News Nation Logo

चीन के मार्स रोवर ने भेजी पहली सेल्फी, 'टूरिंग' ग्रुप फोटो

टूरिंग ग्रुप फोटो' की तस्वीर में रोवर को लैंडिंग प्लेटफॉर्म के दक्षिण में लगभग 10 मीटर की दूरी पर यात्रा करते हुए दिखाया गया है, वाहन के नीचे स्थापित अलग कैमरा जारी किया गया है.

IANS | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 12 Jun 2021, 04:11:01 PM
China Mars Rover

China Mars Rover (Photo Credit: IANS )

highlights

  • अलग कैमरे ने रोवर की गति और रोवर और लैंडिंग प्लेटफॉर्म की तस्वीरें लीं
  • झुरोंग ने मंगल ग्रह से पहला फुटेज भी भेजा था, जिसमें दो तस्वीरें और दो वीडियो थे

बीजिंग :

चीन (China) ने मंगल ग्रह पर अपने झुरोंग रोवर (Zhurong Rover) से नई तस्वारें भेजी है, जिसमें उसके लैंडिंग प्लेटफॉर्म के बगल में रोवर (China Mars Rover) की एक खूबसूरत सेल्फी भी शामिल है. रोवर की वैज्ञानिक इमेज का पहला बैच, लैंडिंग साइट का मनोरम दृश्य (Rocky Martian Surface), मंगल की स्थलाकृति को चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन (The China National Space Administration-CNSA) ने शुक्रवार को 'टूर ग्रुप फोटोज' कहते हुए जारी किया. इसके साथ ही चीन लाल ग्रह पर रोवर को उतारने और संचालित करने वाला दूसरा देश बन गया. 

यह भी पढ़ें: वायरल इंफेक्शन वाले मरीजों की प्रतिक्रिया को लेकर AI ने की भविष्यवाणी

लैंडिंग प्लेटफॉर्म के दक्षिण में लगभग 10 मीटर की दूरी पर यात्रा करते हुए दिखाया गया
टूरिंग ग्रुप फोटो' की तस्वीर में रोवर को लैंडिंग प्लेटफॉर्म के दक्षिण में लगभग 10 मीटर की दूरी पर यात्रा करते हुए दिखाया गया है, वाहन के नीचे स्थापित अलग कैमरा जारी किया गया है. चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन ने एक बयान में कहा कि अलग कैमरे ने रोवर की गति और रोवर और लैंडिंग प्लेटफॉर्म की तस्वीरें लीं. छवि वायरलेस सिग्नल के माध्यम से रोवर को प्रेषित की जाती है और फिर रोवर द्वारा ऑर्बिटर के माध्यम से वापस जमीन पर रिले की जाती है. 

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस: सुबह या शाम, जानिए कब ज्यादा असरदार होती है वैक्सीन?

अनुमानित जीवनकाल कम से कम 90 मंगल ग्रह दिवस
चीन ने 15 मई को पहली बार पृथ्वी के अलावा किसी अन्य ग्रह पर जांच की. छह पहियों वाला सौर ऊर्जा से चलने वाला झूरोंग रोवर नीले रंग की तितली जैसा दिखता है और इसका वजन 240 किलोग्राम है.

यह भी पढ़ें: पहली बार सामने आया इंसानी दिमाग का थ्रीडी नक्शा, होंगे ये फायदे

इसका अनुमानित जीवनकाल कम से कम 90 मंगल ग्रह दिवस (पृथ्वी पर लगभग तीन महीने) है. झुरोंग ने मंगल ग्रह से पहला फुटेज भी भेजा था, जिसमें दो तस्वीरें और दो वीडियो थे.

यह भी पढ़ें: क्या कोरोना वैक्सीन लेने से प्लेटलेट्स में आती है गिरावट? नई स्टडी में हुआ यह खुलासा

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Jun 2021, 04:11:01 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.