News Nation Logo

IPS मुकुल गोयल ने ग्रहण किया यूपी के DGP का चार्ज, विभाग को दी ये बड़ी सलाह

मुकुल गोयल (IPS Mukul Goyal) इससे पहले बीएसएफ में तैनात थे. 1987 बैच के आईपीएस अफसर मुकुल गोयल मूल रूप से यूपी के शामली के रहने वाले हैं. मुकुल गोयल आईआईटी दिल्ली से बीटेक हैं और एमबीए भी हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 02 Jul 2021, 01:42:31 PM
IPS Mukul Goyal

IPS Mukul Goyal (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • यूपी के नए डीजीपी से न्यूज नेशन ने की बातचीत
  • डीजीपी बोले- जनता के समर्थन से कम होगा क्राइम
  • डीजीपी ने छोटी घटनाओं को नजरअंदाज नहीं करने की सलाह दी

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के नए पुलिस महानिदेशक (DGP) के रुप में 1987 बैच के आईपीएस मुकुल गोयल (IPS Mukul Goyal) ने पदभार संभाल लिया है. बुधवार शाम को योगी सरकार ने इस सबंध में आदेश जारी कर दिया है. मुकुल गोयल इससे पहले बीएसएफ में तैनात थे. 1987 बैच के आईपीएस अफसर मुकुल गोयल मूल रूप से यूपी के शामली के रहने वाले हैं. मुकुल गोयल आईआईटी दिल्ली से बीटेक हैं और एमबीए भी हैं. डीजीपी का पदभार संभालने के बाद न्यूज नेशन ने उनसे बातचीत की. इस बातचीत में किसान आंदोलन और क्राइम रेट को कम करने सहित तमाम मुद्दों पर बातचीच हुई. 

ये भी पढ़ें- Facebook ने यूजर्स से पूछा, क्या कोई दोस्त ऑनलाइन 'चरमपंथी' बन रहा है?

न्यूज नेशन से बात करते हुए डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाए रखने में सबकी सहयोग की जरूरत होगी. उन्होंने कहा कि क्राइम कंट्रोल बिना जनता के सहयोग के सम्भव नहीं है. नए डीजीपी ने कहा कि हमारे अधिकारी और कर्मचारी जनता के साथ आत्मीय और सहयोगी बनें. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को भी सलाह देते हुए कहा कि कभी कभी छोटी घटनाएं बड़ी वारदात बन जाती हैं,
इसलिए छोटी घटनाओं की अनदेखी नहीं होनी चाहिए.

डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा कि छोटी घटनाएं कैसे बड़ी बन जाती हैं इसका सबसे अच्छा उदाहरण कानपुर के बिकरू गांव में हुई घटना है. उन्होंने कहा कि बिकरुकाण्ड जब हुआ था, तब मैं UP से बाहर तैनात था. ये घटना एक बैड चैप्टर है. पुलिस और अपराधी का गठजोड़ कई बार बड़ी आपराधिक वारदात की वजह बन जाता है. उन्होंने कहा कि हम इसे खत्म करने की कोशिश करेंगे. छोटी घटनाओं की भी अनदेखी नहीं की जाएगी. क्योंकि कई बार ऐसा देखने को आया है कि छोटी घटना की अनदेखी बड़ी वारदात की वजह बन जाती है.

ये भी पढ़ें- चाचा को फंसाने के लिए मुनव्वर राना के बेटे ने रची थी साजिश, UP पुलिस ने किया खुलासा

किसान आंदोलन को लेकर नए डीजीपी ने कहा कि लोकतंत्र में सबको आंदोलन करने का हक है. यदि किसान आंदोलन अगर शांतिपूर्ण तरीके से चलता है तो हमें कोई आपत्ति नहीं है. इसके अलावा धर्मांतरण मुद्दे को लेकर उन्होंने कहा कि अवैध रूप से धर्मान्तरण के मामले को हम देख रहे हैं, जो दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा. कम्युनल घटनाओं पर डीजीपी ने कहा कि पुलिस अगर सही ढंग से अपना काम करेगी, तो ऐसी घटनाओं पर रोक लग सकती है. ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सभी की जिम्मेदारी तय की जाएगी.

First Published : 02 Jul 2021, 01:15:49 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.