News Nation Logo

मुंबई में भारी बारिश से आफत, आज भी मुसीबत का अलर्ट, PM मोदी ने की CM उद्धव से बात

भारी बारिश के साथ ही बेहद तेज गति से चली हवाओं के कारण मुंबई में जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. मुंबई के चेंबूर, परेल, हिंदमाता, वडाला और अन्य क्षेत्रों के निचले इलाकों में भी जलभराव हो गया.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 06 Aug 2020, 07:18:22 AM
mumbai rain

मुंबई में भारी बारिश से आफत, PM मोदी ने की CM उद्धव से बात (Photo Credit: News State)

मुंबई:

भारी बारिश के साथ ही बेहद तेज गति से चली हवाओं के कारण मुंबई में जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. मुंबई के चेंबूर, परेल, हिंदमाता, वडाला और अन्य क्षेत्रों के निचले इलाकों में भी जलभराव हो गया. पालघर स्टेशन पर पटरियों में जलभराव के कारण उपनगरीय सेवाओं को रोक दिया गया. छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) से वाशी स्टेशनों के बीच हार्बर लाइन पर उपनगरीय ट्रेन परिचालन रोक दिया गया, मुख्य रेल मार्ग सीएमएमटी- कुर्ला पर और चर्चगेट तथा कुर्ला के बीच भी जलभराव के कारण ट्रेन परिचालन रोका गया. दरअसल, कुर्ला, सियोन, मरीन लाइन और अन्य स्टेशनों पर पटरियों पर जलभराव हो गया है. पश्चिमी महाराष्ट्र के पुणे, सतारा और कोल्हापुर जिलों में भी बारिश हुई.

यह भी पढ़ें: चीन की शह पर पाकिस्तान ने UN में फिर रोया कश्मीर का रोना, सभी देशों ने लगाई लताड़

बारिश ने तोड़ा 46 साल पुराना रिकॉर्ड

बारिश ने कोलोबा में 46 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. कोलोबा में अगस्त में 12 घंटे में 294 एमएम बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा मौसम विभाग ने पालघर के दहाणू में बुधवार सुबह साढ़े पांच बजे तक 12 घंटों में 364 मिमी की बारिश दर्ज की. ठाणे के भयंदर में मौसम केंद्र ने 169 मिमी बारिश दर्ज की, जबकि इसी अवधि के दौरान मीरा रोड स्थित केंद्र ने 159 मिमी. बारिश दर्ज की. इसके अलावा मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र (एमएमआर) के तहत आने वाले ठाणे शहर, डोम्बिवली और कल्याण इलाकों में इस दौरान 120 मिमी. से अधिक बारिश हुई. मुंबई शहर और बांद्रा तथा कुर्ला जैसे उपनगरों में पिछले 12 घंटों के दौरान 30 मिमी से 70 मिमी तक बारिश दर्ज की गई.

मुंबई में तेज हवाओं से बीएसई भवन के ऊपर लगे बोर्ड क्षतिग्रस्त

तेज हवाओं के साथ हुई भारी बारिश के चलते मुंबई में स्थित ऐतिहासिक बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) भवन के ऊपर लगे बोर्ड भी क्षतिग्रस्त हो गए. स्टॉक एक्सचेंज के शीर्ष पर लगा बोर्ड लगभग उखड़ गया, जिसके चलते एक व्यक्ति ने यह टिप्पणी कर दी कि 'बीएसई' धराशायी हो गया. दक्षिण मुंबई स्थित जसलोक अस्पताल को ढंकने वाले तिरपाल तेज हवाओं से उड़ गए. वहीं भारी बारिश के चलते सरकारी जे जे अस्पताल में जलजमाव हो गया, जहां डॉक्टरों को घुटने भर पानी से होकर गुजरना पड़ा. हालांकि, इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ.

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल जीसी मुर्मू ने दिया इस्तीफा, आज जाएंगे दिल्ली

मंत्री धनंजय मुंडे ईस्टर्न फ्रीवे पर ट्रैफिक में घंटों तक फंसे रहे

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे समेत दर्जनों अन्य लोग यहां ईस्टर्न फ्रीवे पर ट्रैफिक में करीब साढ़े तीन घंटे फंस गए. वह यहां यशवंतराव चव्हाण केंद्र में राकांपा नेताओं की एक बैठक में शरीक होने जा रहे थे. मुंडे के करीबी सूत्रों ने बताया कि भारी बारिश होने के कारण मंत्री का वाहन फ्री वे पर ट्रैफिक जाम में फंस गया. वह वहां से बैठक में करीब साढे तीन घंटे बाद पहुंच सके.

मुंबई में दो लोकल ट्रेनों में फंसे 290 यात्रियों को एनडीआरएफ और आरपीएफ ने निकाला

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने मुंबई में भारी बारिश के चलते रेल पटरियों पर पानी भर जाने के बाद दो लोकल ट्रेनों में फंसे 290 यात्रियों को सुरक्षित तरीके से बाहर निकाला. एक लोकल ट्रेन उत्तर में करजाट जा रही थी जबकि दूसरी दक्षिण मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) की ओर जा रही थी. ये दोनों ट्रेनें शाम करीब चार बजे पटरियों पर पांच फुट पानी में फंस गई. ये दोनों ट्रेनें सीएसएमटी और संध्रुर्स्ट रोड स्टेशन के बीच पटरियों पर फंस गई थी. मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता ने बताया कि एनडीआरएफ और आरपीएफ के इस संयुक्त अभियान में सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया. यह अभियान रात 10 बजे तक चला.

यह भी पढ़ें: लाल चौक पर तिरंगा फहराकर बीजेपी ने धारा 370 हटने का मनाया जश्न

पालघर में पुलिस ने बाढ़ में फंसे 22 लोगों को बचाया

महाराष्ट्र की पालघर ग्रामीण पुलिस ने जिले में भारी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति के बीच 22 लोगों को सकुशल बचा लिया. इनमें पांच वर्षीय एक बच्ची भी शामिल है जो पेड़ पर चढ़ गई थी और चार घंटे से भी अधिक समय तक वहीं फंसी रही. एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, पालघर के तलासरी में दारोता कालू नदी भारी बारिश के कारण उफान पर आ गई और इसका पानी कई घरों में घुस गया. पुलिस ने बताया कि जिले में अलग-अलग स्थानों से बाढ़ के पानी में घरों एवं अन्य स्थानों पर फंसे कुल 22 लोगों को सकुशल बचा लिया. इन लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है.

मुंबई में तेज हवाओं से क्रेन पलटी, स्टेडियम को भी पहुंचा नुकसान

मुंबई में हवाओं की गति इतनी तेज थी कि जेएनपीटी में भारी-भरकम क्रेन तक पलट गई. तेज हवा के कारण नवी मुंबई स्थित डीवाई पाटिल स्टेडियम को भी क्षति पहुंची और कई रेलिंग हवा में उड़ गईं. सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में दिखाई पड़ रहा है कि स्टेडियम में छज्जे की तरह लगायी गई धातु की चादरों में से एक उड़कर पास की इमारतों के पास जा गिरी. उधर, दक्षिण मुंबई में वानखेड़े स्टेडियम की हाइ मास्ट लाइट वाले खंभे तेज हवा के साथ हिलते दिखाई दिए. 

यह भी पढ़ें: गांधी-नेहरू ने भारत के तीन टुकड़े करवा दिए, बोले आचार्य स्वामी श्री धर्मेंद्र जी

मोदी ने उद्धव से की बात, हरसंभव मदद का दिया आश्वासन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की और उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. मुंबई और इसके पड़ोसी जिलों ठाणे तथा पालघर में तेज हवाओं के साथ हुई भारी बारिश के चलते उपनगरीय ट्रेन एवं बस सेवाएं प्रभावित हो गईं. मौसम खराब होने से जनजीवन भी अस्त व्यस्त हो गया.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुंबई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते उत्पन्न स्थिति पर बात की.' इसके मुताबिक प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. वहीं, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बुधवार देर रात कहा कि ठाकरे ने भारी बारिश के समय में नागरिकों की सुरक्षा के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया.

यह भी पढ़ें: अमेरिका में भी भगवान राम की धूम, न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर बिलबोर्ड पर कुछ यूं दिखा नजारा

आज भी मुंबई और आसपास के जिलों में भारी बारिश के आसार

मौसम विभाग ने आज भी मुंबई और इसके पड़ोसी इलाकों में अत्यधिक भारी बारिश होने की आशंका जताई है. साथ ही आज सुबह मुंबई और इससे लगे कोंकण तट पर 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चलने की संभावना है. वहीं, स्थानीय मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि मुंबई और उपनगरीय इलाकों में प्रतिघंटे 30 से 50 मिमी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने एक अलर्ट जारी किया, जिसमें कहा गया है कि 70 से 80 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती है और यह अगले तीन चार घंटों में यह कभी-कभी 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भी चल सकती है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 Aug 2020, 07:18:22 AM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.