News Nation Logo

BREAKING

Banner

बिहार पुलिस सख्तः चूहे-बिल्ली का खेल बंद करें रिया, एसपी पटना भी मुंबई रवाना

बिहार पुलिस की दलील है कि उसका लक्ष्य किसी निर्दोष को सजा दिलाना नहीं है और रिया ने अगर कुछ गलत नहीं किया है तो वह पुलिस के साथ चूहे-बिल्ली का खेल बंद करें.

IANS | Updated on: 02 Aug 2020, 12:41:51 PM
Rhea Chakroborty

एसपी पटना भी मुंबई के लिए रवाना. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

पटना:

बिहार (Bihar) पुलिस स्वीकार कर चुकी है कि वह अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के कथित आत्महत्या मामले की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को 'लोकेट' नहीं कर सकी है. बिहार पुलिस की दलील है कि उसका लक्ष्य किसी निर्दोष को सजा दिलाना नहीं है और रिया ने अगर कुछ गलत नहीं किया है तो वह पुलिस के साथ चूहे-बिल्ली का खेल बंद करें और सामने आकर यथास्थिति स्पष्ट करें. बिहार पुलिस के महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय सिलसिलेवार तरीके से मीडिया से मुखातिब हुए और इस मामले से जुड़ी कई बातों का स्पष्टीकरण पेश किया. इसी क्रम में पांडेय ने एक टीवी चैनल से कहा कि अगर रिया खुद को दोषी नहीं मानती हैं तो फिर वह पुलिस के साथ चूहे-बिल्ली का खेल बंद करें और सामने आकर अपना बयान दर्ज कराएं. इस बीच पटना के एसपी भी मुंबई (Mumbai) के लिए रवाना हो गए हैं. इसके पहले बिहार पुलिस की चार सदस्यीय टीम मुंबई में डेरा डाल जांच कर रही है.

यह भी पढ़ेंः Sushant Case:अब सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर भी उठ रहे सवाल, कई जानकारियां छिपाने का आरोप

निर्दोष को सजा नहीं होती
पांडेय ने कहा, 'रिया भाग क्यों रही हैं? अगर वह दोषी नहीं हैं तो सामने आएं और जांच में पुलिस की मदद करें. हम किसी निर्दोष को सजा देने के हिमायती नहीं हैं. हम चाहेंगे कि वह सामने आकर अपना पक्ष रखें और अगर वह खुद को निर्दोष साबित करने में सफल रहीं तो हम उन्हें हाथ भी नहीं लगाएंगे, लेकिन अगर वह हमसे भागेंगी तो मैं इतना जरूर कहूंगा कि हम एक न एक दिन उन तक जरूर पहुचेंगे और तब दूध का दूध और पानी का पानी हो ही जाएगा.'

यह भी पढ़ेंः कंगना को सुशांत मसले पर धमकाने की कोशिश, मनाली वाले घर के पास गोलीबारी

रिया ने सुप्रीम कोर्ट में दी है दस्तक
सुशांत ने 14 जून को मुम्बई में आत्महत्या की थी और उनके पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को पटना में एफआईआर दर्ज कराई, जिसमें रिया को मुख्य आरोपी बनाया गया है. पटना में एफआईआर दर्ज कराए जाने के बाद बिहार पुलिस भी जांच के लिए मुम्बई पहुंच चुकी है. इस बीच रिया ने पूरे मामले की सुनवाई पटना की जगह मुम्बई मे कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट मे अर्जी दी है. सुशांत के पिता ने भी अपने वकील विकास सिंह के माध्यम से इस मामले को पटना में ही रखने के लिए काउंट पीटिशन दायर किया है. इस मामले की सुनवाई पांच अगस्त को होनी है.

यह भी पढ़ेंः अयोध्या: भूमिपूजन की तैयारी जोरों पर, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होंगे आडवाणी और जोशी

पाताल से खोज निकालेंगे रिया को
उससे पहले रिया लापता हैं. बिहार पुलिस की टीम उनके फ्लैट पर भी गई थी लेकिन वह वहां नहीं मिली. इसी के बाद पांडेय ने स्वीकार किया कि बिहार पुलिस रिया को 'लोकेट' नहीं कर पाई है. रिया ने बीते दिनों एक वीडियो जारी कर खुद को निर्दोष बताया. इसी पर पांडेय ने कहा कि वीडियो के जरिए खुद को निर्दोष बताने की जगह रिया पुलिस के सामने अपना बयान दर्ज कराएं और यही उनके हक में होगा. पांडेय ने कहा, 'रिया को अपना पक्ष रखना चाहिए. हम उनसे कोई दुश्मनी नहीं है लेकिन अगर वह इसी तरह भागती रहीं तो फिर उनके लिए मुश्किल हालात हो जाएंगे. मैं यकीन दिलाता हूं कि बिहार पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है और जिस दिन हमे उनके खिलाफ सबूत मिल जाएगा, हम उन्हें पाताल से भी खोज निकालेंगे. बिहार पुलिस इस काम में पूरी तरह सक्षम है.'

यह भी पढ़ेंः पंजाब जहरीली शराब त्रासदी: अब तक 86 मौतें, 6 पुलिसकर्मी और 7 अधिकारी निलंबित

आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला है दर्ज
उल्लेखनीय है कि सुशांत के पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर पटना के राजीवनगर थाना में एक मामला दर्ज करवाया है. मामला दर्ज होने के बाद बिहार पुलिस मुंबई पहुंचकर मामले की जांच प्रारंभ कर दी है.

First Published : 02 Aug 2020, 12:41:51 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×