News Nation Logo
Banner

NN Opinion poll राजस्थान: बीजेपी को बढ़त, लेकिन सीटों का होगा बड़ा नुकसान

बकी बार किसकी सरकार. इसी सवाल का जवाब तलाशने के लिए आपके पसंदीदा समाचार चैनल (News Nation) न्यूज नेशन (NN Opinion poll) के ओपिनियन पोल का कारवां जम्मू-कश्मीर से होते हुए हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली के बाद अब राजस्थान पहुंच चुका है.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 25 Jan 2019, 07:55:31 PM
NN Opinion poll राजस्थान: बीजेपी को बढ़त, लेकिन सीटों का होगा बड़ा नुकसान

NN Opinion poll राजस्थान: बीजेपी को बढ़त, लेकिन सीटों का होगा बड़ा नुकसान

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव-2019 (Loksabha Election-2019) की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. सत्ताधारी पार्टी बीजेपी से लेकर कांग्रेस हर मोर्चे पर कम कस कर चुनावी तैयारी में लग गई है. रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव आयोग मार्च महीने के पहले हफ्ते में चुनावी महासमर के तारीखों का ऐलान कर सकती है लेकिन उससे पहले लोगों के मन में यह सवाल उठने लगे हैं कि अबकी बार किसकी सरकार. इसी सवाल का जवाब तलाशने के लिए आपके पसंदीदा समाचार चैनल (News Nation) न्यूज नेशन (NN Opinion poll) के ओपिनियन पोल का कारवां जम्मू-कश्मीर से होते हुए हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली के बाद अब राजस्थान पहुंच चुका है.

राजस्थान में ओपिनियन पोल के जो आंकड़े सामने आए हैं वो बीजेपी के लिए थोड़ी सी मुश्किल पैदा कर सकती है, क्योंकि पिछले लोकसभा चुनाव -2014 में 25 सीट जीतने वाली बीजेपी को इस बार सीटों का नुकसान होगा. हालांकि कांग्रेस से वो आगे जरूर रहेगी. वहीं,  राजस्थान में विधानसभा चुनाव में जीत का परचम लहराने वाली कांग्रेस के लिए इस बार राहत की खबर है. पिछले चुनाव में कांग्रेस के झोली में एक भी सीट नहीं आई थी, लेकिन इस बार उसे 9 सीट मिल सकती है. 

किसी पार्टी को कितने वोट और सीट

लोकसभा 2019 में राजस्थान (25 लोकसभा सीट) में किस पार्टी को कितनी सीटें मिल सकती है ? न्यूज नेशन के विश्वसनीय ओपिनियन पोल के आंकड़ों के मुताबिक राजस्थान में 25 सीट में से 16 बीजेपी के पक्ष में जा सकती है. वहीं, कांग्रेस के खाते में 9 जीत जाने का अनुमान है. राजस्थान में अगर वोट शेयरिंग की बात करें तो यहां सत्ताधारी कांग्रेस को 35 फीसदी वोट मिलने की संभावना है, वहीं बीजेपी को 5 प्रतिशत ज्यादा यानी 40 फीसदी वोट मिल सकती है. जबकि अन्य को 10 फीसदी लोगों का वोट मिल सकता है. वहीं 15 फीसदी लोगों ने किस पार्टी को वोट देना है अपना मन अभी नहीं बनाया है.

सामान्य वर्ग के लिए 10 फीसदी आरक्षण के फैसले का बीजेपी को मिलेगा फायदा

राजस्थान की आम जनता से जब हमने पूछा कि सरकार ने गरीब सवर्णों को आरक्षण देने का जो फैसला किया है इसका चुनाव में बीजेपी को फायदा मिलेगा तो ओपिनियन पोले के आंकड़ों के मुताबिक करीब 51 प्रतिशत लोगों को मानना है कि इसका फायदा बीजेपी को मिलेगा. जबकि 35 फीसदी लोगों का मानना है कि इसका फायदा चुनाव में बीजेपी को नहीं होने वाला है. जबकि 14 प्रतिशत लोगों ने इस बाबत कुछ नहीं कहा है.

क्या राफेल मुद्दे पर राहुल के आरोपों में है दम

देश में राफेल फाइटर जेट पर कथित घोटाले का आरोप लगाने वाले राहुल गांधी के आरोपों पर जब न्यूज नेशन के ओपिनियन पोल में सवाल पूछ गया तो करीब 42 फीसदी जनता का मानना है कि राहुल के आरोपों में दम है वहीं हरियाणा के 40 फीसदी लोग राहुल के आरोपों के पक्ष में नहीं दिखे.

राजस्थान के लोगों के लिए बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा

जब न्यूज नेशल के ओपिनियन पोल में राजस्थान की जनता से सवाल पूछ गया कि इस लोकसभा चुनाव में उनके लिए सबसे बड़ा मुद्दा क्या होगा तो इसके जवाब में 15 फीसदी जनता ने कहा महंगाई उनके लिए सबसे बड़ा मुद्दा है. जबकि 12 फीसदी लोगों के लिए भ्रष्टाचार तो वहीं 16 फीसदी लोगों के लिए रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा है. वहीं करीब 7 फीसदी लोगों ने बिजली-पानी-सड़क को सबसे बड़ा मुद्दा बताया. एसटी-एससी एक्ट भी चुनाव में मुद्दा बन सकता है. करीब 6 प्रतिशत लोग इस मुद्दे को लेकर वोट दे सकते हैं. जबकि आतंकवाद का मुद्दा 5 प्रतिशत लोग प्रभावित कर सकता है. जबकि अन्य 17 प्रतिशत लोग किसी और मुद्दे को लेकर पोलिंग बूथ पर पहुंच सकते हैं. वहीं 2 प्रतिश लोगों ने किसी भी मुद्दे पर अपनी राय नहीं दी है.

राजस्थान में पीएम पद की पहली पसंद कौन ?

हिंदी क्षेत्र के तीन बड़े राज्यों में कांग्रेस को जीत मिलने के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की लोकप्रियता तेजी से बढ़ी है. इस बात की तस्दीक हमारे ओपिनियन पोल के भी आंकड़े कर रहे हैं. जब हमने राजस्थान के लोगों से पूछा कि आपके पीएम पद की पहली पसंद कौन हैं तो यहां के लोगों ने पीएम उम्मीदवार के चेहरे के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ज्यादा विश्वास जताया है. आकंड़ों के मुताबिक राज्य की 47 फीसदी जनता नरेंद्र मोदी को पीएम पद की पहली पसंद मानते हैं तो वहीं 31 फीसदी लोग राहुल गांधी को बतौर पीएम अपनी पहली पसंद मान रहे हैं. पहले की तुलना में राहुल गांधी की प्रसिद्धि बढ़ी है. पहले जब ओपिनियन पोल कराया जाता था तो मात्र 10-15 प्रतिशत लोग राहुल को बेहतर नेता मानते थे, लेकिन अब इसमें इजाफा हुआ है.

राजस्थान के लोग बीजेपी नेतृत्व वाली केंद्र की एनडीए सरकार के कामकाज से संतुष्ट हैं ?

राजस्थान में चुकी अब कांग्रेस की सरकार है, लेकिन जब लोगों से एनडीए सरकार के कामकाज के बारे में पूछा गया तो 49 प्रतिशत लोग ने कहा कि वो मोदी सरकार के कामकाज से खुश है. जबकि 37 प्रतिश लोगों ने नाराजगी जताई है. जबकि 14 प्रतिशत लोग कुछ भी कहने से इंकार किया है.

क्या आप राजस्थान की कांग्रेस सरकार के कामकाज से संतुष्ट हैं ?

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बने हुए अभी कुछ वक्त ही हुए हैं. फिर भी 52 प्रतिशत लोगों अशोक गहलोत की सरकार के कामकाज से खुश नजर आ रहे हैं. जबकि 42 प्रतिशत लोग अभी गहलोत सरकार पर भरोसा नहीं जताया है. वो अभी गहलोत सरकार के कामकाज से खुश नजर नहीं आ रहे हैं. जबकि 6 प्रतिशत जनता का मानना है कि अभी कुछ भी कहना जल्दीबाजी होगा.


क्या मोदी सरकार पाकिस्तान और चीन को दे रही है करारा जवाब

जब हमने ओपिनियन पोल में राजस्थान की जनता से पूछा कि क्या दुश्मन देश पाकिस्तान को मोदी सरकार करारा जवाब दे ही है तो राज्य की 48 फीसदी जनता इस पर संतुष्ट नजर आई. वहीं राज्य की करीब 40 फीसदी लोगों ने ओपिनियन पोल में माना कि सरकार मुंहतोड़ जवाब नहीं दे रही है. वहीं करीब 12 फीसदी जनता इस सवाल पर अपना कोई भी राय नहीं बना पाई.

राजस्थान की समस्या को बेहतर ढंग से कौन से पार्टी उठा सकती है ?

ओपिनियन पोल के तहत जब हमने राज्य की जनता से पूछा कि आपके मुद्दे को कौन सी पार्टी बेहतर ढंग से उठा सकती है तो इसके जवाब में ज्यादातर लोगों का जवाब बीजेपी के पक्ष में था. आंकड़ों के मुताबिक राज्य की 43 फीसदी जनता ने माना की बीजेपी मुद्दों को बेहतर ढंग से उठा सकती है जबकि 39 फीसदी लोगों ने माना कि उनकी समस्या को कांग्रेस ज्यादा बेहतर ढंग से उठा सकती है. जबकि अन्य पार्टियों पर 8 प्रतिशत लोगों ने विश्वास जताया है. वहीं 10 प्रतिशत लोगों ने कोई राय नहीं बनाई है.

मोदी सरकार का ध्यान विकास पर है या राजनीति पर ?

ओपिनियन पोल में जब हमने राज्य की जनता से पूछा कि आपको क्या लगता है कि मोदी सरकार का ध्यान विकास पर है या राजनीति पर तो 45 प्रतिश जनता का मानना था कि विकास पर सरकार का ध्यान है. जबकि 41 प्रतिशत लोगों ने मानना कि मोदी सरकार विकास की बजाय राजनीति पर ज्यादा ध्यान केंद्रीत कर रही है. वहीं 14 प्रतिशत लोगों ने कोई राय नहीं बनाया है.

राजस्थान ओपिनियन पोल के आंकड़ों को देखें तो इस राज्य में बीजेपी को बढ़त मिलती दिख रही है. लोगों का भरोसा बीजेपी और मोदी सरकार पर ज्यादा है. प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी अभी भी लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं. 

First Published : 25 Jan 2019, 04:30:31 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.