News Nation Logo
Banner

कप्‍तान विराट कोहली ने 2014 एडिलेड टेस्ट को किया याद, जानें क्‍यों

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को 2014 में एडिलेड में खेले गए टेस्ट मैच को याद किया है, जो उनके मुताबिक भारतीय क्रिकेट के लिए हमेशा एक मील का पत्थर रहेगा.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 30 Jun 2020, 03:43:56 PM
virat rcb

विराट कोहली Virat Kohli (Photo Credit: फाइल फोटो)

New Delhi:

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने मंगलवार को 2014 में एडिलेड (India vs Australia) में खेले गए टेस्ट मैच को याद किया है, जो उनके मुताबिक भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) के लिए हमेशा एक मील का पत्थर रहेगा. 9-13 दिसंबर को खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने माइकल क्लार्क (Michael Clarke) की कप्तानी वाली टीम को कड़ी चुनौती दी थी. भारत हालांकि विराट कोहली की ओर से दोनों पारियों में लगाए गए शतकों के बाद भी मैच नहीं जीत पाया था. विराट कोहली ने अपने इंस्टाग्राम (Virat Kohli Instagram) पर एक फोटो पोस्ट करते हुए लिखा है, हम आज जो टीम हैं उस सफर का यह टेस्ट काफी अहम हिस्सा रहा है. एडिलेड में 2014 में खेले गए टेस्ट मैच में दोनों टीमों की तरफ से काफी भावनाएं जुड़ी थीं और जिन लोगों ने देखा था उनके लिए भी यह शानदार था.

यह भी पढ़ें ः पाकिस्तान के छह क्रिकेटर कोरोना जांच में निगेटिव, जानिए उनके नाम

विराट कोहली ने कहा कि हालांकि हम जीत नहीं पाए थे लेकिन इसने हमें सिखाया था कि अगर हम अपना सब कुछ लगा देंगे तो कुछ भी संभव है क्योंकि हम कुछ ऐसा करने के लिए समर्पित हैं जिसकी शुरुआत काफी मुश्किल है, लेकिन हमने इस मैच को लगभग जीत ही लिया था. हम सभी इसे लेकर समर्पित थे. उन्होंने लिखा कि टेस्ट टीम के तौर पर यह हमारे सफर का मील का पत्थर रहेगा. आस्ट्रेलिया ने उस मैच में पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 517 रनों पर घोषित कर दी थी. 

यह भी पढ़ें ः पहली बार इंग्‍लैंड के कप्‍तान बनेंगे बेन स्‍टोक्‍स, जानिए क्‍या बोले

उसके लिए डेविड वार्नर, माइकल क्लार्क, स्टीव स्मिथ ने शतक बनाए थे. भारत ने अपनी पहली पारी में मजबूती से जवाब दिया था और कोहली के 115 रनों की मदद से 444 रन बनाए थे. दूसरी पारी में मेजबान टीम ने पांच विकेट के नुकसान पर 290 रन बना पारी घोषित कर दी थी और भारत को 364 रनों का लक्ष्य दिया था. कोहली ने दूसरी पारी में 141 रन बनाए थे और उनके अलावा मुरली विजय ने 99 रनों की पारी खेली थी, लेकिन इन दोनों के प्रयास भारत को जीत नहीं दिला पाए थे क्योंकि टीम 315 रनों पर ऑल आउट हो गई थी.

यह भी पढ़ें ः सौरव गांगुली ने टीम इंडिया की मानसिकता बदली, धोनी आगे लेकर गए, जानिए किसने कही ये बात

इससे पहले हाल ही में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट को शीर्ष प्रारूप करार देते हुए कहा है कि वह भाग्यशाली हैं कि भारत की ओर से पांच दिवसीय प्रारूप में खेल पाए. टेस्ट क्रिकेट में भारत के सबसे सफल कप्तान कोहली ने ट्वीट किया करते हुए लिखा था कि कुछ भी चीज सफेद कपड़ों में कड़ा मैच खेलने के करीब नहीं है. मैं भाग्यशाली हूं कि भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेल पाया. आपको बता दें कि विराट कोहली ने 55 टेस्ट में भारत की कप्तानी की है जिसमें टीम ने 33 मैचों में जीत दर्ज की जबकि 12 में उसे हार का सामना करना पड़ा. भारत की ओर से विराट कोहली ने अब तक 86 टेस्ट 53.62 की औसत से 7240 रन बनाए हैं जिसमें 27 शतक और 22 अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने इसके अलावा 248 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 43 शतक और 58 अर्धशतक की मदद से 11867 रन बनाए हैं जबकि 82 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उनके नाम पर 2794 रन दर्ज हैं. कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया भर में क्रिकेट प्रतियोगिताएं ठप पड़ी हैं और भारत को भी अपना अगला टेस्ट दिसंबर से पहले नहीं खेलना है जब टीम चार टेस्ट की सीरीज के लिए आस्ट्रेलिया का दौरा करेगी.

(इनपुट एजेंसी)

First Published : 30 Jun 2020, 03:38:08 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×