News Nation Logo
Banner

6 करोड़ नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ी खबर, PF अकाउंट में आ सकता है ज्यादा पैसा

Employees Provident Fund Organization-EPFO: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने के लिए निवेश को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 14 Jul 2021, 01:14:21 PM
Employees Provident Fund Organization-EPFO

Employees Provident Fund Organization-EPFO (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • EPFO जल्द ही InvITs में जमा का एक हिस्सा निवेश के तौर पर शुरू कर सकता है
  • मौजूदा समय में EPFO गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, बॉन्ड्स और ETF में निवेश करता है

नई दिल्ली:

Employees Provident Fund Organization-EPFO: नौकरीपेशा लोगों के प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund-PF) से जुड़ी नई अपडेट सामने आ रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कर्मचारी भविष्य निधि संगठन जल्द ही इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट ट्रस्ट्स (InvITs) में अपनी जमा का एक हिस्सा निवेश के तौर पर शुरू कर सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने के लिए निवेश को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है. इसके अलावा EPFO की ओर से किए जाने वाले निवेश के दायरे में भी बढ़ोतरी हो सकती है. बता दें कि मौजूदा समय में EPFO गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, बॉन्ड्स और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) में निवेश करता है.

यह भी पढ़ें: Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana-PMJDY: इन 6 बैंकों में है जनधन अकाउंट तो Save कर लीजिए ये नंबर, फटाफट चेक कर सकते हैं बैलेंस

InvITs क्या है
गौरतलब है कि इनविट (InvITs) एक सामूहिक निवेश स्कीम है जो कि म्यूचुअल फंड की तरह होती है. किसी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट में व्यक्तिगत संस्थागत निवेशक के द्वारा सीधा निवेश किया जा सकता है. साथ ही उस प्रोजेक्ट से मिलने वाली आय से रिटर्न के तौर पर कमाई की जा सकती है. InvITs के जरिए कंपनियों के इंफ्रास्ट्रक्चर एसेट्स या प्रोजेक्ट्स को एक जगह पर रखते हैं. इसके जरिए निवेशक को लगातार नियमित इनकम मिलती रहती है. दरअसल, यह एक अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फंड (AIF) है जो कि म्यूचुअल फंड की तरह काम करता है.

यह भी पढ़ें: SBI ने जारी किया अलर्ट, ऐसा नहीं किया तो लग जाएगा मोटा चूना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मार्केट रेग्युलेटर सेबी (SEBI) InvITs को रेग्यूलेट करती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक InvITs के तहत वितरण किए जाने वाले नेट कैश फ्लो का 90 फीसदी यूनिट इन्वेस्टर्स को दिया जाना अनिवार्य है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अंडर कंस्ट्रक्शन एसेट्स में निवेश की सीमा को तय किया गया है. इसके अलावा संपत्तियों के मॉनेटाइजशन के लिए InvITs एक अच्छा जरिया माना जाता है.

यह भी पढ़ें: सिर्फ 10,000 रुपये के निवेश से भी बन जाएंगे लखपति, बस करना होगा ये काम

First Published : 14 Jul 2021, 01:12:56 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.