News Nation Logo
Banner

News State Conclave: नितिन गडकरी बोले- देश में कोई टोल-नाका नहीं होगा

दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक बनारस की पहचान भारत की सांस्कृतिक राजधानी से की जाती है. सदियों से यह शहर हिंदुओं के धर्म और आस्था का केंद्र रहा है. शहर के रूप में बनारस की पहचान तंग गलियों और मंदिरों के शहर से होती है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 18 Aug 2021, 07:10:03 PM
gadgari

News State Conclave (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक बनारस की पहचान भारत की सांस्कृतिक राजधानी से की जाती है. सदियों से यह शहर हिंदुओं के धर्म और आस्था का केंद्र रहा है. शहर के रूप में बनारस की पहचान तंग गलियों और मंदिरों के शहर से होती है. धार्मिक कारणों से ही बनारस को 'मिनी इंडिया' कहा जाता है. देश के कोने-कोने से पूर्व से लेकर पश्चिम तो उत्तर से लेकर दक्षिण तक के लोग यहां निवास करते हैं. बनारस में बंगाल, महाराष्ट्र और दक्षिण के सभी राज्यों के लोगों का बनारस में मोहल्ला है. न्यूज नेशन और न्यूज स्टेट का विशेष कार्यक्रम 'बनारस देखत हौ' हो रहा है. शहर बनारस कार्यक्रम में यूपी के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राम के नाम पर राजनीति नहीं करती है. 

यूपी के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा कि जीतता वही है जिसे जनता जिताती है. हमें जनता जिताती है. उन्होंने कहा कि अब तो विपक्ष के लोग भी राम का नाम ले रहे हैं. सतीश महाना ने कहा कि किसी के घर में बच्चा होता है तो ढोल बजाने के लिए लोग आ जाते हैं. मैं कभी जाति के आधार पर वोट नहीं मांगता है. सभी राजनीतिक दलों ने कहा कि ए हम ही हैं और वे बी ही रहेंगे.

उन्होंने कहा कि राम मंदिर को हम राजनीति से नहीं जोड़ते हैं. 2022 में विकास के नाम पर वोट पड़ेगे. बंगाल और उत्तर प्रदेश की राजनीति अलग है. राम इस देश की आत्मा और आस्था है. 2014 से पहले राजनीति में जातिवाद हावी थी. काशी को लेकर सतीश महाना ने कहा कि काशी अपने आप में आध्यात्मिक, ऐतिहासिक और सबसे बड़ा शहर है. काशी को गलियों का शहर कहा जाता था. पीएम मोदी के निर्वाचित होने के बाद काशी को सड़कों का शहर कहा जाता है. काशी भोलेनाथ की नजरी है. भोलेनाथ के दरबार तक पहुंचने में भक्तों को परेशानी होती थी, लेकिन कॉरिडोर बनने के बाद भक्त आसानी से भोलेनाथ का दर्शन कर लेते हैं.  

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम है कि अखिलेश यादव के कौन से एक्सप्रेस पर फोटो खिंचाते हैं. अखिलेश ने व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए पूर्वांचल टेंरर कर दिया, उनको लैंड एक्वायर करने की जल्दी नहीं थी. अखिलेश के पिता मुलायम सिंह ने कहा था कि तुम शिलान्यास करवा लेते हो, लेकिन उद्घाटन नहीं कर पाते हो. 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने आगे कहा कि मैं तीन मूल मंत्रों को लेकर काम करता हूं. पहला- मेरी पार्टी मुझे टिकट देती है और मुझ पर विश्वास करती है. दूसरा- कार्यकर्ताओं और जनता पर निष्ठावान, तीसरा- जो मुझे वोट करते हैं, उन पर निष्ठावान होता है. मैं जनता का काम करता हूं, इसलिए क्षेत्र की जनता मुझे जिताती है. महाना ने आगे कहा कि राजनीति के क्षेत्र में जनता के पैसे का दुरुपयोग करते थे. हमारी सरकार ने कहना है कि जनता का पैसा जनता के लिए उपयोग होना चाहिए. उन्होंने कहा कि 2017 से पहले निवेशक उत्तर प्रदेश में नहीं आना चाहता था.

यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जितने भी चुनाव हुए हैं, सभी चुनाव को हम जीते हैं. संगठन की संरचना बूथ स्तर पर है. उपचुनाव में भी बीजेपी की बड़ी जीत हुई है. सभी विधानसभा में बैठक करेंगे. उन्होंने कहा- संगठन की संरचना चुस्तदुस्त है. ये कोई ट्रस्ट नहीं है, ये संगठन है. बीजेपी में चेला बनाने के लिए नेता नहीं बनाए जाते हैं, जबकि देश के नेतृत्व करने के लिए नेता बनते हैं. इसलिए हम 2022 का चुनाव जीतेंगे.

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि संगठन का कार्यकर्ता राष्ट्रवाद के लिए काम करता है. हम तीन तलाक की बात करते हैं तो कहते हैं कि हम सांप्रदायिक हैं. एक हाथ में राष्ट्रवाद और दूसरे हाथ में विकासवाद का एजेंडा है. उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में कई बम विस्फोट होते थे, चोर गाय-भैंस चुरा लेते थे. एक नेता पंजाब भी चले थे तो उन्हें डर था कि कहीं गाड़ी न पलट जाए. 

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था चुस्तदुस्त है. गैस कनेक्शन, शौचालय, किसान सम्मान निधि, आयुष्मान पीएम नरेंद्र मोदी ने दिया है. उत्तर प्रदेश में कानून और विकास के नाम पर चुनाव लड़ेंगे. डबल इंजन सरकार की वजह से हर क्षेत्र में आगे हैं. विपक्ष को 400 सीटें कहां से आई हैं, क्या क्रब खोद कर लाएंगे. 2016 में कहा था कि सभी पूर्व मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री बने रहेंगे. विपक्ष को पहले ही हार का एहसास हो गया था.  

उन्होंने कहा कि हम अपने दम पर यूपी में सरकार बनाएंगे. सावन में पहली बार हवाई जहाज से पुष्पवर्षा की गई है. उन्होंने कहा कि देश की सारी कल्याण कारी योजनाओं को फायदा सभी जनता को मिल रहा है. हम सभी का विकास करना चाहते हैं. उत्तर प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ. यूपी की जनता नहीं चाहती है कि सपा-बसपा आए. 

उन्होंने कहा- देश में अधिकांश पार्टियां मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति करती हैं. मुसलमान भी समझदार है कि पीएम मोदी और सीएम योगी के नेतृत्व में हमारा विकास हो रहा है. अब कानून अपने हिसाब से काम कर रहा है. योगी सरकार में जो दोषी है वो सजा जरूर भुगतेगा. आपने गरीबों की संपत्ति जब्त की और इसकी लोगों को शिकायत की तो अब एक्शन हो रहा है.

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में गुंडे सरकार को चलाते थे. आज उत्तर प्रदेश में गुंडे एक भी गरीब का झोपड़पट्टी कब्जा नहीं कर सकते हैं. आज यूपी में न के बराबर घटना है. अगर कोई घटना घटती है तो तुरंत कार्रवाई होती है. आज रात में एक लड़की भी सुरक्षित निकल सकती है. यूपी में कानून का राज है. राज्य में हमारे 2 करोड़ सदस्य हैं. 

उन्होंने कहा कि यूपी में चुनाव के नाम पर चुनाव लड़ेंगे. प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी है. सभी ब्राह्मण पार्टी में नेतृत्व कर रहे हैं. बीजेपी परिवार की पार्टी नहीं है. मोदी के नेतृत्व में न जातिवाद है, न क्षेत्रवाद है और न ही परिवारवाद है. हम सपा, बसपा, कांग्रेस नहीं हैं. हम राम के अनुयायी हैं. हमारा काम है कि समाज को दिशा देना है. ये पार्टी सभी का है.  

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में हम रोज लोगों से मिलते हैं. हमें तो एक भी कार्यकर्ता नहीं मिलते हैं, जो गुस्से में है. सपा-बसपा शासन में क्या होता था, ये सबने देखा है. जितना बैकवर्ड वर्ग जुड़ा था वे अभी भी जुड़े हैं और 2022 में भी बीजेपी को वोटिंग करेंगे. अखिलेश कहते हैं कि छोटे-छोटे दल मेरे साथ हैं, लेकिन ये दल के नेता भी मेरे साथ चाय पीते हैं. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी को न कोई फायदा पहुंचाता है और न ही कोई नुकसान पहुंचाता है. पीएम मोदी और योगी जैसे नेता गरीबों की खुशहाली के लिए रातदिन मरते हैं. मोदी जी ने सात साल में एक भी दिन की छुट्टी नहीं ली है. कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक था, इसे योगी ने रोका. कोरोना काल में योगी ने रोज बैठक की. बुंदेलखंड में सबसे ज्यादा समस्या पानी की थी. बुंदेलखंड के सातों जिलों में पानी की व्यवस्था की गई है. बुंदेलखंड एक्सप्रेस की वजह से विकास हो रहा है. 

उन्होंने कहा कि पश्चिमी यूपी में किसान संगठन भी चुनाव लड़ा था, लेकिन मुजफ्फरनगर में भी नहीं जीत सके. बीजेपी संसदीय बोर्ड टिकट देने का निर्णय करता है. किन विधायक का टिकट कटेगा या नहीं, यह संसदीय बोर्ड फैसला करेगा. हम गरीब के लिए जीते हैं उनके लिए ही मरते हैं. सपा-बसपा इसलिए सत्ता में आती है कि इन्हें जनता को लूटना होता है.

बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि हमें वो बचपन भी याद है, जब हम साइकिल से बनारस ही चले जाते थे. हाईस्कूल के बाद हम पढ़ाई के लिए बनारस आ गए थे. हमने तो बनारस में पूरी गीत ही बना दी है. शहर बनारस तो हम लेकर चलते हैं. काशी सिर्फ एक शहर नहीं है, काशी एक सभ्यता और संस्कृति है. बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि काशी में अद्भुत विकास हुआ है. हम अभाव में भी काशी देखे और प्रभाव में भी काशी देखे हैं. सदियों बीत गई, लेकिन आज भी गंगा के भाव को नहीं भूले हैं. 

मनोज तिवारी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दोबारा बीजेपी का आना तय है. पिछले पांच साल में हुए परिवर्तन से हम मान चल रहे हैं कि यूपी में बीजेपी का कोई विकल्प ही नहीं है. उन्होंने कहा कि कोरोना से जो समस्या हुई है वो सबके सामने है. कोरोना एक वैश्विक समस्या थी. उसके बावजूद उत्तर प्रदेश ने भी कोरोना लड़ा है. हमें वो दिन याद है, जब दिल्ली में एक व्यक्ति को आक्सीजन की जरूरत पड़ी तो मैंने फोन किया तो जवाब मिला कि आक्सीजन के अलावा कुछ कहो. 

उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर उत्तर प्रदेश ने बेस्ट किया है. विपक्ष आज जनता से नाराज है. विपक्ष जनता से गुस्सा है, क्योंकि जनता बार-बार मोदी को चुन रही है. ये लोग खुद चुपके से वैक्सीन लगवा लिए, लेकिन लोगों में भ्रम फैलाया. मनोज तिवारी ने आगे कहा कि विपक्ष ने संसद नहीं चलने दिया है. पंचायत चुनाव में लोगों ने बीजेपी को भरपूर समर्थन दिया है. जिनको वैक्सीन पर आपत्ति है, क्या वो एटीएस पर चुप रहेगा.  

उन्होंने कहा कि अब हर जिले में एटीएस काम करेगा. हम तो खुशी देना चाहते हैं, सबका साथ, सबका विकास. अखिलेश यादव मुस्लिम वोट तो चाहते हैं, लेकिन अब्बाजान से उन्हें आपत्ति है. बीजेपी का फोकस सिर्फ विकास पर है. सबका साथ, सबका विकास के साथ सबका प्रयास जोड़ दिया है. बाह्मण क्यों नाराज हो गया. बाह्मण को तो आरक्षण मिल गया है. यहां वर्ण के नाम पर लोग जाने जाते थे. आज शुद्र का गलत परिभाषा बना दिया गया है. हम तो उस काल के शुद्र ही तो हैं. 

मनोज तिवारी ने कहा कि योगी सरकार भ्रय मुक्त उत्तर प्रदेश दे रही है. अभी हमें टॉप जाना है. जबतक हम हर हाथ को काम नहीं दे देंगे, तबतक बीजेपी चुप नहीं बैठेगी. मनोज तिवारी ने कहा कि मैं गीतों को सोच समझ कर लिखता हूं, मेरे चार गाने कानून बन गए हैं. बनारस शहर कार्यक्रम में मनोज तिवारी ने गाना भी गाया.

उन्होंने आगे कहा कि पॉक्सो कानून लेकर आए. अगर मेरी पार्टी कोई गलती करेगा तो सबसे पहले मैं ही बोलूंगा. बंगाल में जीत के बाद लोगों को मार रहे हैं. अपनी पार्टी को बढ़ाओ, लेकिन जनता पर ध्यान जरूर दो. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान भाई-बहन से हम लगातार बात कर रहे हैं. कहते थे कि एमएसपी खत्म हो जाएगा, लेकिन अब तो एमएसपी तो बढ़ गया है. किसान का कोई नुकसान नहीं कर रहे हैं.

मनोज तिवारी ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री ने कम हो खेत के भाव को समझ लिया है तो इसमें क्या दिक्कत है. मैं भी किसान हूं. मेरी मां 82 साल उम्र में खेती कर रही है. किसान पीएम मोदी से सबसे ज्यादा हितेशी है. केंद्र की कल्याणकारी योजनाओं का सभी को फायदा मिल रहा है. अब विपक्ष लोगों को भ्रमित नहीं कर सकता है. हम छिपाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं.  उन्होंने कहा कि हम राहुल गांधी जैसे नहीं है कि कुर्सी तो हमरा बाबू के बा, वो कैसे बैठ गईल बा. 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि तीन साल में भारत की सड़कें अमेरिका स्टाइल में बनेंगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली से आसपास के राज्यों की दूरी कम होगी. दिल्ली का एक रिंग रोड बंद पड़ा था, एलजी के साथ चर्चा कर उनका भी काम शुरू करा दिया है. देश के 17 जगहों पर सड़क पर हवाई जहाज उतार सकते हैं. सड़क से समृद्धि आती है. 

उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण कम हुए हैं. दिल्ली से देहरादून 2 घंटे में पहुंचेंगे. हम नई सड़क से इनकर्म भी बढ़ाता हूं. मैं 35 से 40 लाख करोड़ तक की सड़कें बना चुका हूं. उन्होंने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस पर काम जारी है. मैं लद्दाख-लेह तक 4 टर्नर बना रहा हूं. उन्होंने कहा कि हमने तीन वर्ड रिकार्ड किए हैं. सड़कें अच्छी रहेंगी तो रोजगार भी बढ़ेंगे. 

उन्होंने कहा कि तीन साल में 100 किमी रोजाना सड़क बनाने का टारगेट है. भारतीय सड़कें अमेरिकी स्टैंडड होंगी. नितिन गडकरी ने कहा कि जब मैं एथेनाल और वायो फ्यूज की बात करता था तो लोग मजाक उड़ाते थे. हमारी एमएसपी दूसरी देशों के मुकाबले ज्यादा है. अगर देश के 15 लाख करोड़ बाहर जाएंगे तो क्या स्थिति होगी. 

उन्होंने कहा कि ओली को लेकर एक प्रोजेक्ट है. सरकार ने फैसला लिया है कि एक लीटर पेट्रोल में 200 मीटर एथोनॉल डालेंगे. सागरमाला और भारतमाला का प्रोजेक्ट जारी है. जल्दी ही देश में एथोनॉल जरूरी हो जाएगी. हम कचरे से बायो सीएनजी निकाल सकते हैं. इथेनॉल से किसान की किसमत बदलेगी. आने वाले दिनों में बस और ट्रैक्टर बायो सीएनजी से चलेंगे. 

गडकरी ने कहा कि पेट्रोल पंप पर अगले छह महीने में पेट्रोल के साथ एथोनॉल भी मिलेगा. पुरानी गाड़ियों में भी एथोनॉल का यूज हो सकता है. अगले महीने से इलेक्ट्रॉनिक ट्रैक्टर भी लॉन्च होगा. उन्होंने कहा कि भारत ग्रीन हाईड्रोजन का भी एक्सपोट करेगा. ग्रीन हाईड्रोजन समुद्र के पानी से तैयार होगा. टॉयलेट का पानी शुद्ध करके ग्रीन हाईड्रोजन तैयार करूंगा. आज ग्रीन हाईड्रोजन 3 सौ 50 रुपये किलो में मिलता है. ट्रक और बसें भी ग्रीन हाईड्रोजन भी चलेंगी.

उन्होंने कहा कि फास्ट ट्रैक पर हमारी टेक्नॉलॉजी सही है. इसमें कोई गड़बड़ी नहीं करता है. हमारा 90 प्रतिशत कलेक्शन फास्ट ट्रैक से हो रहा है. अभी गाड़ी में एक जीपीएस लगेगा, जोकि सैटेलाइट से जुड़ा रहेगा. तब गाड़ी तो नहीं रुकना पड़ेगा और पैसा अपने आप अकाउंट से कट जाएगा. उन्होंने कहा कि जोजिला टनल बनने से 5 हजार करोड़ बने हैं.

गडकरी ने कहा कि हम नेपाल बार्डर तक सड़क बना रहे हैं. लखनऊ से अयोध्या तक बहुत अच्छी सड़क है. अयोध्या के सारे रोड बनाए हैं. गंगा को सबसे ज्यादा हरिद्वार प्रदूषत कर रहा है. अभी 80 प्रतिशत गंगा शुद्ध हुई है. अब गंगा का जलमार्ग भी बन गया है. हम इथेनॉल के उत्पादन पर काम कर रहे हैं. इथेनॉल से शुगर इंडस्ट्री में जान आएगी.

उन्होंने कहा कि 15 साल के बाद गाड़ी की फिटनेट टेस्ट होगी. पुरानी गाड़ियों में सुरक्षा नहीं है. दिल्ली में प्रदूषण की वजह से हम बार-बार बीमार हो रहे हैं. गाड़ी स्कैप होने पर कॉपर, एलुमिनियम निकलेगा. आटो मोबाइल इंडस्ट्री अपना 50 प्रतिशत प्रोडक्ट बेचती है. गडकरी ने कहा कि इस देश के लोकतंत्र में मजबूत विपक्ष की भी जरूरत है. अगर लोकतंत्र की गाड़ी अच्छी तरह से चले तो विपक्ष का मजबूत होना जरूरी है.  

नितिन गडकरी ने कहा कि मीडिया भी लोकतंत्र का स्तम्भ है. अगर कोई गलत है तो उसका आपलोग भी बहिष्कार करिये. अयोध्या से लखनऊ तक एक्सप्रेस-वे बनाएंगे. संसद नहीं चलने दिया गया. योगी के नेतृत्व में यूपी में बहुत अच्छा काम हुआ है. पिछले साल में गुंडा के खिलाफ एक्शन, बिजली, उद्योगों का विकास हुआ है. निश्चित रूप से यूपी की जनता दोबारा बीजेपी को चुनेगी.

 

 

 

 

First Published : 18 Aug 2021, 01:10:49 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.