News Nation Logo

अमेरिकी संसद पर हमले को लेकर एफबीआई के चौंकाने वाले खुलासे

अमेरिकी न्याय विभाग ने देशद्रोह के आरोपों की संभावना की जांच करने के लिए एक स्ट्राइक फोर्स बनाया है, जिसमें 20 साल तक की जेल की सजा हो सकती है.

IANS | Updated on: 13 Jan 2021, 01:17:16 PM
america riots

अमेरिकी संसद पर हमले को लेकर एफबीआई के चौंकाने वाले खुलासे (Photo Credit: फाइल फोटो)

न्यूयॉर्क:

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समर्थक भीड़ द्वारा अमेरिका के कैपिटल हिल पर 6 जनवरी को किए गए घातक हमले के एक हफ्ते से भी कम समय बाद फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) पहले से ही 100,000 से अधिक डिजिटल मीडिया फुटेज को देख रही है. हमले में एक पुलिस अधिकारी सहित 5 लोगों की मौत हो गई थी. अमेरिकी न्याय विभाग ने देशद्रोह के आरोपों की संभावना की जांच करने के लिए एक स्ट्राइक फोर्स बनाया है, जिसमें 20 साल तक की जेल की सजा हो सकती है. अधिकारी धन उपलब्ध कराए जाने और मूवमेंट की जांच कर रहे हैं, जिसके कारण हमला हुआ.

यह भी पढ़ें: ट्रंप को बड़ा झटका! फेसबुक, ट्विटर के बाद अब YouTube ने भी वीडियो हटाए, चैनल सस्पेंड

जैसा कि चौंकाने वाले नए सबूत सामने आए हैं, एफबीआई ने पहले ही 170 मामलों को खोल दिया है और हजारों गवाहों के बयान दर्ज कर रही है. डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया के लिए कार्यवाहक अमेरिकी अटॉर्नी माइकल शेरविन ने 6 जनवरी के हमले के बाद पहली बार देश को संबोधित किया. उनकी टिप्पणी इस बात पर अभी तक काफी पुख्ता विवरण प्रस्तुत करती है कि उस दिन दोपहर के लगभग क्या हुआ था, जब कांग्रेस अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडेन के जीत को प्रमाणित करने के लिए जुटी थी. ब्रीफिंग के अंश हमें बताते हैं कि चीजें कहां खड़ी हैं.

अटॉर्नी माइकल शेरविन ने कहा, 'हमने पहले से ही 170 से अधिक सब्जेक्ट फाइलों को खोल दिया है, जिसका अर्थ है कि इन व्यक्तियों को संभावित व्यक्तियों के रूप में पहचाना गया है जिन्होंने कैपिटल ग्राउंड के अंदर और बाहर अपराध किया. 170 मामले पहले ही खुल चुके हैं और मुझे आशा है कि यह आगामी सप्ताहों में सैकड़ों में बढ़ने वाला है. अगले आने वाले हफ्तों में, मुझे फिर से संख्या सैकड़ों में बढ़ने का संदेह है.' उन्होंने कहा, 'आपराधिक आचरण की सीमा वास्तव में है. हम कैपिटल में साधारण ट्रेसपास से लेकर मेल की चोरी, डिजिटल उपकरणों की चोरी तक सब कुछ देख रहे हैं.'

यह भी पढ़ें: अमेरिकी संसद में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग पर बहस, उपराष्ट्रपति पेंस का ट्रंप को हटाने से इनकार 

शेरविन ने कहा, 'इन मामलों में इस जांच का दायरा और पैमाना वास्तव में न केवल एफबीआई के इतिहास में अप्रत्याशित है, बल्कि संभवत: डीओजे के इतिहास में भी है जिसमें अनिवार्य रूप से कैपिटल ग्राउंड के बाहर और अंदर एक अपराध स्थल है जिसमें हमारे पास वास्तव में हजारों संभावित गवाह हैं और एक ऐसा परि²श्य है जिसमें हमारे पास सैकड़ों आपराधिक मामले होंगे. यह रातोंरात हल होने वाले नहीं हैं. यह आगामी हफ्तों, आगामी महीनों के भीतर हल होने वाला नहीं है. यह एक दीर्घकालिक जांच होने जा रही है.'

उन्होंने कहा कि हमें डिजिटल मीडिया के 100,000 से अधिक तस्वीरें प्राप्त हुई हैं, जो जांच में मदद करेंगी. शेरविन ने कहा कि जब आपराधिक आचरण होता है तो हम स्पष्ट रूप से लोगों को जल्द से जल्द आरोप पत्र दाखिल करने की कोशिश करते हैं. इसलिए जब इन प्रदर्शनकारियों ने कैपिटल को छोड़ दिया, तो संघीय कानून प्रवर्तन द्वारा माचिर्ंग आदेश इन व्यक्तियों को जितनी जल्दी हो सके खोजने और आरोप लगाने के लिए था.

यह भी पढ़ें: UNSC में भारत का चीन पर हमला, कहा- आतंक से लड़ाई में कोई किंतु-परंतु नहीं 

कार्यवाहक अमेरिकी अटॉर्नी ने कहा, 'यह केवल शुरूआत है. इसलिए इन आपराधिक आरोपों को दायर किए जाने के बाद, जो कि संयुक्त राज्य भर में कानून प्रवर्तन को डलास से अरकांसस से नैशविले से क्लीवलैंड, जैक्सनविले तक लोगों को गिरफ्तार करने की अनुमति देता है. जो कि पिछले कुछ दिनों में हुआ है. यह वास्तव में काफी अविश्वसनीय है.'

First Published : 13 Jan 2021, 01:17:16 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.