News Nation Logo

मुरलीधरन का धोनी की कप्तानी पर खुलासा, कहीं ये बड़ी बात

आईपीएल का रोमांच कुछ दिनों बाद फैंस के सामने होगा. अब क्रिकेट के महान स्पिनर्स में से एक और चेन्नई सुपरकिंग्स के पूर्व मेंबर मुथैया मुरलीधरन ने एम एस धोनी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है.

Sports Desk | Edited By : Ankit Pramod | Updated on: 10 Aug 2020, 12:19:10 PM
Ms Dhoni

एम एस धोनी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

आईपीएल (IPL) का रोमांच कुछ दिनों बाद फैंस के सामने होगा. कोरोना वायरस (Covid) के कारण वर्ल्ड की बेस्ट लीग को भारत की जगह यूएई (UAE) में किया जा रहा है. अनुमान ये लगाया जा रहा है कि इस महीने के तीसरे हफ्ते में सभी टीम यूएई रवाना हो जाएगी. जैसा कि आईपीएल का पूरा शेड्यूल सामने आ चुका है और ये लीग 19 सितंबर से 10 नवंबर तक मुकाबले यूएई में होने वाले है. पहला मैच मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच होने वाला है. अब क्रिकेट के महान स्पिनर्स में से एक और चेन्नई सुपरकिंग्स के पूर्व मेंबर मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan)  ने एम एस धोनी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है.

यह भी पढ़ें ः ENGvPAK : पाकिस्‍तान के खिलाफ सीरीज से बेन स्‍टोक्‍स बाहर, जानिए क्‍यों

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले श्रीलंका के पूर्व दिग्गज गेंदबाज मुरलीधरन ने भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी की तारीफ की है. मुरलीधरन ने धोनी को एक अच्छा कप्तान बताया है. एस एस धोनी के लिए आगे उन्होंने कहा कि धोनी की सबसे अच्छा बात ये कि वो गेंदबाज पर विश्वास करते हैं और उनके हिसाब से गेंदबाजी करने का पूरा मौका देते हैं.

यह भी पढ़ें ः एमएस धोनी संग दिखे सुरेश रैना, बोले- हर पल आईपीएल का इंतजार

टीम इंडिया के खिलाड़ी आर अश्विन के साथ लाइव चैट के दौरान मुथैया मुरलीधरन ने बताया कि जब साल 2007 में भारत ने टी-20 वर्ल्ड कप को जीता था तब धोनी युवा कप्तान थे. उन्होंने बताया कि अगर गेंदबाज अच्छा काम नहीं कर पा रहा हो तो वो उसको खुद मैदान पर फील्डिंग सेट करने का मौका देते थे. आईपीएल में धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेल चुके मुरलीधरन ने ये भी बताया कि अगर किसी गेंदबाज को छक्के पड़ जाता था तो वो गेंदबाज का हौसला बढ़ाने के लिए ताली तक बजाते थे.

ये भी पढ़ें-धोनी, कोहली और रोहित का घर में होगा कोरोना टेस्ट!

मुरली ने बताया कि धोनी ऐसा क्यों करते थे, उनके मुताबिक छक्का लगने के बाद धोनी की ताली गेंदबाजों को ये समझाती थी कि उन्होंने अच्छी गेंद डाली थी और बल्लेबाज ने अपने हिसाब से अच्छा शॉट लगाकर गेंद को बाहर पहुंचाया है. इसी के साथ ये भी बताया कि वो गेंदबाजों को समझाने के लिए अकेले ही जाते थे और बताते थे कि उन्हें अब क्या करना है. मुरली ने बताया कि धोनी के पास समझाने की कला था जिसके कारण वो इतने सफल हो पाए हैं. पूर्व दिग्गज गेंदबाज मुरलीधरन, धोनी की तारीफ में यही नहीं रुके उनके मुताबिक धोनी हमेशा से अपने सीनियर्स की राय लेना पसंद करते थे और वो शांति के साथ आगे की सोचते थे, इन्हीं कारणों से वो एक लीडर बने. बता दें कि 2008 से 2010 के बीच आइपीएल में धोनी की कप्तानी में खेलते हुए मुरलीधरन ने 40 विकेट अपने नाम किए हैं.

ये भी पढ़ें- भारत में खेला जाएगा टी20 विश्व कप 2021, ऑस्ट्रेलिया करेगा टी20 विश्व कप 2022 की मेजबानी

एम एस धोनी को पिछले साल विश्व कप के सेमी फाइनल में आखिरी बार देखा गया था जिसमें भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. उसके बाद से धोनी मैदान से दूर हो गए थे. फरवरी के दौरान आईपीएल की प्रैक्टिस के वक्त धोनी को फिर से बल्ले के साथ देखा गया था. कोरोना वायरस के कारण मार्च में होने वाले आईपीएल को स्थगित कर दिया गया था. धोनी के फैंस अब उन्हें 19 सितंबर को होने वाले आईपीएल 2020 के पहले मैच में मैदान पर उतारते हुए देखेंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 10 Aug 2020, 12:16:36 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.