News Nation Logo

बोस के वंशजों ने फोर्ट विलियम किले का नाम नेताजी के नाम पर रखने की मांग की

भारत की आजादी के आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार के सदस्यों ने मंगलवार को कोलकाता में पूर्वी कमान मुख्यालय फोर्ट विलियम का नाम नेताजी के नाम के साथ बदलने की मांग की.

IANS | Updated on: 18 Aug 2020, 06:03:07 PM
Netaji Subhash Chandra Bose

नेताजी सुभाष चंद्र बोस। (Photo Credit: फाइल फोटो)

कोलकाता:

भारत की आजादी के आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार के सदस्यों ने मंगलवार को कोलकाता में पूर्वी कमान मुख्यालय फोर्ट विलियम का नाम नेताजी के नाम के साथ बदलने की मांग की. नेताजी के परपोते और कार्यकर्ता इंद्रनील मित्रा ने आईएएनएस को बताया "उनके लापता होने के आधिकारिक दिन पर, हम नेताजी के नाम से फोर्ट विलियम का नाम बदलने की मांग करते हैं. यह उनके लिए सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि होगी, जहां उन्होंने फरवरी 1916 से चार महीने के सैन्य हथियारों के प्रशिक्षण से गुजरना शुरू किया था, जब वह सिर्फ 20 साल के थे."

यह भी पढ़ें- राजस्थान में तीन सदस्य कमेटी सक्रिय, अजय माकन बोले- दोनों खेमों के MLA से करेंगे बात

मित्रा ने कहा कि बहुत कम भारतीय जानते हैं कि नेताजी ने फोर्ट विलियम में चार महीने तक कठोर सैन्य प्रशिक्षण लिया था. उन्होंने कहा, "हम परिवार के सदस्य चाहते हैं कि भारत सरकार मांग पर विचार करे और नेताजी के नाम पर भारतीय सेना के छह ऑपरेशनल कमांडों में से एक का नाम बदलने की दिशा में आवश्यक कदम उठाए."

उन्होंने कहा कि "अंग्रेज चले गए, फिर भी हम इसे फोर्ट विलियम क्यों कह रहे हैं, और उनके राजा को याद कर रहे हैं."

भारतीय सेना की ऑपरेशनल पूर्वी कमान का कोलकाता स्थित फोर्ट विलियम में मुख्यालय है. कमांड की जिम्मेदारी का क्षेत्र बंगाल से सिक्किम और पूरे पूर्वोत्तर भारत तक फैला हुआ है.

यह भी पढ़ें- भारत के साथ संबंधों को US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कही ये बड़ी बात

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्नपोती राजश्री चौधरी ने कहा, "नेताजी का 89-बंगाल रेजिमेंट के एक हिस्से के रूप में फोर्ट विलियम के साथ एक मजबूत संबंध है. जब वह कलकत्ता विश्वविद्यालय के तहत स्कॉटिश चर्च कॉलेज में दर्शनशास्त्र ऑनर्स के तृतीय वर्ष के छात्र थे. वह उस समय विश्वविद्यालय कैडेट्स के प्रशिक्षु (ट्रेनी) सदस्य थे."

उन्होंने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा (एबीएचएम) फोर्ट विलियम का नाम बदलकर नेताजी सुभाष किला रखने की मांग करेगी.

उन्होंने कहा कि नेताजी की परपोती (भतीजी) और अखिल भारत हिंदू महासभा (एबीएचएम) की राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर यह पहला सम्मान होगा.

चौधरी ने कहा कि यह नेताजी के लिए एक आधिकारिक सम्मान होगा, जो प्रत्येक भारतीय के लिए 'देशभक्ति के प्रतीक' के तौर पर है. उन्होंने कहा कि वह प्रस्ताव पर विचार करने और फोर्ट विलियम का नाम नेताजी के नाम पर बदलने के अनुरोध के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र भी लिखेंगे.

ब्रिटिश भारत के बंगाल प्रेसीडेंसी के शुरूआती वर्षो के दौरान निर्मित, फोर्ट विलियम कोलकाता में हेस्टिंग्स के पास स्थित एक किला है. यह हुगली नदी के पूर्वी तट पर स्थित है, जिसका नाम किंग विलियम तृतीय के नाम पर रखा गया है. यह किला 70.9 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है.

यह भी पढ़ें- ईशांत शर्मा सहित 29 खिलाड़ियों की अर्जुन पुरस्कार के लिये सिफारिश

नेताजी के जीवनकाल में गहरी रूचि रखने वाले शोधकर्ता एवं लेखक डॉ. जयंत चौधरी ने कहा कि नेताजी के नाम पर फोर्ट विलियम का नाम रखना बेहद प्रासंगिक है, क्योंकि उन्होंने वहां एक सैन्य प्रशिक्षु के रूप में प्रशिक्षण प्राप्त किया था और बाद में वह भारतीय राष्ट्रीय सेना (आईएनए) के सुप्रीम कमांडर बनें.

चौधरी ने कहा कि अगर केंद्र नेताजी के नाम पर फोर्ट विलियम का नाम बदलने के मुद्दे पर विचार करता है तो यह नेताजी के लिए एक बड़ा सम्मान होगा.

चौधरी ने आगे कहा कि कोलकाता के किले का नाम बदलने के प्रस्ताव के साथ ही वह यह भी चाहते हैं कि भारतीय सेना का नाम बदलकर भारतीय राष्ट्रीय सेना (इंडियन नेशनल आर्मी) कर दिया जाए.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 Aug 2020, 06:03:07 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.