News Nation Logo
Banner

योगीराज में दबंगों का कहर, घर में सो रहे पत्रकार और उसके साथी को जिंदा जलाया

पिंटू साहू का पूरा शरीर राख हो चुका था. राकेश आग की लपटों से पूरी तरह घिरे थे. धमाके से कमरे की दीवार ढह चुकी थी. राकेश किसी तरह बाहर निकल आए, उनका शरीर 90 प्रतिशत जल चुका था.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 29 Nov 2020, 12:17:46 PM
fire

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त रवैये के बावजूद राज्य में अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इसी कड़ी में प्रदेश के बलरामपुर से एक बेहद ही सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिसे जानने के बाद आपकी रूह कांप जाएगी. बलरामपुर में दबंगों ने एक पत्रकार और उसके साथ को जिंदा जला दिया. वारदात के समय पत्रकार अपने एक साथी के साथ घर में ही मौजूद था.

रिपोर्ट्स के मुताबिक बुरी तरह से झुलसने के बाद पत्रकार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसने अपने बयान में दबंगों पर जलाने का आरोप लगाया था. इसके अलावा पत्रकार के पिता ने भी दबंगों पर घर में घुसकर उनके बेटे और उसके साथी पर बम से हमला किए जाने का आरोप लगाया है. इस पूरे मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है.

ये भी पढ़ें- हैवान ससुर ने बहू को बनाया हवस का शिकार, बेटे ने किया विरोध तो मार दी गोली

पुलिस अधीक्षक (एसपी) बलरामपुर देवरंजन वर्मा ने बताया कि कलवारी गांव निवासी पत्रकार राकेश सिंह निर्भीक व उनके साथी पिंटू साहू की कमरे में जलने से मौत हुई है. घटना संदिग्ध है. पूरे मामले की गहराई से छानबीन की जा रही है. तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इन तीनों में एक वर्तमान और एक पूर्व प्रधान शामिल हैं. शीघ्र ही घटना के कारणों का खुलासा कर दिया जाएगा.

स्थानीय लोगों के अनुसार, देहात क्षेत्र के कलवारी निवासी राकेश सिंह निर्भीक अपने दोस्त कोतवाली नगर के विशुनीपुर निवासी पिंटू साहू के साथ बेडरूम में सोए थे. शुक्रवार देर रात करीब 11 बजे लोगों ने उनके मकान में आग की लपटें देखीं. पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पिंटू साहू का पूरा शरीर राख हो चुका था. राकेश आग की लपटों से पूरी तरह घिरे थे. धमाके से कमरे की दीवार ढह चुकी थी. राकेश किसी तरह बाहर निकल आए, उनका शरीर 90 प्रतिशत जल चुका था.

ये भी पढ़ें- महिला ने खुद को आग लगाकर की आत्महत्या, बचाने के बजाए वीडियो बनाता रहा पति

दमकल से किसी तरह आग बुझाई गई. राकेश को इलाज के लिए लखनऊ केजीएमयू रेफर कर दिया गया. वहां इलाज के दौरान शनिवार सुबह उनकी मौत हो गई. डीआईजी, डीएम व एसपी ने घटना स्थल का जायजा लिया. मौके पर फॉरेंसिक टीम ने जांच की है. राकेश के पिता मुन्ना सिंह का कहना है कि शुक्रवार रात पीछे के रास्ते घर में घुसकर कुछ लोगों ने कमरे में बम फेंका था, जिससे राकेश व उनके दोस्त पिंटू की झुलसकर मौत हुई है.

First Published : 29 Nov 2020, 12:17:46 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.