीं खेलता है लेकिन आईसीसी के टूर्नामेंट में दोनों टीमें एक दूसरे से लोहा लेती है. आखिरी बार दोनों का मैच 2019 वर्ल्ड में हुआ था जिसको टीम इंडिया ने अपने नाम किया था. अब आईसीसी ने दोनों देशों की सीरीज पर बयान दिया है.

यह भी पढ़ें : IND vs AUS : तीसरे वन डे में टीम इंडिया की राह आसान, डेविड वार्नर और पैट कमिंस बाहर 

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट समिति के नए चेयरमैन जॉन बारक्ले ने कहा कि आईसीसी पारंपरिक प्रतिद्वंद्वियों-भारत और पाकिस्तान को नियमित रूप से एक-दूसरे के साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलते हुए देखना चाहते हैं. उन्होंने साथ ही कहा कि उनके पास ऐसा सुनिश्चित करने के लिए कोई जनादेश नहीं है कि वास्तव में ऐसा हो. भारत और पाकिस्तान ने राजनीतिक और कूटनीतिक संबंधों में जारी खटास के कारण पिछले कुछ सालों से एक-दूसरे के साथ एक भी टेस्ट सीरीज नहीं खेली है. पाकिस्तान ने 2007 में आखिरी बार तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारत का दौरा किया था जबकि भारत ने 14 साल पहले पाकिस्तान का दौरा किया था.

यह भी पढ़ें : INDvAUS : मार्नस लाबुशेन बोले, फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट खेलने से भारत के खिलाफ फायदा होगा

इसके बाद पाकिस्तान की टीम वनडे और टी-20 सीरीज के लिए अंतिम बार 2012 में भारत दौरे पर आई थी. इसके अलावा उसने चार साल बाद 2016 में भारत में हुए टी-20 विश्व कप में भाग लेने के लिए भारत का दौरा किया था. बारक्ले ने मीडिया से कहा मैं भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय सीरीज से ज्यादा कुछ नहीं पसंद करूंगा क्योंकि वे पहले की तरह ही क्रिकेट संबंधों को जारी रखने में सक्षम होंगे. मैं साथ ही यह भी समझता हूं कि यहां द्विपक्षीय सीरीज खेलने में राजनीतिक मुद्दे हैं, जोकि मेरे अधिकार क्षेत्र से बाहर है.

ये भी पढ़ें: डेविड वॉर्नर के बाद मिला ऑस्ट्रेलिया को नया ओपनर, बल्लेबाज बोला हां मैं तैयार हूं

उन्होंने कहा मुझे लगता है कि हम सब यह कर सकते हैं कि आईसीसी की मदद करना जारी रख सकते हैं. साथ ही किसी भी तरह से सहायता और समर्थन जारी रखना चाहते हैं, जिससे हम ऐसे परिणाम ला सकते हैं जो भारत और पाकिस्तान को ऐसी स्थिति में ला सके, जहां वे एक-दूसरे के खिलाफ और अपने घर में नियमित रूप से क्रिकेट खेल सकें.आईसीसी के नए चेयरमैन ने साथ ही कहा इसके अलावा, मुझे नहीं लगता कि मेरे पास एक जनादेश या उससे अधिक परिणामों को प्रभावित करने की क्षमता है. यह वास्तव में एक ऐसे स्तर पर किया जा रहा है, जहां हम काम कर रहे हैं. बारक्ले ने कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों की सरकारें अगर किसी अंतिम परिणाम पर पहुंचती हैं तो आईसीसी इसमें एक सूत्रधार की भूमिका निभाएगा.

ये भी पढ़ें: Ind Vs Aus: कैनबरा में होगा क्लीन स्पीव, 300 बनना तय..जानिए क्या है मामला

उन्होंने कहा आश्वासन के अलावा जैसा कि वे कहते हैं कि क्रिकेट के दृष्टिकोण से, हम उन देशों को नियमित रूप से फिर से एक साथ वापस लाना पसंद करेंगे. आईसीसी ऐसा करने में मदद करेगा. पाकिस्तान को अगले साल होने वाले आईसीसी टी-20 विश्व कप के लिए और फिर 2023 में होने वाले 50 ओवरों के क्रिकेट विश्व कप के लिए भारत का दौरा करना है. तब फिर से पाकिस्तान का भारत दौरा मुद्दा पकड़ सकता है.

 

 

 

First Published : 30 Nov 2020, 05:08:51 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.