News Nation Logo
Banner

Fixed Deposit (फिक्स्ड डिपॉजिट): इन बैंकों में मिल रहा है FD पर बेहतर ब्याज, जानिए कौन से हैं ये बैंक

Fixed Deposit (फिक्स्ड डिपॉजिट): FD के तय नियमों के अनुसार परिपक्वता (Maturity) से पहले जमा किए गए रकम को नहीं निकाला जा सकता. हालांकि कुछ जुर्माना जमा करके पैसे को पहले भी निकाल सकते हैं.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 08 Jan 2021, 01:41:10 PM
Fixed Deposit-FD (फिक्स्ड डिपॉजिट)

Fixed Deposit-FD (फिक्स्ड डिपॉजिट) (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

Fixed Deposit (फिक्स्ड डिपॉजिट): फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के जरिए निवेशकों के पैसे को सुरक्षा के साथ ही बेहतरीन रिटर्न (FD Return) भी मिलता है. मौजूदा समय में सरकारी क्षेत्र और प्राइवेट सेक्टर के कुछ बैंक बेहतरीन ब्याज ऑफर कर रहे हैं. फिक्स्ड डिपॉजिट में निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त रकम जमा कर ब्याज के तौर पर मुनाफा कमाया जा सकता है. FD के तय नियमों के अनुसार परिपक्वता (Maturity) से पहले जमा किए गए रकम को नहीं निकाला जा सकता. हालांकि कुछ जुर्माना जमा करके पैसे को पहले भी निकाल सकते हैं.

यह भी पढ़ें: सोलर पावर प्लांट लगाइए, मुफ्त बिजली पाइए और उससे बंपर कमाई भी करिए

फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) को बैंकों (Banks) और गैर-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (NBFC) द्वारा दिया जाने वाला निवेश का एक अहम साधन माना जाता है. निवेशक FD के जरिए सेविंग अकाउंट (Saving Account) के मुकाबले अधिक रिटर्न हासिल कर सकते हैं. फिक्स्ड डिपॉजिट में निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त रकम जमा कर ब्याज के तौर पर मुनाफा कमाया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें: Bank Of Baroda की नई सुविधा से सिर्फ 30 मिनट में मिल जाएगा होम लोन

परंपरागत निवेश के तौर पर फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) लोकप्रिय
मौजूदा समय में FD परंपरागत निवेश के तौर पर निवेशकों के बीच काफी लोकप्रिय है. निवेशक पूंजी को फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) करके ब्याज के रूप में बेहतर रिटर्न हासिल कर सकते हैं. आयकर अधिनियम 1961 के मुताबिक फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स अदा करना पड़ता है. बता दें कि एफडी में पैसा निवेश करने के समय ही निवेशकों को इस बात की जानकारी हो जाती है कि उनका पैसा बढ़कर कितना हो जाएगा. ऐसे में अगर कोई निवेशक एफडी में निवेश करना चाहता हैं तो उसके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि कौन से बैंक ज्यादा ब्याज (Interest) दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: गाड़ी की इंश्योरेंस का प्रीमियम कम करने का ये है सबसे आसान उपाय, देखें VIDEO

SBI
देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India-SBI) 7 से 45 दिन की अवधि के लिए 2.9 फीसदी ब्याज ऑफर कर रहा है. 46 दिन से 179 दिन तक के लिए 3.9 फीसदी, 180 से 1 साल से कम के लिए 4.4 फीसदी, 1 साल से 2 साल के लिए 4.9 फीसदी, 2 साल या 3 साल से कम की अवधि के लिए 5.1 फीसदी ब्याज बैंक की ओर से दिया जा रहा है. 3 साल से 5 साल से कम के लिए 5.3 फीसदी और 5 साल से 10 साल तक के लिए 5.4 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है. एसबीआई सीनियर सिटीजन को 0.50 फीसदी अतिरिक्त ब्याज दे रहा है. 

PNB
पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) ग्राहकों को फिक्स्ड डिपॉजिट के ऊपर 7 दिन से 45 दिन के लिए 3 फीसदी ब्याज ऑफर कर रहा है. वहीं 1 साल से कम की अवधि के लिए 4.5 फीसदी, 1 साल से 3 साल तक की अवधि के लिए 5.2 फीसदी और 5 साल से 10 साल तक की अवधि के लिए 5.25 फीसदी ब्याज बैंक की ओर से दिया जा रहा है. 

HDFC Bank
HDFC Bank की ओर से ग्राहकों को FD पर 7 से 29 दिन के लिए 2.50 फीसदी, 30 से 90 दिन के लिए 3 फीसदी, 91 दिन से 6 महीना की अवधि के लिए 3.5 फीसदी और 91 दिन से 6 महीने के लिए 4.4 फीसदी ब्याज ऑफर किया जा रहा है. वहीं 1 साल से 2 साल के लिए 4.90 फीसदी, 2 साल से 3 साल के लिए 5.15 फीसदी, 3-5 साल के लिए 5.30 फीसदी और 5 से 10 साल तक की अवधि के लिए एचडीएफसी बैंक FD के ऊपर 5.50 फीसदी ब्याज दे रहा है. 

यह भी पढ़ें: महंगी हो सकती है सरल जीवन बीमा पॉलिसी, जानिए क्या है वजह

बैंक ऑफ बड़ौदा
बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda) की ओर से फिक्स्ड डिपॉजिट के ऊपर 7 से 45 दिन के लिए 2.80 फीसदी, 46 से 180 दिन के लिए 3.70 फीसदी, 181 से 270 दिन के लिए 4.30 फीसदी, 271 दिन से अधिक और 1 साल से कम के लिए 4.40 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है. बैंक ऑफ बड़ौदा 1 साल की अवधि वाली एफडी पर 5 फीसदी ब्याज ऑफर कर रहा है. 

(Disclaimer: निवेशक निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह जरूर लें. इस न्यूज़ में बैंकों की वेबसाइट और अन्य स्रोतों की जानकारी के आधार पर फिक्स्ड डिपॉजिट ब्याज दर के आंकड़े दिए गए हैं. कृपया निवेशक स्वयं की जांच पड़ताल के बाद ही निवेश की प्रक्रिया को आगे बढ़ाएं. न्यूजनेशनटीवीडॉटकॉम की खबर को आधार मानकर निवेश करने पर हुए लाभ-हानि का न्यूजनेशनटीवीडॉटकॉम से कोई लेना-देना नहीं होगा. निवेशक स्वयं के विवेक के आधार पर निवेश के फैसले लें)

First Published : 08 Jan 2021, 01:38:13 PM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.