News Nation Logo
मुंबई भी पहुंचा ओमीक्रॉन वैरिएंट, एक और मरीज मिला प्रियंका गांधी का बड़ा आरोप- UP TET घोटाले में दाल में कुछ काला ही नहीं, पूरी दाल ही काली है BJP योगी के नेतृत्व में लड़ेगी यूपी चुनाव: अमित शाहRead More » IPL 2022 : RCB के साथ फिर जुड़ेंगे एबी डिविलियर्स, विराट कोहली के साथ...!Read More » नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर की भारत-पाक बार्डर खोलने की मांग ओमीक्रॉन को लेकर केंद्र की राज्यों को चिट्ठी, Omicron पर ट्रेसिंग और टेस्टिंग बढ़ाना जरूरी MSP गारंटी पर कमेटी के लिए 5 नामों पर बनी सहमति PM मोदी ने देवभूमि को किया प्रणाम, पढ़ी ये कविता 'जहां पर्वत गर्व सिखाते हैं...'Read More » ओमीक्रॉन खौफ के बीच टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका दौरा टला न्यूजीलैंड में शामिल मुंबई के लड़के एजाज पटेल ने किया कमाल. लिए 10 विकेट

टीम इंडिया में लगातार डेब्‍यू पर डेब्‍यू, जानिए किसका कैसा रहा पहला मैच 

भारत का अपने खिलाड़ियों को डेब्‍यू कराने का फैसला एक बार फिर से उस समय सही साबित हुआ, जब आलराउंडर क्रुणाल पांड्या ने मंगलवार को इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे पहले वनडे और अपने डेब्यू मुकाबले में अब तक का सबसे तेज अर्धशतक बना डाला.

IANS | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 24 Mar 2021, 12:09:55 PM
Suryakumar Yadav and Ishan Kishan

Suryakumar Yadav and Ishan Kishan (Photo Credit: BCCI Twitter)

पुणे :

भारत का अपने खिलाड़ियों को डेब्‍यू कराने का फैसला एक बार फिर से उस समय सही साबित हुआ, जब आलराउंडर क्रुणाल पांड्या ने मंगलवार महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे पहले वनडे और अपने डेब्यू मुकाबले में अब तक का सबसे तेज अर्धशतक बना डाला. पिछले कुछ महीनों के दौरान क्रूणाल पांड्या सहित कई ऐसे क्रिकेटरों ने भारत के लिए डेब्‍यू किया है और वे अपने डेब्यू मैच में ही अपना प्रभाव जमाने में सफल रहे हैं. वाशिंगटन सुंदर ने ब्रिस्बेन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट में डेब्यू किया था, जहां उन्होंने चार विकेट लेने के अलावा पहली पारी में 62 और दूसरी पारी में 22 रन का स्कोर बनाया था.

यह भी पढ़ें : IND vs ENG : टीम इंडिया की जीत के 5 बड़े कारण, जानिए यहां 

वाशिंगटन सुंदर की उस 62 रन की पारी मैच पलटने वाली पारी साबित हुई थी, जब उन्होंने केवल अपना दूसरा टेस्ट खेल रहे शार्दुल ठाकुर के साथ शानदार साझेदारी की थी और सात विकेट भी लिए थे. उनके अलावा टी नटराजन ने आस्ट्रेलिया में तीनों फॉर्मेट में भारत के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. नटराजन ने ब्रिस्बेन में खेले गए अपने पहले टेस्ट मैच में तीन विकेट लिए थे. नटराजन से पहले, आस्ट्रेलिया दौरे पर भारत के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले खिलाड़ियों में तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज, सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल और तेज गेंदबाज नवदीप सैनी शामिल हैं. ये सभी उससे पहले सीमित ओवरों के क्रिकेट खेल चुके थे.

यह भी पढ़ें :  INDvsENG ODI Final Report : पहले वन डे में 66 रन से जीती टीम इंडिया, जानिए पूरा हाल 

मोहम्‍मद सिराज और गिल ने भारत को टेस्ट जिताने में अहम योगदान दिया था. उस सीरीज में सिराज ने भारत के लिए अब तक सबसे ज्यादा ओवर फेंकने का रिकॉर्ड बनाया था और साथ ही उन्होंने सबसे ज्यादा 13 विकेट भी लिए थे. साथ ही गिल ने दो अर्धशतकों की मदद से 51.8 की औसत से 259 रन बनाए थे. भारत ने घर में इंग्लैंड के खिलाफ हार के साथ टेस्ट सीरीज की शुरुआत की थी. लेकिन इसके बाद अक्षर पटेल ने टेस्ट में डेब्यू किया और फिर उन्होंने अंतिम तीन टेस्ट मैचों में 27 विकेट लेकर भारत को 3-1 टेस्ट सीरीज में जिताने में अहम योगदान दिया था.

यह भी पढ़ें : VIDEO : IPL 2021 का एंथम जारी, इंडिया का अपना मंत्रा, क्‍या आपने देखा वीडियो 

इसके बाद इंग्लैंड के साथ ही टी20 सीरीज में ईशान किशन और सूर्यकुमार यादव ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू किया. ईशान और सूर्यकुमार, दोनों ने अपने डेब्यू मैच में अर्धशतक जमाया. सूर्यकुमार ने दूसरे टी20 में 31 गेंदों पर 57 रन बनाए क्योंकि पहले मैच में उनकी बल्लेबाजी करने की बारी नहीं आई थी. ईशान ने पहले टी20 में ओपनिंग करते हुए 32 गेंदों पर 56 रनों की पारी खेली थी. मंगलवार को ही इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मैच में क्रुणाल पांड्या और तेज गेंदबाज एम प्रसिद्ध कृष्णा ने वनडे में पदार्पण किया. क्रुणाल ने जहां अर्धशतक लगाया तो वहीं, कृष्णा ने पहले दो ओवर में दो विकेट लिए.

यह भी पढ़ें : पहली बार वन डे में साथ खेले पांड्या बंधु, जानिए और कौन भारतीय बंधु साथ खेल चुके हैं

2000 की शुरुआत में भी सौरव गांगुली की कप्तानी में कई खिलाड़ियों ने पदार्पण किया और भारत की एक मजबूत कोर टीम बनी, जिसने बाद में जाकर 2007 टी20 विश्व कप और फिर 2011 में विश्व कप जीता. जहीर खान और युवराज सिंह, दोनों ने चैंपियंस ट्रॉफ के प्री क्वार्टर फाइनल में केन्या के खिलाफ पदार्पण किया था. हरभजन ने 1998 में वनडे और टेस्ट में पदार्पण किया था. उनसे पहले राहुल द्रविड़ और गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट में डेब्यू किया था.

First Published : 24 Mar 2021, 09:40:26 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

IND Vs ENG Team India BCCI