News Nation Logo
Banner

फिरोजाबाद में डेंगू-बुखार का कहर जारी, CM योगी ने CMO को हटाया

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल बुखार कहर जारी है. इस बीमारी से अब तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें करीब 45 मासूस बच्चे शामिल हैं. फिरोजाबाद में बढ़ रहे खतरे को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने सीएमओ को हटा दिया

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 01 Sep 2021, 03:51:32 PM
cm yogi

सीएम योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • ICMR की 11 सदस्यीय टीम ने सैम्पल्स की जांच की
  • जांच में कोरोना वायरस का कोई प्रभाव नहीं है
  • मेडिकल कॉलेज में विशेष डॉक्टर्स की टीम भेजने के आदेश 

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल बुखार कहर जारी है. इस बीमारी से अब तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें करीब 45 मासूस बच्चे शामिल हैं. फिरोजाबाद में बढ़ रहे खतरे को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने सीएमओ को हटा दिया है और 11 विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम भेजा है. ICMR की 11 सदस्यीय टीम ने फिरोजाबाद पहुंचकर सैम्पल्स की जांच की. इस जांच में कोविड का प्रभाव नहीं है. मुख्यमंत्री ने शहरी एवं ग्रामीण निकायों को क्षेत्र में साफ सफाई करने के निर्देश दिए हैं. मेडिकल कॉलेज में विशेष डॉक्टर्स की टीम भेजने के आदेश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें : Closing Bell 1 Sep 2021: ऊपरी स्तरों पर मुनाफावसूली से लुढ़का शेयर बाजार, 214 प्वाइंट गिरकर बंद हुआ सेंसेक्स

मुख्यमंत्री के आदेशानुसार, अस्पतालों में भर्ती बच्चों का मुफ्त इलाज करवाया जा रहा है. फिरोजाबाद घटना की जानकारी मिलते ही दो दिन पूर्व ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संवेदना दिखाते हुए सबसे पहले अस्पताल का निरीक्षण करके प्रशासन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए थे.

मुख्यमंत्री ने फिरोजाबाद में जाना मरीजों का हाल, मृतकों के परिजनों से भी मिले

आपको बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना संकट के बीच यूपी के फिरोजाबाद के कुछ मोहल्लों में संदिग्ध डेंगू और वायरल फीवर से कई लोगों की मौत हो गई. इस मामले का निरीक्षण करने खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने राजकीय मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जाना था. इसके बाद वह उन क्षेत्रों में गए, जहां वायरल बुखार से मरीजों की मौत हुई है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की थी और मरीजों का हाल जाना था.

यह भी पढ़ें : ममता बनर्जी के भतीजे अभीषेक बनर्जी की पत्नी नहीं पहुंचीं ईडी दफ्तर, भेजा जवाब

योगी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पहला केस आने के बाद तेजी से आठ नौ मोहल्लों में संदिग्ध डेंगू के मामले मिले. स्थानीय स्तर पर जागरूकता न होंने के कारण यह मामले बढ़े. लोग प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवा रहे थे. स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को जानकारी मिली तो उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया. मेडिकल कॉलेज में सेपरेट वार्ड बनाया गया. कोविड हॉस्पिटल को मरीजों के लिए खोला गया.

योगी ने कहा कि यूपी सरकार से सर्वलांस की टीम से जांच करा रहे हैं. संदिग्ध डेंगू से जुड़े हैं या और अन्य मामला है. उपचार के निर्देश दिए हैं. हर मरीज को सरकारी अस्पताल एम्बुलेंस से पहुंचाया जाएगा. सारी रिपोर्ट ली है. स्थिति का अवलोकन खुद करने आया हूं. हर शख्स की जिम्मेवारी तय की जाएगी.

फीरोजाबाद मेडिकल कालेज का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुदामा नगर पहुंचे थे. यहां पहुंचकर पांच मिनट में चार परिवार के सदस्यों से ली जानकारी. एक ही घर में बुला लिए गए थे चारों परिवार. इसे लेकर सीएमओ डॉ. नीता ने बताया था कि वायरल बुखार और डेंगू के कारण कई लोगों की मौत हो गई है, अभी जांच हो रही है.

यह भी पढ़ें : बहन से रेप के आरोप में दो साल कैद रहा, अब बहन ने सनसनीखेज खुलासा

बता दें कि डेंगू और वायरल बुखार का प्रकोप सुहाग नगरी में पैर पसार चुका है. लगातार लोगों की जान बुखार के कारण जा रही है. ब्रज में एक महीने से बेकाबू बुखार से हालात दिनोंदिन बिगड़ते जा रहे हैं. अब तक फीरोजाबाद में फील्ड में जाने से परहेज कर रहे अफसर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद दौड़े, तो हालात भयावह मिले.

First Published : 01 Sep 2021, 03:47:12 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×