News Nation Logo
Banner

News State Conclave: बीजेपी में चेला बनाने के लिए नेता नहीं बनाए जाते - स्वतंत्र देव सिंह

भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि बीजेपी में चेला बनाने के लिए नेता नहीं बनाए जाते हैं, जबकि देश के नेतृत्व करने के लिए नेता बनते हैं. इसलिए हम 2022 का चुनाव जीतेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Rupesh Ranjan | Updated on: 18 Aug 2021, 06:26:16 PM
Swatantra Dev Singh

Swatantra Dev Singh (Photo Credit: News Nation )

highlights

  • हम 2022 का चुनाव जीतेंगे - स्वतंत्र देव सिंह
  • संगठन में कार्यकर्ता राष्ट्रवाद के लिए काम करता है - स्वतंत्र देव सिंह
  • संगठन की संरचना बूथ स्तर पर है - - स्वतंत्र देव सिंह 

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने न्यूज नेशन और न्यूज स्टेट के द्वारा आयोजित खास शो 'शहर बनारस' में उत्तर प्रदेश की राजनीति पर बात करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में जितने भी चुनाव हुए हैं, सभी चुनाव को हम जीते हैं. संगठन की संरचना बूथ स्तर पर है. उपचुनाव में भी बीजेपी की बड़ी जीत हुई है. सभी विधानसभा में बैठक करेंगे. उन्होंने कहा- संगठन की संरचना चुस्तदुस्त है. साथ ही उन्होंने विपक्षी राजनीतिक दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये कोई ट्रस्ट नहीं है, ये संगठन है. बीजेपी में चेला बनाने के लिए नेता नहीं बनाए जाते हैं, जबकि देश के नेतृत्व करने के लिए नेता बनते हैं. इसलिए हम 2022 का चुनाव जीतेंगे.

यह भी पढ़ें :News State Conclave: स्वतंत्र देव बोले- एक नेता पंजाब चले थे तो उन्हें गाड़ी पलट का डर था 

कार्यक्रम के दौरान स्वतंत्र देव सिंह ने संगठन में कार्यरत कार्यकर्ता को लेकर भी बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता राष्ट्रवाद के लिए काम करता है. साथ ही उन्होंने तीन तलाक पर बात करते हुए कहा कि हम तीन तलाक की बात करते हैं तो कहते हैं कि हम सांप्रदायिक हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एक हाथ में राष्ट्रवाद और दूसरे हाथ में विकासवाद का एजेंडा है. इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार में कई बम विस्फोट होते थे, चोर गाय-भैंस चुरा लेते थे. एक नेता पंजाब भी चले थे तो उन्हें डर था कि कहीं गाड़ी न पलट जाए.

यह भी पढ़ें: सतीश महाना ने कही बड़ी बात, मैं कभी जाति के आधार पर वोट नहीं मांगता

गौरतलब है कि दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक बनारस की पहचान भारत की सांस्कृतिक राजधानी से की जाती है. सदियों से यह शहर हिंदुओं के धर्म और आस्था का केंद्र रहा है. शहर के रूप में बनारस की पहचान तंग गलियों और मंदिरों के शहर से होती है. धार्मिक कारणों से ही बनारस को 'मिनी इंडिया' कहा जाता है. देश के कोने-कोने से पूर्व से लेकर पश्चिम तो उत्तर से लेकर दक्षिण तक के लोग यहां निवास करते हैं. बनारस में बंगाल, महाराष्ट्र और दक्षिण के सभी राज्यों के लोगों का बनारस में मोहल्ला है. न्यूज नेशन और न्यूज स्टेट का विशेष कार्यक्रम 'बनारस देखत हौ' हो रहा है. शहर बनारस कार्यक्रम में यूपी के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राम के नाम पर राजनीति नहीं करती है. 

First Published : 18 Aug 2021, 04:42:05 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.