News Nation Logo

CM ममता बनर्जी का BJP पर हमला- देश को बंटने नहीं देगी TMC

पश्चिम बंगाल में 30 सितंबर को विधानसभा के उपचुनाव होने वाले हैं. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और सीएम ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा ने भवानीपुर सीट से पेशे से वकील  प्रियंका टिबरेवाल को चुनाव मैदान में उतारा है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 22 Sep 2021, 06:05:34 PM
Cm mamata banerjee

सीएम ममता बनर्जी (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • पश्चिम बंगाल में 30 सितंबर को होंगे विधानसभा के उपचुनाव 
  • सीएम ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहीं प्रियंका टिबरेवाल

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल में 30 सितंबर को विधानसभा के उपचुनाव होने वाले हैं. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और सीएम ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा ने भवानीपुर सीट से पेशे से वकील प्रियंका टिबरेवाल को चुनाव मैदान में उतारा है. प्रियंका टिबरेवाल ने 2014 में बीजेपी की सदस्यता ली थी. 2015 में ही पार्टी ने उन्हें भाजपी प्रत्याशी के रूप में कोलकाता नगर निगम के चुनाव में उतारा. वार्ड संख्या 58 (एंटली) से चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्‍हें टीएमसी के स्वप्न समदार से हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद अगस्त 2020 में उन्हें पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता युवा मोर्चा का उपाध्यक्ष बनाया गया. इस बीच सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा है. 

यह भी पढ़ें : दिल्ली के रेस्तरां में महिला को साड़ी पहनकर जाने से रोका गया, वीडियो वायरल

भवानीपुर विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) एक जुमला पार्टी है. बीजेपी झूठ बोलती है कि हम राज्य में दुर्गा पूजा, लक्ष्मी पूजा की अनुमति नहीं देते हैं. तृणमूल कांग्रेस (TMC) किसी भी हाल में देश को बंटने नहीं देगी.

यह भी पढ़ें : IPL 2021: दूसरे चरण में भी कोरोना का संकट, हैदराबाद का ये खिलाड़ी हुआ पॉजिटिव

आपको बता दें कि इससे पहले प्रियंका टिबरेवाल ने भवानीपुर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी बनने के बाद ममता बनर्जी पर राजनीतिक हमला किया था. उन्होंने एक ट्वीट कर कहा था कि मेरे सामने बनी उम्मीदवार (ममता बनर्जी) चुनाव हार चुकी हैं, इसलिए भवानीपुर में उपचुनाव हो रहा है, वे (टीएमसी) पहले ही भवानीपुर जीत चुके थे, लेकिन उन्हें लोकतंत्र या लोग क्या कहते हैं इसकी परवाह नहीं है.  

यह भी पढ़ें : साधुओं का नहीं होता आम लोगों की तरह दाह संस्कार, इस खबर में जानें वजह

प्रियंका टिबरेवाल ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि लोगों ने वहां टीएमसी से किसी को जनादेश दिया था, लेकिन ममता बनर्जी ने उन्हें हटाने का फैसला किया, क्योंकि वह चुनाव लड़ना चाहती थीं. यहां लोकतंत्र की यही स्थिति है. उन्हें लोगों के विचारों और वोटों का कोई सम्मान नहीं है.

First Published : 22 Sep 2021, 05:46:20 PM

For all the Latest States News, West Bengal News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.