News Nation Logo

TOP 5 Sports News : खुल रहे हैं खेल के दरवाजे, पूरे दिन की सबसे बड़ी खबरें

लॉकडाउन 4.0 में सरकार की ओर से स्टेडियम खोलने की परमीशन दे दी गई है. तो क्या भारतीय टीम के खिलाड़ी प्रैक्टिस करने के लिए मैदान में उतर सकते हैं.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 18 May 2020, 04:07:15 PM
ball

पूरे दिन की सबसे बड़ी खबरें (Photo Credit: gettyimages)

New Delhi:

लॉकडाउन 4.0 में सरकार की ओर से स्टेडियम खोलने की परमीशन दे दी गई है. तो क्या भारतीय टीम के खिलाड़ी प्रैक्टिस करने के लिए मैदान में उतर सकते हैं. अगर आपको ऐसा लगता है तो कुछ देर के लिए ठहर जाइए. उधर कोरोना वायरस का कहर अभी न तो खत्म हुआ है और न ही आने वाले कुछ महीने इसके खत्म होने की संभावना है. लेकिन पिछले करीब दो महीने से बंद क्रिकेट अब धीरे धीरे ही सही फिर से शुरू होने जा रहा है. भारत के पूर्व बल्लेबाज और सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज सिंह को लगता है कि वह कोचिंग के बजाय लिमिटेड ओवरों के क्रिकेट अपने अनुभव के कारण सलाहकार की भूमिका बेहतर तरीके से निभा सकते हैं. इन सारी खबरों को जानने के लिए पढ़ें ये खबर.

1. खेल परिसर और स्टेडियम खोलने की परमीशन मिलने के बावजूद बीसीसीआई की अपने अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए ट्रेनिंग शिविर आयोजन करने की कोई योजना नहीं है, लेकिन लॉकडाउन के चौथे चरण में वह राज्य संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर अभ्यास शुरू करेगा. बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने बताया कि विमान सेवा और लोगों की आवाजाही पर 31 मई तक जारी पाबंदियों को देखते हुए बीसीसीआई अपने अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए कौशल आधारित ट्रेनिंग शिविर के आयोजन के लिए और इंतजार करेगा. हालांकि स्थानीय स्तर पर ट्रेनिंग के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं. अरुण धूमल ने कहा, इस बीच बीसीसीआई राज्य स्तर पर दिशानिर्देशों का अध्ययन करेगा और राज्य संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर कौशल आधारित ट्रेनिंग कार्यक्रम का खाका तैयार करेगा.
पूरी खबर के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : लॉकडाउन 4.0 : स्टेडियम खुलेंगे, लेकिन खिलाड़ियों पर BCCI का ये है फैसला

2. कोरोना वायरस का कहर अभी न तो खत्म हुआ है और न ही आने वाले कुछ महीने इसके खत्म होने की संभावना है. लेकिन पिछले करीब दो महीने से बंद क्रिकेट अब धीरे धीरे ही सही फिर से शुरू होने जा रहा है. आने वाले दो तीन महीने में जो सीरीज हैं, उनको लेकर अब अंतिम फैसले होने लगे हैं. अब पता चला है कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम अब इंग्लैंड का दौरा करेगी. इस दौरे के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड तैयार हो गया है, लेकिन खिलाड़ियों को इसमें जाना है कि नहीं, यह उन ही निर्भर होगा. पीसीबी कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप झेल रहे इंग्लैंड का टेस्ट और टी20 दौरा करने को राजी हो गया है, लेकिन अगर इस घातक बीमारी को लेकर खिलाड़ियों को कोई आशंका होती है तो उन्हें दौरे पर जाने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा.
पूरी खबर के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : क्रिकेट की होगी वापसी, जुलाई में इंग्लैंड जाएगी पाकिस्तानी टीम, लेकिन खिलाड़ी

3. भारत के पूर्व बल्लेबाज और सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज सिंह को लगता है कि वह कोचिंग के बजाय लिमिटेड ओवरों के क्रिकेट अपने अनुभव के कारण सलाहकार की भूमिका बेहतर तरीके से निभा सकते हैं. युवराज सिंह केविन पीटरसन के साथ इंस्टाग्राम पर बातचीत में कहा कि वह कमेंट्री की जगह कोचिंग और मेंटरिंग को तरजीह देना चाहेंगे. युवराज सिंह ने कहा, मैं शायद कोचिंग शुरुआत करूंगा. मैं कॉमेंट्री करने से ज्यादा कोचिंग के लिए उत्सुक हूं. भारत को टी20 विश्व कप 2007 और एकदिवसीय विश्व कप 2011 में चैम्पियन बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले युवराज ने कहा कि वह मध्यक्रम की बल्लेबाज के मानसिक पहलुओं पर युवाओं से बात कर सकते हैं.
पूरी खबर के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : युवराज सिंह ने बताया अब क्या करेंगे फैसला, कोचिंग या फिर सलाहकार

4. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक बार फिर सचिन तेंदुलकर के प्रति अपनी दीवानगी जाहिर की है और भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान सुनील छेत्री के साथ रविवार को इंस्टाग्राम पर सचिन तेंदुलकर को लेकर बात की. दोनों ने कई चीजों पर बात की और सचिन का जिक्र रैपिड फायर राउंड में आया. विराट कोहली को हमेशा सचिन तेंदुलकर के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाता है. उन्होंने सचिन तेंदुलकर की 1998 में शारजाह में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई उस पारी का जिक्र किया जिसे डेजर्ट स्ट्रोम के नाम से जाना जाता है. सुनील छेत्री ने विराट कोहली से पूछा, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ऐसी पारी जो आप खेलना चाहते थे?. विराट कोहली ने बिना समय गंवाए जवाब दिया, 1998 डेजर्ट स्ट्रोम. छेत्री ने कहा, कौन सी, सेमीफाइनल में या फाइनल में? विराट कोहली कोहली ने कहा, जिस पारी से हम फाइनल में पहुंचे थे.
पूरी खबर के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : सचिन तेंदुलकर की तरह डेजर्ट स्ट्रोम पारी को खेलना चाहते हैं कप्तान विराट कोहली

5. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान यूनिस खान का मानना है कि विराट कोहली और बाबर आजम की तुलना कम से कम पांच साल बाद होनी चाहिए, क्योंकि भारतीय कप्तान ने ‘हर तरह की परिस्थितियों’ में खुद को साबित किया है जबकि पाकिस्तान के सीमित ओवरों के कप्तान को ऐसा करना है. टेस्ट क्रिकेट में पाकिस्तान के सबसे सफल बल्लेबाज यूनिस ने कहा, विराट कोहली बाबर से कहीं अधिक अनुभवी है. उसके पास शीर्ष स्तर का क्रिकेट खेलने का कम से कम पांच साल का अधिक अनुभव है और वह अपने करियर के शीर्ष पर है.
पूरी खबर के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : विराट कोहली और बाबर आजम की नहीं करनी चाहिए तुलना, पूर्व कप्तान ने कही ये बड़ी बात

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 18 May 2020, 04:07:15 PM