News Nation Logo

25 सांसदों ने ट्रंप से टिकटॉक बैन की अपील, भारत सरकार के फैसले को बताया असाधारण

भारत ने पिछले दिनों टिकटॉक (Tiktok) सहित चीन के 59 एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया. इसके बाद दुनियाभर में भारत की इस कार्रवाई को लेकर चर्चा जारी है. अब अमेरिका पर भी इसी तरह के कदम उठाने का दबाव बढ़ने लगा है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 16 Jul 2020, 03:04:29 PM
Donald Trump

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Photo Credit: फाइल फोटो)

वॉशिंगटन:

भारत ने पिछले दिनों टिकटॉक (Tiktok) सहित चीन के 59 एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया. इसके बाद दुनियाभर में भारत की इस कार्रवाई को लेकर चर्चा जारी है. अब अमेरिका पर भी इसी तरह के कदम उठाने का दबाव बढ़ने लगा है. रिपब्लिकन पार्टी के 25 प्रभावशाली सांसदों ने राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) से अनुरोध किया है कि जिस तरह से भारत ने एप्‍स को बैन किया है, उसी तरह से इन्‍हें अमेरिका में भी बैन किया जाए. इन सांसदों ने भी साफ कर दिया है कि टिकटॉक की प्राइवेसी पॉलिसी, अमेरिकी नागरिकों के डाटा कलेक्‍ट करके उसे चाइनीज कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (सीसीपी) के साथ साझा करती है.

यह भी पढ़ेंः चीन ने दी अमेरिका को खुली धमकी, कहा- अब तूफान के लिए तैयार रहो...

भारत के कदम को बताया असाधारण
रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने राष्‍ट्रपति ट्रंप को बताया कि भारत ने एक असाधारण कदम उठाते हुए राष्‍ट्रीय सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए 60 चीनी एप्‍स को बैन कर दिया है. इसके बाद अमेरिका को भी ऐसी कार्रवाई करनी चाहिए. इन सांसदों ने राष्‍ट्रपति को जो चिट्ठी लिखी है उसमें प्रशासन से समर्थन मांगा गया है.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस में वापसी के बारे में क्या है सचिन पायलट का ख्याल, कपिल सिब्बल ने ली चुटकी

अमेरिका की सुरक्षा पर खतरा चीनी एप्‍स
सांसदों का कहना है कि चीन से इन एप से चीन की सुरक्षा को खतरा है. सीसीपी की तरफ से एक सिस्‍टम के तहत यूजर के डाटा को कलेक्‍ट करने और गैर-कानूनी तरीके से इसे सरकार के मकसद के लिए ट्रांसमिट किया जाता है और यह भारतीय उपभोक्‍ताओं के लिए कोई नई बात नहीं है. सरकारी डाटा को देश की एडवांस्‍ड माइनिंग पॉलिसीज के तहत मुहैया कराया जा रहा है.

First Published : 16 Jul 2020, 03:01:32 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.