News Nation Logo

IPL डोपिंग के लिए BCCI और NADA ने बनाया मास्टर प्लान

खेल के किसी भी फॉर्मेट को देख ले तो उसमें डोपिंग डंक कभी ना कभी सामने आ जाता है. ऐसे में आईपीएल को साफ रखने के लिए बीसीसीआई ने नाडा के साथ मिलकर क्रिकेट की इस सबसे बड़ी लगी के लिए मास्टर प्लान तैयार किया है.

Sports Desk | Edited By : Ankit Pramod | Updated on: 25 Aug 2020, 02:28:49 PM
IPL

आईपीएल (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

आईपीएल (IPL) की उल्टी गिनती शुरु हो गई है. बीसीसीआई (BCCI) द्वारा खिलाड़ियों और स्टाफ मेंबर के लिए कड़े नियम बनाए गए हैं जिसका पालन हर खिलाड़ी को किसी भी हाल में करना होगा. खेल के किसी भी फॉर्मेट को देख ले तो उसमें डोपिंग डंक कभी ना कभी सामने आ जाता है. ऐसे में आईपीएल को साफ रखने के लिए बीसीसीआई ने नाडा (NADA) के साथ मिलकर क्रिकेट की इस सबसे बड़ी लगी के लिए मास्टर प्लान तैयार किया है.

ये भी पढ़ें: ‘मांकड़िंग’ शब्द का अर्थ नकारात्मक है, गेंदबाजों की गलती नहीं होती : कार्तिक

आईपीएल 13 के लिए नाडा ने बीसीसीआई के साथ मिलकर एंटी डोपिंग प्लान बनाया है. जानकारी सामने आई है कि इस बार 50 बड़े खिलाड़ियों को सैंपल नाडा की ओर से लिए जाएंगे. हालांकि पिछले साल आईपीएल के मुकाबले सैंपलों की गिनती इस बार कम हो गई है. पहले 100 से 120 के बीच सैंपल लिए जाते थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक नाडा की तीन सैंपलिंग टीम को अलग अलग हिस्सों में यूएई भेजा जाएगा. इसी के साथ पूरे आईपीएल में नाडा की तरफ से पांच डोप कंट्रोल स्टेथन होंगे. तीन डोप कंट्रोल स्टेशन अबू धाबी, शारजाह और दुबई में होंगे जहां आईपीएल के सभी मैच होने वाला हैं. तीनों सेंटर्स पर सैंपलिंग होगी, जबकि दो कंट्रोल स्टेशन ICC क्रिकेट अकादमी में होंगे.

ये भी पढ़ें: विराट कोहली से किया चहल ने मजाक, बोली ये बड़ी बात

आईपीएल के दौरान विराट कोहली, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धोनी के अलावा बड़े क्रिकेटर्स की लिस्ट में शामिल क्रिकेटर्स की सैंपलिंग को प्रैफरेंस दी जाएगी. बता दें कि बीसीसीआई आईपीएल के दौरान सैंपलिंग, रहने और ट्रेवल का खर्च उठाने वाला है जबकि नाडा को सिर्फ यूएई पहुंचने के लिए खर्चा करना होगा. इसके अलावा ब्लैड सैंपल भी लिया जा सकता है. हालांकि अगर किसी खिलाड़ी का ब्लैड सैंपल मांगा जाता है जो नाडा सैंपल लेगी.

ये भी पढ़ें: सुरेश रैना को आई सुशांत की याद, देखें वीडियो

नाडा के महानिदेशक नवीन अग्रवाल के मुताबिक सितंबर के पहले हफ्ते में पहली टीम को यूएई भेजा जाएगा, इस पूरे अभियान में यूएई एंटी डोपिंग एजेंसी भी साथ देगी. यहां से जाने वाली टीमों को सारी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद बायो सिक्योर बबल में एंट्री मिलेगी. टीम के सदस्यों को सात दिनों के क्वारंटीन के अलावा एक, तीन और छह दिनों में कोविड-19 के टेस्ट से गुजरना होगा. सभी कोविड टेस्ट नेगेटिव आने के बाद ही सदस्यों को बायो बबल में प्रवेश की इजाजत होगी.आईपीएल के लिए सभी टीम्स यूएई पहुंच गई हैं और इस वक्त क्वारंटीन में है. खिलाड़ियों को कुछ दिनों के लिए कमरों में रखा गया है. हालांकि सभी खिलाड़ी अपनी पिटनेस पर ध्यान दे हैं, कुछ दिनों बाद सभी को कोविड टेस्ट होने वाले है जिसके बाद उन्हें प्रैक्टिस करने की अनुमति मिल जाएगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 25 Aug 2020, 01:14:27 PM

For all the Latest Sports News, Indian Premier League News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Dream 11 IPL BCCI