News Nation Logo

Super Typhoon Hinnamnor: शक्तिशाली तूफान 'हिन्नामनॉर' से जापान को खतरा

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 04 Sep 2022, 05:16:35 PM
toofaan

Super Typhoon Hinnamnor (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

पश्चिमी प्रशांत महासागर में आने वाले इस साल के सबसे खतरनाक सुपर टाइफून हिन्नामनॉर से जापान को बड़ा खतरा है. इस पर पर्यावरणविद मनु सिंह ने तूफान की वर्तमान लोकेशन दिखाते हुए डिटेल में बताया है. उन्होंने इस तूफान के आने का कारण जलवायु परिवर्तन बताया है. दरअसल, पश्चिमी प्रशांत महासागर में दक्षिण चीन सागर के पार इस साल का सबसे शक्तिशाली तूफान 'हिन्नामनॉर' 257 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है. हॉन्गकॉन्ग वैधशाला ने इस तूफान की जानकारी दी है. वैधशाला की जानकारी के मुताबिक, इसकी वजह से समुद्र में 50 फुट ऊंची लहरें उठ सकती हैं. इस तूफान से चीन के पूर्वी तट और जापान के दक्षिणी द्वीपों को खतरा हो सकता है. 

यह भी पढ़ें : IND vs PAK: मैच से पहले ही बौखलाया ये पाक दिग्गज, मुर्गियों के टीके लगवाने की दी राय

यूएस जॉइंट टाइफून सेंटर (USTWC) के अनुसार, फिलहाल हिन्नामनॉर चक्रवात औसतन 257 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहा है. अब तक इसकी अधिकतम रफ्तार 313 किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गई है. जापान मौसम विज्ञान एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि अभी इस तूफान की जितनी स्पीड दर्ज की गई है, उस आधार पर हिन्नमनॉर इस साल का सबसे तेज और शक्तिशाली तूफान साबित होने जा रहा है.

हॉन्गकॉन्ग वैधशाला के अनुसार, एक सितंबर को स्थानीय समयानुसार (हॉन्गकॉन्ग) सुबह 10 बजे तक, यह सुपर टाइफून जापान के ओकिनावा से लगभग 230 किलोमीटर पूर्व में स्थित था. इसकी हवा की गति लगभग 257 किमी प्रति घंटे थी, जो 313 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी. ये गति ताइवान के सेंट्रल वेदर ब्यूरो द्वारा गुरुवार (स्थानीय समय) के शुरुआती घंटों के दौरान दर्ज की गई. इसके बाद हिन्नामनॉर की हवा की गति लगभग 190 किमी प्रति घंटे, 234 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दर्ज की गई थी.

ताइवान न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार, रविवार रात तक तूफान उत्तर की ओर बढ़ेगा और दक्षिण-पश्चिमी जापान, पूर्वी चीन और दक्षिण कोरिया के कुछ हिस्सों के करीब पहुंच जाएगा. जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) ने टाइफून हिन्नामनॉर को बड़े तूफान के रूप में चिह्नित किया है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, तूफान के केंद्र में 920 हेक्टोपास्कल का वायुमंडलीय दबाव है. इससे जैसे ही शक्तिशाली तूफान द्वीप के पास आएगा आंधी की तीव्रता तेज हो जाएगी.

यह भी पढ़ें : टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री का कार एक्सीडेंट में निधन

रविवार शाम तक हिन्नामनॉर के ओकिनावा के दक्षिण में धीरे-धीरे बढ़ने की उम्मीद है. रात तक तूफान जापान साकिशिमा द्वीप और ओकिनावा के मुख्य द्वीप तक पहुंच जाएगा, तब हवा की गति और बढ़ जाएगी. जेएमए ने इस क्षेत्र में 10 मीटर तक लहर बढ़ने की चेतावनी दी है.

पश्चिमी और पूर्वी जापान के विस्तृत क्षेत्रों में आंधी के साथ ही मौसम विभाग ने रविवार तक निचले इलाकों में भारी बारिश और बाढ़ की चेतावनी दी है. जब तक यह तूफान सक्रिय रहता है, प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को भूस्खलन, बवंडर, बाढ़ और बिजली गिरने के लिए सतर्क रहने के लिए कहा गया है. नदियों में उफान और तेज हवाएं चलने के भी आसार हैं.

रिपोर्टों ने संकेत दिया है कि चीन और ताइवान पर इसका प्रभाव उतनी तीव्र होने की संभावना नहीं है, लेकिन हिन्नामनॉर के अवशेष सिस्टम पूरे दक्षिण कोरिया में भारी बारिश को संभावित कर सकते हैं. हिन्नामनॉर वर्ष 2022 का 11वां उष्णकटिबंधीय तूफान है. 

First Published : 04 Sep 2022, 05:15:03 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.