News Nation Logo

अमेरिकी दबाव में इजरायल झुका, नेतन्याहू हो गए संघर्ष विराम को तैयार

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) के सुरक्षा मंत्रिमंडल ने गाजा पट्टी में सैन्य अभियान को रोकने के लिए एकतरफा संघर्ष विराम (Cease Fire) को मंजूरी दे दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 21 May 2021, 07:38:35 AM
Joe Biden Benjamin Netanyahu

अमेरिका समेत कई देशों का था इजरायल पर भारी दबाव. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • इजरायल ने हमास पर एकतरफा संघर्ष विराम को दी मंजूरी
  • बेंजामिन नेतान्याहु पर अमेरिका समेत कई देशों का था दबाव
  • हमास ने अब तक इजरायल पर चार हजार से ज्यादा रॉकेट दागे

तेल अवीव:

अमेरिका (America) के दबाव के आगे अंततः इजरायल (Israel) को झुकना पड़ा है और वह 11 दिनों से गाजा (Gaza) पट्टी में जारी अपने सैन्य अभियान को एकतरफा रूप से रोकने के लिए तैयार हो गया. इजरायली मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) के सुरक्षा मंत्रिमंडल ने गाजा पट्टी में सैन्य अभियान को रोकने के लिए एकतरफा संघर्ष विराम (Cease Fire) को मंजूरी दे दी है. हमास (Hamas) के एक अधिकारी ने भी इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि यह सीजफायर स्थानीय समय के अनुसार शुक्रवार तड़के 2 बजे से प्रभावी होगा. उधर, अमेरिका में व्हाइट हाउस के प्रेस सेकेट्री जेन साकी ने इस घटनाक्रम को उत्साहजनक करार दिया है.

हमास ने जताई थी शुक्रवार तक संघर्ष विराम होने की उम्मीद
गौरतलब है कि हमास खासकर गाजा पर हमलों को रोकने के लिए इजरायल पर चारों तरफ से दबाव था. देश के सबसे घनिष्ठ सहयोगी अमेरिका की ओर से भी हमास पर हमलों पर रोक लगाने की अपील की गई थी. हालांकि तब इजरायल ने अमेरिकी अपील को नकार दिया था और लड़ाई को निर्णायक मोड़ तक ले जाने की बात कही थी. यह अलग बात है कि हमास के सियासी दफ्तर के वरिष्ठ अधिकारी मूसा अबू मरजौक ने एक लेबनानी टीवी से कहा था, 'मुझे लगता है कि संघर्ष विराम को लेकर चल रहे प्रयास सफल होंगे. मुझे उम्मीद है कि आपसी सहमति से एक-दो दिन में संघर्ष विराम के लिए समझौता हो सकता है.' मिस्र के एक सूत्र ने बताया था कि मध्यस्थ देशों की मदद से दोनों पक्षों में संघर्ष विराम को लेकर सहमति बन गई है.ॉ

यह भी पढ़ेंः वुहान की लैब में पैदा किया गया कोरोना वायरस... अब ब्रिटिश लेखक का दावा

हमास के खिलाफ तगड़े हवाई हमले 
इससे पहले गुरुवार तड़के इजरायल ने गाजा पट्टी में हमास के खिलाफ फिर हवाई हमले किए. इसमें एक फलस्तीनी की मौत हो गई और कई घायल हो गए. इजरायली सेना ने बताया कि गाजा के खान यूनिस और राफह इलाकों में हमास के तीन कमांडरों के घरों को निशाना बनाया गया. इसके अलावा एक सैन्य ढांचे के साथ एक हथियार भंडार को भी निशाना बनाया गया. उत्तरी गाजा में खान यूनिस में शरणार्थी शिविर पर हवाई हमला कर एक दो मंजिली इमारत को ध्वस्त कर दिया गया. इजरायली सेना ने बताया कि शिविर में दो भूमिगत लांचर थे. तेल अवीव पर रॉकेट हमले में इनका इस्तेमाल किया जाता था.

यह भी पढ़ेंः  तौकते तूफान में लापता क्रु मेंबर की तलाश जारी: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

हमास ने इजरायल पर दागे चार हजार राकेट
गत 10 मई से अब तक इजरायल गाजा में सैकड़ों हवाई हमले कर चुका है. इनमें हमास के टनल नेटवर्क समेत ठिकानों को निशाना बनाया जा रहा है, जबकि हमास इजरायली शहरों पर अब तक चार हजार से ज्यादा रॉकेट दाग चुका है. इस संघर्ष में अब तक 65 बच्चों और 39 महिलाओं समेत 230 फलस्तीनियों की मौत हुई है. 1,620 लोग घायल हुए हैं. इजरायल में 12 लोगों की जान गई है. संघर्ष के चलते करीब 58 हजार फलस्तीनियों ने पलायन किया है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 May 2021, 07:36:02 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो