News Nation Logo

पाकिस्तान के 5 बड़े झूठ का पर्दाफाश, भारत के जवाब पर UN का तमाचा

भारत ने पाकिस्तान के बड़े दावों की पोल खोल कर रख दी. इसके बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के अध्यक्ष इंडोनेशिया ने पाकिस्तान के मुंह पर करारा तमाचा जड़ा.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 27 Aug 2020, 06:43:13 AM
Imran Khan

बार-बार बेइज्जती, फिर भी शर्म नहीं आती इमरान खान को. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

संयुक्त राष्ट्र:

पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर बेइज्जती हुई है. भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) की बैठक में आतंकवाद पर बयान देने के पाकिस्तान (Pakistan) के झूठे दावे के बारे में संयुक्त राष्ट्र को औपचारिक रूप से पत्र लिखा है. भारत (India) ने पाकिस्तान के बड़े दावों की पोल खोल कर रख दी. इसके बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष इंडोनेशिया ने पाकिस्तान के मुंह पर करारा तमाचा जड़ा. इंडोनेशिया ने स्पष्ट किया कि 24 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान मिशन द्वारा जारी किया गया बयान रिकॉर्ड पर नहीं लिया जाएगा, क्योंकि ये पाकिस्तान के दूत मुनीर अकरम द्वारा नहीं दिया गया था.

पांच झूठ बेनकाब
यह बैठक परिषद के गैर-सदस्य राष्ट्रों के लिए खुली नहीं थी. संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत ने दावा किया था कि सुरक्षा परिषद (security council) की बैठक में पड़ोसी देश ने बयान दिया है. इसके बाद भारत ने सोमवार को पाकिस्तान की झूठ की फेहरिस्त का खुलासा किया. भारत ने अब संयुक्त राष्ट्र को औपचारिक रूप से पत्र (Formal letter) लिखा है और पाकिस्तान के इस झूठे दावे (claims) के बारे में बात रखी है कि उसने परिषद में बयान दिया है. भारत ने पाकिस्तान के एक नहीं बल्कि पांच-पांच झूठों को बेनकाब कर अंतरराष्ट्रीय मंच पर बेइज्जती का राह प्रशस्त की.

यह भी पढ़ेंः मुहर्रम जुलूस के दौरान आपत्तिजनक नारेबाजी को लेकर राजद्रोह के आरोप में दो गिरफ्तार

तार-तार किया एक-एक झूठ
भारत ने सोमवार को पाकिस्तान (Pakistan) के दावे में कही गयी बातों को एक-एक करके मजबूती से खारिज किया था. पाकिस्तान के मिशन ने यह झूठा दावा किया कि संयुक्त राष्ट्र (UN) में उसके राजदूत मुनीर अकरम ने आतंकवादी गतिविधियों से अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को खतरों (Threats to international peace and security) पर महासचिव की रिपोर्ट पर सुरक्षा परिषद में चर्चा के दौरान बयान दिया था. हालांकि अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा पर खतरों को लेकर सुरक्षा परिषद (Security Council) की बैठक परिषद के गैर-सदस्य राष्ट्रों के लिए खुली नहीं थी. संयुक्त राष्ट्र में जर्मनी (Germany) के मिशन ने बैठक की एक तस्वीर ट्वीट की जिसमें बैठक में केवल 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के राजदूतों (ambassdors) को देखा जा सकता है. पाकिस्तान सुरक्षा परिषद का सदस्य नहीं है.

आतंकवाद का प्रायोजक
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने कहा था, ‘हमने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के मिशन का बयान देखा है जिसमें दावा किया गया है कि ये बयान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि ने दिये.’ भारतीय मिशन ने कहा, ‘हम यह समझ नहीं पाये कि पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि ने वास्तव में अपना बयान कहां दिया क्योंकि आज सुरक्षा परिषद का सत्र गैर-सदस्य राष्ट्रों के लिए खुला नहीं था. पाकिस्तान के पांच बड़े झूठ का पर्दाफाश हो गया है.’

यह भी पढ़ेंः सुशांत मामले पर सुब्रमण्यम स्वामी बोले, बॉलीवुड कार्टेल की पहचान होना बाकी

सीमापार से फैला रहा आतंकवाद
पाकिस्तान के दशकों से सीमापार आतंकवाद के दावे को झूठ बताते हुए भारत ने कहा था, ‘झूठ को सौ बार बोलने से वह सच नहीं हो जाता. भारत के खिलाफ सीमापार आतंकवाद का सबसे बड़ा प्रायोजक अब खुद को भारत द्वारा आतंकवाद का पीड़ित दिखाने का स्वांग रच रहा है.’

इमरान ने लादेन को शहीद बताया
अकरम के इस दावे पर कि पाकिस्तान ने क्षेत्र से अल-कायदा को खत्म कर दिया है, भारत ने कहा कि शायद पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि को यह नहीं पता कि ओसामा बिन-लादेन उनके खुद के देश में छिपा था और अमेरिकी बलों ने पाकिस्तान के अंदर उसे खोज निकाला था. ना ही उन्होंने अपने प्रधानमंत्री को ओसामा बिन-लादेन को शहीद कहते सुना है.

यह भी पढ़ेंः GST के मुद्दे पर सोनिया गांधी ने सरकार पर बोला हमला, कहा- राज्यों और लोगों के साथ हो रहा छल

किराये के आतंकियों का खोखला दावा
पाकिस्तान के झूठ को पुरजोर तरीके से खारिज करते हुए भारत ने पड़ोसी देश के इस दावे को ‘हास्यास्पद’ करार दिया कि भारत ने उस पर हमले के लिए आतंकियों को किराये के टट्टुओं की तरह काम सौंपा है. भारत ने कहा, ‘जिस देश को सीमापार आतंकवाद के कर्ताधर्ता के रूप में जाना जाता है, जिसने अपनी गतिविधियों से दुनिया को पीड़ा पहुंचाई है, उस देश की ओर से इस तरह का दावा किया जाना मूर्खता से कम नहीं है.’

इमरान खान ने खुद कबूली थी 40,000-50,000 आतंकी होने की बात
भारत ने कहा कि पाकिस्तान में बड़ी संख्या में आतंकवादी हैं जिन्हें संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंधित किया है और इनमें से अनेक प्रतिबंधित आतंकी और संगठन पाकिस्तान में पूरी छूट के साथ गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने खुद पिछले साल संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के अंदर 40,000 से 50,000 आतंकियों के होने की बात कबूल की थी. अकरम के झूठे बयान में जम्मू कश्मीर का मुद्दा उठाये जाने के संदर्भ में भारत ने कहा कि पाकिस्तान भारत के आंतरिक मामलों के बारे में हास्यास्पद दावे करता है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 27 Aug 2020, 06:36:15 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.