News Nation Logo

भव्य राम मंदिर में एक हजार वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे रामलला, नींव में नहीं लगेगा लोहा

यह मंदिर 1000 साल तक इस सृष्टि के आंधी-तूफान को सहता रहेगा. इसलिए निर्माण में उसी तरह की तकनीकी का इस्तेमाल भी होगा.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 08 Aug 2020, 08:33:45 AM
Ram Lala Ayodhya

राम लला हजारों साल तक रहेंगे भव्य मंदिर में सुरक्षित. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

अयोध्या:

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि अयोध्या (Ayodhya Ram Mandir)  में ऐसा भव्य राम मंदिर बनेगा, जिसमें रामलला एक हजार वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे. फिलहाल रामलला मंदिर (Ram Lala Temple) की नींव की ड्राइंग बनकर तैयार है. निर्माण के लिए एलएनटी कंपनी तैयार है. चंपत राय ने यहां बताया कि अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण का काम चंद रोज में शुरू हो जाएगा. राम मंदिर निर्माण कार्य के बारे में जानकारी देते हुए राय ने बताया कि अब तकनीकी काम है. यह मंदिर 1000 साल तक इस सृष्टि के आंधी-तूफान को सहता रहेगा. इसलिए निर्माण में उसी तरह की तकनीकी का इस्तेमाल भी होगा.

यह भी पढ़ेंः विमान हादसा: खौफनाक था मंजर, चीख-पुकार और एंबुलेंस के सायरन की आवाज से दहल उठा था इलाका

नक्शा पास कराने के बाद होगा निर्माण
उन्होंने कहा कि लार्सन टूब्रो के लोग नींव की ड्राइंग तैयार करने आए थे. निर्माण में लोहे का प्रयोग नहीं होगा. अयोध्या विकास प्राधिकरण से 70 एकड़ भूमि में जितना निर्माण हो सकता है, उसका नक्शा पास होगा. राय ने कहा कि निर्माण कंपनी ने अभी तक ट्रस्ट के सामने ड्राइंग पेश नहीं की है. ड्राइंग देखने के बाद नींव खोदाई और उसको भरने का कार्य शुरू होगा. मंदिर की नींव दो सौ फीट नीचे होगी. इस मंदिर की नींव में लोहे का प्रयोग नहीं होगा. इसकी नींव की खुदाई में जो भी कुछ मिलेगा, उसके लिए ट्रस्ट सतर्क रहेगा. ट्रस्ट अब विकास प्राधिकरण से यहां के संपूर्ण 70 एकड़ क्षेत्र का नक्शा पास कराएगा.

यह भी पढ़ेंः खतरे को भांप गए थे पायलट? एयरपोर्ट के कई चक्कर लगाने के बाद की लैंडिंग

30 करोड़ रुपए चंदा आया
चंपत राय ने कहा, 'रामलला की जन्मभूमि पर बड़ी संख्या में प्राचीन अवशेष मिलने की उम्मीद है. हम उसको सहेज के रखेंगे.' उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए बड़ी संख्या में दानदाता सामने आ रहे हैं. जब राम जन्मभूमि परिसर की जिम्मेदारी ट्रस्ट को सौंपी गई थी, तो रामलला के पास मात्र 12 करोड़ रुपये की जमा पूंजी थी. अब यह 30 करोड़ के करीब पहुंच गई है. शिला-पूजन के दिन रामलला को 49,000 रुपये का दान मिला था. राय ने स्पष्ट रूप से कहा कि अभी विदेशों से दान नहीं लिया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः राजस्थानः विधायक खरीद फरोख्त मामले में एक महीने बाद लगी FR, हटीं राजद्रोह की धाराएं

मोरारी बापू के सहयोग से मिले 11 करोड़
उन्होंने यह भी बताया कि शिवसेना की पर्ची मिली है और एक करोड़ रुपये आ गए हैं, जो उद्धव ठाकरे के सहयोग से आए हैं और पैसा भेजने का वादा भी उन्होंने किया है. चंपत राय ने कहा कि मोरारी बापू के सहयोग से 4 दिन में 11 करोड़ रुपये ट्रस्ट में आए. गुजरात के एक बनवासी संत हैं, उन्होंने 51 लाख रुपये देने की बात कही है और 11 लाख रुपये 5 तारीख को दे भी दिए हैं. उन्होंने कहा कि जगत गुरु रामभद्राचार्य ने भी एक करोड़ 51 लाख रुपये लिख लेने को कह दिया है, अभी प्राप्त नहीं हुआ है. बाबा रामदेव ने कितना दिया? यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा बाबा रामदेव हमारे घर के हैं, हमने अभी उनसे मांगा नहीं है, जल्द मांगेंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 08 Aug 2020, 08:33:45 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.