News Nation Logo

Corona Crisis: यूरोप में टीका नहीं लगवाने वालों पर लगी पाबंदियां

ऑस्ट्रिया ने एक फरवरी से टीकाकरण को अनिवार्य बना दिया है. यहां के चांसलर एलेक्जेंडर शालेनबर्ग ने इस कदम को वायरस की लहरों के दुष्चक्र को तोड़ने का इकलौता तरीका बताया.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 21 Nov 2021, 07:48:34 AM
Corona Europe

कोरोना के बढ़ते मामलों से यूरोप में लोगों पर लग रही पाबंदियां. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • टीकाकरण नहीं करवाने वालों के लिए कहीं-कहीं लॉकडाउन
  • विरोध में प्राग में दस हजार लोगों ने किया प्रदर्शन 
  • टीकाकरण नहीं करवाने वालों के लिए विकल्प सीमित

ब्रसेल्स:

यूरोप महाद्वीप कोविड-19 महामारी का वैश्विक केंद्र बना हुआ है, क्योंकि कई देशों में रिकॉर्ड स्तर पर मामले बढ़ रहे हैं. लगभग दो वर्ष की पाबंदियों के बावजूद संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है और यह स्वास्थ्य संकट टीकाकरण करवा चुके लोगों और उन लोगों को आमने-सामने ला रहा है जिन्होंने टीकाकरण नहीं करवाया है. पहले से भार तले दबी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को बचाने के प्रयास में सरकारें ऐसे नियम लागू कर रही है जो टीकाकरण नहीं करवाने वाले लोगों के लिए विकल्पों को सीमित कर देते हैं. सरकारों को उम्मीद है कि ऐसा करने से टीकाकरण की दर बढ़ेगी.

ऑस्ट्रिया में एक फरवरी से टीकाकरण अनिवार्य
इसी कड़ी में ऑस्ट्रिया ने एक फरवरी से टीकाकरण को अनिवार्य बना दिया है. यहां के चांसलर एलेक्जेंडर शालेनबर्ग ने इस कदम को वायरस की लहरों के दुष्चक्र को तोड़ने का इकलौता तरीका बताया. यूरोपीय संघ में टीकाकरण अनिर्वाय करने वाला ऑस्ट्रिया इकलौता देश है लेकिन कई देशों की सरकारें पाबंदियां लगा रही हैं. स्लोवाकिया ने गैर जरूरी सामान की सभी दुकानों और शॉपिंग मॉल में उन लोगों के जाने पर पाबंदी लगा दी, जिन्हें कोविड रोधी टीके नहीं लगे हैं. ऐसे लोग सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी नहीं जा सकेंगे और काम पर जाने के लिए भी उन्हें दो बार जांच करवानी होगी.

यह भी पढ़ेंः  गौतम गंभीर ने नवजोत सिंह सिद्धू पर साधा निशाना, कही ये बात

एंजेला मर्केल ने कहा अब कमद उठाने का वक्त
प्रधानमंत्री एडुआर्ड हेगर ने इन कदमों को टीकाकरण नहीं करवाने वालों के लिए लॉकडाउन बताया. स्लोवाकिया की 55 लाख की आबादी में से महज 45.3 फीसदी का पूर्ण टीकाकरण हुआ है. यहां मंगलवार को रिकॉर्ड 8,342 नए मामले सामने आए. सिर्फ मध्य और पूर्वी यूरोप के देश ही नहीं हैं जो वायरस के प्रकोप को झेल रहे हैं बल्कि पश्चिम के सम्पन्न देश भी वायरस से प्रभावित हैं और एक बार फिर पाबंदियां लगा रहे हैं. जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा कि अब कदम उठाने का वक्त है.

यह भी पढ़ेंः वरुण गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, अब MSP पर की ये मांग

प्राग में हो रहे हैं प्रदर्शन
यूनान के प्रधानमंत्री किरियाकोस मित्सोताकिस ने टीकाकरण नहीं करवाने वाले लोगों के लिए बृहस्पतिवार को नई पाबंदियों की घोषणा की जिनके मुताबिक ऐसे लोग जांच में संक्रमित नहीं पाए जाने के बावजूद बार, रेस्टोरेंट, सिनेमा, थियेटर, संग्रहालय और जिम नहीं जा सकेंगे. चेक गणराज्य में टीके नहीं लगवाने वाले लोगों पर लगाई गई पाबंदियों के खिलाफ इस हफ्ते प्राग में दस हजार लोगों ने प्रदर्शन किए.

First Published : 21 Nov 2021, 07:48:34 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो