News Nation Logo

UP: आजमगढ़ में अजय कुमार लल्लू समेत कई कांग्रेस के कई नेताओं को किया गया नजरबंद

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अजय कुमार लल्लू और सांसद पीएल पुनिया समेत कई कांग्रेसी नेताओं को नजरबंद कर दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 20 Aug 2020, 12:13:19 PM
Ajay Kumar lallu

आजमगढ़ के सर्किट हाउस में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेता नजरबंद (Photo Credit: फाइल फोटो)

आजमगढ़:

आजमगढ़ (Azamgarh) जिले के तरवां थानाक्षेत्र में ग्राम प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की हत्या को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासत तेज हो गई है. दलित प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या के बाद उनके परिजनों से मुलाकात करने के लिए पहुंचे यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष समेत कई दिग्गज नेताओं को योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की पुलिस ने नजरबंद कर दिया है. कांग्रेस नेताओं को आजमगढ़ के सर्किट हाउस में नज़रबंद किया गया है.

यह भी पढ़ें: आगरा बस हाईजैक: पुलिस एनकाउंटर में मुख्य आरोपी को लगी गोली

योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने जिन नेताओं को नजरबंद किया है, उनमें उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के अलावा सांसद पीएल पुनिया, बृजलाल खाबरी और आलोक प्रसाद शामिल हैं. फिलहाल सर्किट हाउस को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है. भारी संख्या में पुलिसबल को यहां तैनात किया गया है.

उधर, महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नितिन राउत भी आजमगढ़ आ रहे हैं. इस दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि उनकी भी किसी वक्त गिरफ्तारी हो सकती है. नितिन राउत ने ट्वीट कर कहा, 'मैं अभी बनारस एयरपोर्ट से आज़मगढ़ बांसगांव के लिए निकला हूं. जहां एक दलित प्रधान की हत्या कर दी गई. यहां हालात गंभीर हैं किसी भी वक्त गिरफ्तारी हो सकती है.'

बता दें कि आजमगढ़ के तरवा थाने के बांसगांव में प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या कर दी गई थी. वारदात के बाद आक्रोशित भीड़ ने तोड़फोड़ और आगजनी को अंजाम दिया था. भीड़ ने कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचाया था. साथ ही तरवा थाने की बोगरिया पुलिस चौकी को भी आग के हवाले कर दिया था. इस दौरान एक बच्चे की अज्ञात वाहन से कुचल कर मौत हो गई थी. इससे भीड़ ने और उग्र होकर पुलिस चौकी के सामने खड़े वाहनों को फूंक डाला था.

यह भी पढ़ें: गोकशी पर योगी सरकार सख्त, इस साल रासुका के तहत इतने लोगों पर कार्रवाई

इस घटना के बाद कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर तीखा हमला किया था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ग्राम प्रधान की हत्या की आलोचना करते हुए ट्वीट किया था, 'यूपी में जातीय हिंसा और बलात्कार का जंगलराज चरम पर है. अब एक और भयानक घटना- सरपंच सत्यमेव ने दलित होकर 'ना' कहा जिसके कारण उनकी हत्या कर दी गई. उनके परिवारजनों के प्रति संवेदनाएं.'

वहीं बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने भी सरकार पर सवाल उठाए थे. उन्होंने ट्वीट किया था, 'आजमगढ़ के बांसगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या में नृशंस हत्या और एक अन्य की कुचलकर मौत की खबर अति-दु:खद है. यूपी में दलितों पर इस प्रकार हो रही जुल्म-ज्यादती व हत्या आदि से पूर्व की सपा व बीजेपी की वर्तमान सरकार में क्या अन्तर रह गया है?'

First Published : 20 Aug 2020, 10:21:39 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.