News Nation Logo
Banner

वरिष्ठ नागरिक पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में निवेश करके पा सकते हैं फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) से ज्यादा रिटर्न

Post Office Senior Citizen Savings Scheme (SCSS): वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में निवेश की गई पूंजी पर फिलहाल सालाना 7.4 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. हालांकि निवेशक को इस ब्याज के ऊपर टैक्स अदा करना पड़ता है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 17 Oct 2020, 03:46:12 PM
Post Office Senior Citizen Savings Scheme (SCSS)

Post Office Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

Post Office Senior Citizen Savings Scheme (SCSS): वरिष्ठ नागरिक (Senior Citizen) पोस्ट ऑफिस (Post Office) की वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में निवेश करके फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) से ज्यादा रिटर्न पा सकते हैं. दरअसल इस स्कीम में बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) से ज्यादा ब्याज मिलता है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम निवेश के लिए सबसे सुरक्षित माना जाता है. इस स्कीम के तहत 5 साल के लिए पैसा निवेश किया जा सकता है. मैच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए और बढ़ाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ITR फाइल करने की अवधि बढ़ी, जानें कब जारी होगा फॉर्म-16

सालाना मिल रहा है 7.4 फीसदी का ब्याज
वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में निवेश की गई पूंजी पर फिलहाल सालाना 7.4 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. हालांकि निवेशक को इस ब्याज के ऊपर टैक्स अदा करना पड़ता है. ब्याज की रकम 10,000 रुपये सालाना से अधिक होने पर निवेशक को टैक्स देना होता है. इस स्कीम के तहत निवेश करने पर 1 अप्रैल 2007 से इनकम टैक्स एक्ट 1961 (Income Tax Act, 1961) के सेक्शन 80C के अंतर्गत निवेशकों को टैक्स छूट का लाभ मिल रहा है.

यह भी पढ़ें: जीएसटी टैक्सपेयर्स को राहत, GSTR-3B रिटर्न भरने में देरी पर अधिकतम लेट फीस 500 रुपये लगेगी

रिटायरमेंट के बाद खोल सकते हैं अकाउंट
वरिष्ठ नागरिक रिटायरमेंट के बाद SCSS अकाउंट को खोल सकते हैं. 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के बाद अकाउंट खोला जा सकता है. VRS लेने वाला व्यक्ति जो कि 55 वर्ष से अधिक लेकिन 60 वर्ष से कम है वो भी इस अकाउंट को खोल सकता है. इस अकाउंट की मैच्योरिटी पीरियड 5 वर्ष की है. इस अकाउंट को नकद और चेक के जरिए खोला जा सकता है. 1 लाख रुपये से कम के नकद रकम पर इस अकाउंट को खोला जा सकता है. अगर 1 लाख रुपये से अधिक रकम से आप अकाउंट खोलना चाहते हैं तो चेक देना अनिवार्य है.

एक से अधिक अकाउंट खुल सकता है
वरिष्ठ नागरिक एक से अधिक अकाउंट खोल सकते हैं. पति या पत्नी दोनों एक साथ ज्वाइंट अकाउंट खोल सकते हैं. संयुक्त खाता होने की स्थिति में पहला व्यक्ति ही निवेशक माना जाएगा. SCSS के तहत कई अकाउंट खोले जा सकते हैं. हालांकि SCSS के तहत जितने भी अकाउंट खोले गए हैं उन सभी अकाउंट में कुल 15 लाख रुपये से अधिक रकम जमा नहीं कर सकते. मतलब सभी अकाउंट को मिलाकर कुल 15 लाख रुपये से ज्यादा की रकम जमा नहीं हो सकती, भले ही चाहे जितना अकाउंट खोले गए हों. SCSS को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस ट्रांसफर भी किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: 6 जुलाई से फिर मिल रहा है सस्ता सोना खरीदने का मौका, जानें 1 ग्राम के लिए कितना भुगतान करना होगा

अधिकतम 15 लाख रुपये तक कर सकते हैं जमा
SCSS अकाउंट में पैसा सिर्फ 1,000 रुपये के गुणकों में जमा होना चाहिए. इस स्कीम में 15 लाख रुपये तक रकम जमा कर सकते हैं. इस स्कीम को एक साल बाद बंद करने पर जमा रकम पर 1.5 फीसदी का प्री क्लोजर चार्ज और 2 साल बाद बंद करने पर जमा रकम पर 1 फीसदी चार्ज वसूला जाएगा.

First Published : 04 Jul 2020, 02:30:38 PM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो