News Nation Logo

एक्टर आमिर खान ने मिलाया भारत के दुश्मन से हाथ, उबला सोशल मीडिया

इसके पहले आमिर खान ने बॉलीवुड के अन्य दो खान बंधुओं समेत इजरायल के राष्ट्रपति से मुलाकात करने से इंकार कर दिया था.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 17 Aug 2020, 10:19:36 AM
Aamir Khan Emine Erdogan

तुर्की की प्रथम महिला एमीन एर्दोगन के साथ आमिर खान (Photo Credit: एमीन एर्दोगन का ट्वीट.)

नई दिल्ली:

तुर्की (Turkey) की प्रथम महिला एमीन एर्दोगन (Emine Erdogan) से आमिर खान (Aamir Khan) ने मुलाकात कर बर्र के छत्ते में हाथ डाल दिया है. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के कथित सुसाइड से यूं भी अधिसंख्य लोग बॉलीवुड (Bollywood) के खान गैंग से भड़के हुए हैं, वहीं इस मुलाकात ने उन्हें खान गैंग पर हमलावर होने का नया मौका दे दिया है. गौरतलब है कि तुर्की इस समय भारत विरोधी रुख अपनाए है. यही नहीं, उसने भारत के विरोध में जाते हुए जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 हटाने पर पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान सरकार का साथ दिया. यही नहीं, तुर्की पर आरोप है कि वह कश्मीर समेत दक्षिण भारत के कई राज्यों में मुसलमानों को कट्टर बनाने के लिए फंडिंग कर रहा है.

यह भी पढ़ेंः विदेश समाचार सोमालिया में मुंबई जैसा आतंकी हमला, 17 मरे, आतंकियों से मुठभेड़ जारी

इजरायली राष्ट्रपति से मुलाकात नहीं की
आमिर खान इसके पहले भी कई बार विवादों में आ चुके हैं, लेकिन जहां तक भारतीय कूटनीति की बात है यह उनका दूसरा ऐसा कारनामा है, जिसने भारतीयों को उनके खिलाफ बोलने का मौका दिया है. इसके पहले आमिर खान ने बॉलीवुड के अन्य दो खान बंधुओं समेत इजरायल के राष्ट्रपति से मुलाकात करने से इंकार कर दिया था. उस वक्त भी सोशल मीडिया पर यही चर्चा चली थी कि बॉलीवुड के खान गैंग ने ऐसा कट्टरपंथी मुसलमानों को नाराज नहीं करने के लिए किया. इस फेर में उन्होंने भारत के मित्र देश की जरा भी परवाह नहीं की.

यह भी पढ़ेंः देश समाचार संसद भवन एनेक्सी में लगी भीषण आग, बड़ा नुकसान होने की आशंका

भारतीय मुसलमानों को कट्टर बना रहा है तुर्की
गौरतलब है कि भारत के खिलाफ जहर उगलने और मुसलमानों का मसीहा बनने की कोशिश में लगे तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी और प्रथम महिला एमीन एर्दोगन से आमिर खान ने शनिवार को मुलाकात की. इस्तांबुल के ह्यूबर मेंशन के राष्ट्रपति निवास में यह मुलाकात हुई. रिपोर्ट के अनुसार इस मुलकात का अनुरोध खुद आमिर खान ने किया था. बताते हैं कि आमिर अपने पानी फाउंडेशन के काम के बारे में एर्दोगन को जानकारी देना चाहते थे.

यह भी पढ़ेंः देश समाचार कल तक CAA विरोध पर शाहीन बाग में BJP को कोसा, अब दामन थाम लिया

पाकिस्तान का दोस्त है तुर्की
हालांकि यह समझ नहीं आ रहा कि आमिर खान ने अपने फाउंडेशन के लिए तुर्की की प्रथम महिला को ही क्यों चुना! खासकर यह जानते-बूझते कि जम्मू-कश्मीर मसले पर तुर्की न सिर्फ भारत के खिलाफ पाकिस्तान के साथ एकसुर में जहर उगल रहा है, बल्कि कश्मीर समेत केरल के मुसलमानों को कट्टरपंथ की ओर प्रेरित भी कर रहा है. यही वजह है कि भारत ने भी तुर्की को कूटनीतिक स्तर पर घेरना शुरू कर दिया है.

यह भी पढ़ेंः देश समाचार जम्मू-कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 हटने के बाद पहली बार लौटा 4G इंटरनेट

दक्षिण एशिया के मुसलमानों का रहनुमा बनने की कोशिश में तुर्की
माना जा रहा है कि तुर्की दक्षिण एशिया के मुस्लिमों का रहनुमा बनने के लिए राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन भारत विरोधी हर हथकंडा अपना रहे हैं. इस तरह वह खुद को मुस्लिम देशों के नेता के तौर पर स्थापित करना है. इन सब खबरों के बीच आमिर खान और तुर्की की प्रथम महिला की मुलाकात लोगों को खटक गई है. यही वजह है कि सोशल मीडिया पर आमिर खान को इसके लिए जबर्दस्त तरीके से ट्रोल किया जा रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 17 Aug 2020, 10:15:36 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो