News Nation Logo

BREAKING

Banner

जरायम के दुनिया का बड़ा नाम मुख्तार अंसारी को यूपी से लगता है डर, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

ज़रायम की दुनिया का बड़ा नाम और उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी को अब  उत्तर प्रदेश में डर लगता है. मुख़्तार अब उस प्रदेश में लौटना भी नहीं चाहते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 21 Oct 2020, 08:06:29 PM
Mukhtar ansari

जरायम के दुनिया का बड़ा नाम मुख्तार अंसारी को यूपी से लगता है डर (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

ज़रायम की दुनिया का बड़ा नाम और उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी को अब  उत्तर प्रदेश में डर लगता है. मुख़्तार अब उस प्रदेश में लौटना भी नहीं चाहते हैं, जहां से वो माननीय विधायक हैं. जिस प्रदेश में उनका परिवार, करोड़ों  का कारोबार और हज़ारों समर्थक हैं. मुख्तार अंसारी को अब यूपी से ज्यादा पंजाब सुरक्षित नज़र आता है.

पंजाब की रोपड़ जेल में बन्द मुख्तार अंसारी पर यूपी की अदालतों में दर्ज़नो मुकदमे चल रहे हैं. लेकिन बार-बार समन जारी करने के बाद भी मुख्तार UP की अदालतों में पेश नहीं हो रहे हैं. मुख्तार अंसारी 2 साल पहले एक मामले में पेशी के बहाने पंजाब गए थे, और तभी से वो पंजाब की जेल में बन्द हैं और  स्वास्थ्य कारणों का बहाना बार-बार बनाकर UP लौटने से बच रहे हैं.  जबकि इन 2 सालों में यूपी की अदालतें 2 दर्जन से भी ज्यादा बार पेशी पर तलब कर चुकी हैं.

इसे भी पढ़ें:विकास दुबे की पत्नी से ईडी ने की पूछताछ, ऋचा दुबे ने कहा- बच्चों की फीस जमा करने के लिए नहीं है पैसे

21 अक्टूबर को भी प्रयागराज की MP, MLA कोर्ट में मुख्तार अंसारी की पेशी होनी थी. यूपी पुलिस की एक टीम पंजाब से पंजाब से मुख्तार अंसारी को लेने के लिए रोपड़ जेल भी गई थी, गाजीपुर में फर्जी नाम पते के आधार पर शस्त्र लाइसेंस हासिल करने के मुकदमे में 21 अक्टूबर को अंसारी को कोर्ट में पेश होना था. लेकिन मुख्तार अंसारी ने अपनी मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर UP आने से बचने में कामयाब रहे. 

पंजाब के मेडिकल बोर्ड ने मुख्तार अंसारी की जो रिपोर्ट बनाई है, उसके मुताबिक मुख्तार को शुगर, BP,हाइपरटेंशन  और डिप्रेशन की शिकायत है, इसलिए उन्हें तीन महीने बेड रेस्ट की जरूरत है.  इसी रिपोर्ट के आधार पर UP पुलिस को बैरंग लौटना पड़ा और मुख्तार अंसारी यूपी आने से बच गया. 

दरअसल मुख्तार को बीमारी से ज्यादा योगी सरकार का डर है. मुख्तार को लगता है कि UP में धड़ाधड़ अपराधियों के हो  रहे खात्मे के बीच उनके साथ भी कोई अनहोनी ना हो जाए. मुख्तार को ये भी मालूम है कि कांग्रेस शासित पंजाब की जेल में उन्हें जो मौज मिल रही है, वो मौज योगी सरकार की जेलों में ना हासिल होगी, और उन्हें एक आम कैदी की तरह ही UP की जेलों में अपने दिन गुजारने होंगे. 

और पढ़ें: UPPSC Recruitment : डेंटल सर्जन के 535 पदों पर भर्ती के मामले में हाईकोर्ट ने UPPSC से मांगी जानकारी

बीते कुछ महीनों में दूसरे माफियाओं की तरह ही मुख्तार अंसारी के भी गुनाहों के साम्राज्य पर भी UP पुलिस कहर बनकर  टूटी है. मऊ, गाज़ीपुर के साथ ही लखनऊ में भी मुख़्तार की करोड़ों की प्रॉपर्टी पर बुलडोजर चले हैं. उसके दर्जनों गुर्गों को सख्त  कानून के तहत जेल में ठूंसा गया है. मुख्तार के बेटों समेत परिवार के दूसरे लोगों पर भी गम्भीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हुए हैंय 

एक दौर वो भी था जब 3, 4 साल पहले तक मुख्तार लखनऊ जेल में बन्द था, लेकिन बीमारी के नाम पर उसका दरबार 
किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में लगता था. लेकिन ये सब अब बीते दौर की बात है. कभी दहशत का दूसरा नाम रहे मुख्तार अंसारी को योगी के UP में डर लगता है. यूपी आने के नाम पर उसका दिल बैठ जाता है. 

First Published : 21 Oct 2020, 08:06:29 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो