News Nation Logo
Banner

Amit Shah Virtual Rally: अमित शाह का बड़ा बयान, नीतीश के नेतृत्व में बिहार में दो तिहाई बहुमत से बनाएंगे सरकार

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी का चुनावी बिगुल बज गया है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बिहार में बीजेपी की चुनावी अभियान की शुरुआत कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 07 Jun 2020, 05:14:27 PM
Amit Shah

Amit Shah Virtual Rally: अमित शाह की बिहार-जनसंवाद रैली (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी का चुनावी बिगुल बज गया है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बिहार में बीजेपी की चुनावी अभियान की शुरुआत कर दी है. बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह की वर्चुअल रैली खत्म हो गई है. अमित शाह ने वर्चुअल रैली के जरिए बिहार में लोगों को संबोधित किया. 'बिहार-जनसंवाद' नाम वाली वर्चुअल रैली के जरिए 2 लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया. 

यह भी पढ़ें: RJD नेताओं के थाली बजाने पर BJP ने किया करारा पलटवार, JDU ने भी निशाने पर लिया

Amit Shah Virtual Rally Live

अमित शाह का बड़ा बयान, नीतीश के नेतृत्व में बिहार में दो तिहाई बहुमत से बनाएंगे सरकार

राजद को सीधे निशाने पर लेते हुए अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'मैं सभी को कहना चाहता हूं कि लालटेन युग से LED युग, लाठी राज से कानून राज, लूट एंड ऑर्डर राज से लॉ एंड आर्डर के राज तक आए हैं. चारा युग से डीबीटी युग तक आए. हमें उम्मीद है कि नीतीश जी के नेतृत्व में हम लोग फिर से दो तिहाई बहुमत पाकर सरकार बनाएंगे.'

अमित शाह बोले, नीतीश और सुशील विरोध करने में कच्चे

अमित शाह ने कहा, 'मोदी जी ने राज्यों के मुख्यमंत्री से 5 बार इस संकट में संवाद किया. चाहे वो किसी पार्टी के हों. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को बधाई, उन्होने जिस तरीके से इस संकट में गरीबों के लिये काम किया.' अमित शाह ने कहा, 'नीतीश जी और सुशील जी विरोध करने में कच्चे हैं. वो रोड पर खड़े होकर थाली नहीं बजाते, वो चुपचाप गरीबों के हित में प्रसिद्धि का काम करते हैं.' उन्होंने कहा, 'देश की 130 करोड़ जनता मोदी जी के साथ कोरोना की लड़ाई में चट्टान की तरह खड़ी है. देश का कोई भी कोना हो, उसके विकास की नींव में बिहार के व्यक्ति के पसीने की महक है. जो लोग उन्हें अपमानित करते हैं वो प्रवासी मजदूरों के जज्बे को नहीं समझते हैं.'

यह भी पढ़ें: पटना में राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव ने अमित शाह की वर्चुअल रैली का थाली बजाकर किया विरोध

अमित शाह ने कांग्रेस पर बोला करारा हमला

कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए अमित शाह ने कहा, 'जब मोदी जी ने पहली बार संसद के अंदर कहा कि मेरी सरकार गरीबों, दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों के लिए काम करेगी, तब कुछ लोगों ने इंदिरा गांधी जी को क्वोट करके कहा था कि इंदिरा जी भी गरीबी हटाओ की बात करती थीं, इंदिरा जी चली गई और गरीबी वहीं की वहीं रह गई.' उन्होंने कहा, 'नरेंद्र मोदी जी ने किसान सम्मान निधि के माध्यम से 9.5 करोड़ किसानों के बैंक खाते में 72,000 करोड़ रुपये हर साल डालने की व्यवस्था की. राहुल गांधी हमेशा कहते थे कि किसानों का कर्ज माफ करो. 10 साल उनकी सरकार रही थी, तो वो दावा करते हैं कि करीब 3 करोड़ किसानों का 60 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया.'

अमित शाह ने बिहार के विपक्षी दलों को निशाने पर लिया

बिहार के विपक्षी दलों को निशाने पर लेते हुए अमित शाह ने कहा, 'बिहार की जनता को कई लोगों ने गुमराह करने का कोशिश किया है, मगर मैं कहना चाहता हूं कि बिहार के प्रवासी श्रमिक का पूरा देश सम्मान करता है. इस देश के विकास की नींव में बिहार के श्रमिकों का पसीना है. नरेंद्र मोदी जी ने हर राज्य को कहा कि श्रमिकों का ख्याल रखें. श्रमिकों के सम्मान में श्रमिक स्पेशल नाम से ट्रेन चलीं. तकलीफ हुई जब कई ऐसी तस्वीरें आई, जहां श्रमिक पैदल चल रहे थे. मगर हम लोगों ने उन्हें सुरक्षित पहुंचाने का काम किया. मैं विपक्ष से पूछना चाहता हूं आप कहां थे, पटना में थे या दिल्ली में थे.'

यह भी पढ़ें: पटना में RJD नेताओं के खिलाफ टंगा नया पोस्टर, लिखा- कैदी पीट रहे थाली, जनता बजाओ ताली

मोदी जी ने 6 साल करोड़ों गरीबों के जीवन में प्रकाश लाने का प्रयास किया

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, 'आजादी के समय जीडीपी के अंदर पूर्वी भारत का योगदान बहुत ज्यादा होता था, परंतु आजादी के बाद से जिस प्रकार से सरकारें चली, उन्होंने पूर्वी भारत के विकास से मुंह मोड़ लिया था और परिणाम ये आया कि पूर्वी भारत पिछड़ता गया. 2014 में मोदी जी ने कहा था कि भारत का विकास जो अब तक चला उसमें पश्चिमी भारत और पूर्वी भारत के विकास में बहुत बड़ा अंतर है. मोदी जी ने छह साल के अंदर करोड़ों गरीबों के जीवन में प्रकाश लाने का एक प्रयास किया है जिसका सबसे बड़ा फायदा अगर किसी को हुआ है तो वो मेरे पूर्वी भारत के लोगों को हुआ है.'

बिहार की धरती ने ही पहली बार दुनिया को लोकतंत्र का अनुभव कराया

शाह ने कहा, 'बिहार की धरती ने ही पहली बार दुनिया को लोकतंत्र का अनुभव कराया. जहां महान मगध साम्राज्य की नींव डाली गई। इस भूमि ने हमेशा भारत का नेतृत्व किया है. बिहार की भूमि ने भ्रष्टाचार, परिवारवाद, वंशवाद के खिलाफ हमेशा लड़ाई लड़ी और सामाजिक न्याय के झंडे को हमेशा के लिए बुलंद किया. ये राजनीतिक दल के गुणगान गाने की रैली नहीं है। ये रैली जनता को कोरोना के खिलाफ जंग में जोड़ने और उनके हौसले बुलंद करने के लिए है.'

यह भी पढ़ें: शिक्षक भर्ती मामले में प्रियंका गांधी का हमला, बोलीं- यूपी में युवाओं का भविष्य रौंदा जा रहा

'लालटेन का जमाना गया, अब एलईडी का जमाना आ गया'

उन्होंने कहा, 'मोदी जी को बिहार की लोगों ने खूब आशीर्वाद दिया है. इसका नतीजा है की आज पूरा पूर्वी भारत विकास की राह पर निकल चला है. मोदी जी ने 6 साल में करोडों गरीब के जीवन में प्रकाश लाने का काम किया है और इसमें बड़ा लाभ पूर्वी भारत के लोगों को मिला है.' अमित शाह ने कहा, 'मोदी जी ने 8 करोड लोगों के घर सिलेंडर भेज, उन्हें धुआं मुक्त कर दिया. लोगों को लालटेन जलानी पड़ती थी. लालटेन का जमाना गया, अब एलईडी का जमाना आ गया है. जब भारत आज़ादी की 75वीं सालगिरह मनाएगा, तब हमने तय किया है कोई इस देश में बिना घर का नहीं होगा.'

भाजपा जनसंवाद में, जनसंपर्क में विश्वास रखती है- शाह
गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि भारत की राजनीति के इतिहास में पहली वर्चुअल रैली में उपस्थित बिहार के सभी कार्यकर्ता भाइयों और बहनों आप सभी का मैं भाजपा की ओर से स्वागत करता हूं. उन्होंने कहा कि इस रैली का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. भाजपा जनसंवाद में, जनसंपर्क में विश्वास रखती है. कोरोना के खिलाफ जंग के लिए लोगों को जोड़ने के लिए है ये रैली.

यह भी पढ़ें: सोमवार से दिल्ली में खुलेंगे मॉल, रेस्तरां और धार्मिक स्थल: केजरीवाल

'जिनकी कोरोना में जान गई उनके साथ हमारी संवेदना'

वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि जिनकी कोरोना में जान गई उनके साथ हमारी संवेदना है. कोरोना वॉरियर को सलाम, जो अपनी अपनी जगह पर कोरोना की लड़ाई लड़ रहे हैं. शाह ने कहा कि बिहार की जनता का धन्यवाद, जिन्होने 2014 और 2019 में मोदी जी को वोट देकर भारत की बागडोर उनके हाथ में दी. लजब कभी भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन हुआ, बिहार ने उसे बचाने में अपना योगदान दिया. गृह मंत्री ने कहा कि आजादी की लड़ाई से आपातकाल की लड़ाई में योगदान दिया. कुछ लोगों ने थाली बजाकर रैली का स्वागत किया, उनका धन्यवाद कि उन्होने मोदी जी की राह को माना.

वर्चुअल रैली में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री को धन्यवाद की समय रहते लॉकडाउन कर लाखों लोगों का जान बचा ली. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी चीन से आंख में आंख डाल कर बात करना जानते हैं तो बिहार के गरीबों के घर में राशन भी पहुंचाना जानते हैं. नरेंद्र मोदी की सरकार ने बिहार के उन श्रमिकों को भी राशन दिया, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है. गरीबों श्रमिकों के लिये घड़ियाली आंसू बहाने वालों को मौका मिला तब तो उन्होंने 15 साल में पशुओं का चारा खा लिया.

रैली की शुरुआत में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा कि इतने बड़े कोरोना संकट में लाखों हज़ार करोड खर्च हुए, मगर प्रधानमंत्री के नेतृत्व का कमाल कि एक घोटाला नहीं हुआ. गरीबों को अनाज कोटे से अलग से दिया गया है. 8 करोड़ आप्रवासियों को राशन दिया गया. इस डिजिटल रैली में सभी का स्वागत. अमित शाह जी को धन्यवाद कि उन्होंने देश के पहले वर्चुअल रैली में काम करने का मौका दिया.

First Published : 07 Jun 2020, 04:12:55 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.