News Nation Logo

CoWIN पोर्टल पर शुरू हो गया 4 अंक वाला सिक्योरिटी कोड फीचर, जानिए कैसे काम करता है

नागरिकों को असुविधा से बचाने के लिए कोविन सिस्टम ने CoWIN एप्लीकेशन में चार अंकों वाला सिक्योरिटी कोड शुरू करने का फैसला किया है, जो आज यानि 8 मई, 2021 से शुरू हो गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 08 May 2021, 03:45:25 PM
CoWIN

CoWIN (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • वैक्सीन लगाने के पहले टीका लगाने वाला व्यक्ति लाभार्थी से चार अंकों वाला सेक्योरिटी कोड पूछेगा
  • बुकिंग कर लेने के बाद लाभार्थी को SMS के जरिए चार अंकों वाला सेक्योरिटी कोड भेज दिया जाएगा

नई दिल्ली :

कुछ नागरिकों ने कोविन पोर्टल (CoWIN Portal) के जरिए टीकाकरण (Vaccination) के लिए बुकिंग या अपॉइंटमेंट तो लिया, लेकिन निर्धारित दिन टीका लगवाने नहीं जा पाए. ऐसा होने पर भी उन्हें एसएमएस मिल जाता है कि टीके की खुराक उन्हें दी जा चुकी है. जांच करने पर पता चला कि टीकाकरण करने वालों की गलती के कारण ऐसी गलत सूचना चली जाती है, जबकि व्यक्ति को टीका नहीं लगा होता, यानी टीकाकरण करने वाले गलती से ऐसा डाटा डाल देते हैं. इस अड़चन को दूर करने और नागरिकों को असुविधा से बचाने के लिए कोविन सिस्टम ने कोविन एप्लीकेशन में चार अंकों वाला सिक्योरिटी कोड शुरू करने का फैसला किया है, जो आज यानि 8 मई, 2021 से शुरू हो गया है.

यह भी पढ़ें: अस्पताल में कोविड का इलाज करा रहे हैं और किसी मित्र से कैश लिया है तो सावधान हो जाइए

वहीं अब पुष्टिकरण के बाद लाभार्थी को अगर टीकाकरण का पात्र पाया जाता है, तो टीका लगाने के पहले टीका लगाने वाला व्यक्ति लाभार्थी से चार अंकों वाला सेक्योरिटी कोड पूछेगा. उसके बाद उस अंक को कोविन सिस्टम में सही तौर पर दर्ज कर दिया जायेगा. यह नया फीचर केवल उन लोगों के लिये लागू होगा, जिन्होंने टीकाकरण के लिये ऑनलाइन बुकिंग करवा रखी होगी. सफलतापूर्वक बुकिंग कर लेने के बाद लाभार्थी को एसएमएस (SMS) के जरिए चार अंकों वाला सेक्योरिटी कोड भेज दिया जाएगा. इस बाबत पावती को भी मोबाइल पर दिखाया जा सकता है. इससे यह सुनिश्चित होगा कि जिन नागरिकों ने ऑनलाइन बुकिंग करवाई है, उनकी टीकाकरण स्थिति को सही-सही सिस्टम में दर्ज कर लिया जाए. उनके सेंटर का नाम, समय, तिथि, आदि सिस्टम में दर्ज हो जायेगा. यह सुविधा केवल उन्हीं सेंटरों पर मिलेगी, जहां के लिये बुकिंग करवाई गई है। इससे फर्जी लोगों को दूर रखने और कोविन की सुगमता के बेजा इस्तेमाल को रोका जा सकेगा.

यह भी पढ़ें: सिर्फ एक रुपये के नोट से बन सकते हैं लखपति, जानिए क्या है तरीका

नागरिकों के लिये सलाह
सभी नागरिकों को सलाह दिया गया है कि वे अपनी अपॉइंटमेंट स्लिप या अपना पंजीकृत मोबाइल, जिस पर एसएमएस आया है को अपने साथ रखें, ताकि टीकाकरण की प्रक्रिया को सही तौर पर दर्ज करने के लिये चार अंकों वाले सेक्योरिटी कोड की सहायता ली जा सके. यह भी सलाह दी गई है कि सिक्योरिटी कोड को टीका लगाने वाले या कोड की पुष्टिकरण करने वाले को टीका लगाने से पहले बता दिया जाए. यह डिजिटल प्रमाणपत्र बनाने के लिये जरूरी है, जो टीका लगने के बाद दिया जाता है. नागरिकों को टीका लगाने वाले व्यक्ति को सिक्योरिटी कोड देना होगा, ताकि सिक्योरिटी कोड के साथ टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया दर्ज की जा सके. इसके बाद ही डिजिटल प्रमाणपत्र मिलेगा. सारी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद नागरिकों को एसएमएस भेजा जाएगा. पुष्टिकरण का यह एसएमएस इस बात का प्रमाण है कि टीकाकरण की प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूरी हो गई और डिजिटल प्रमाणपत्र बन गया है. अगर किसी को एसएमएस नहीं मिलता, तो उसे सम्बंधित टीकाकरण केंद्र से संपर्क करना चाहिए.

-इनपुट पीआईबी

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 08 May 2021, 03:42:55 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.