News Nation Logo
Breaking
उत्तराखंड : बारिश के दौरान चारधाम यात्रा बड़ी चुनौती बनी, संवेदनशील क्षेत्रों में SDRF तैनात आंधी-बारिश को लेकर मौसम विभाग ने दिल्ली-NCR के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया राजस्थान : 11 जिलों में आज आंधी-बारिश का ऑरेंज अलर्ट, ओला गिरने की भी आशंका बिहार : पूर्णिया में त्रिपुरा से जम्मू जा रहा पाइप लदा ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, 8 घायल पर्यटन बढ़ाने के लिए यूपी सरकार की नई पहल, आगरा मथुरा के बीच हेली टैक्सी सेवा जल्द महाराष्ट्र के पंढरपुर-मोहोल रोड पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत- 3 की हालत गंभीर बारिश के कारण रोकी गई केदारनाथ धाम की यात्रा, जिला प्रशासन के सख्त निर्देश आंधी-बारिश के कारण दिल्ली एयरपोर्ट से 19 फ्लाइट्स डाइवर्ट
Banner

उत्तर प्रदेश को छोटे-छोटे राज्यों में विभाजित करने की मांग फिर उठने लगी, बसपा सांसद ने दिया यह सुझाव

बहुजन समाज पार्टी के सांसद कुंवर दानिश अली ने बेहतर शासन और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए उत्तर प्रदेश को छोटे राज्यों में विभाजित करने का शनिवार को सुझाव दिया.

Bhasha | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 12 Jul 2020, 07:54:50 AM
Kunwar Danish Ali

BSP सांसद ने UP को छोटे राज्यों में विभाजित करने का सुझाव दिया (Photo Credit: फ़ाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को एक बार फिर छोटे-छोटे राज्यों में विभाजित करने की मांग उठने लगी है. बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) के सांसद कुंवर दानिश अली ने बेहतर शासन और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए उत्तर प्रदेश को छोटे राज्यों में विभाजित करने का शनिवार को सुझाव दिया. उल्लेखनीय है कि 2011 में मायावती (Mayawati) नीत बसपा सरकार ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्य को चार हिस्सों (बुंदेलखंड, पूर्वांचल, अवध प्रदेश और पश्चिम प्रदेश) में विभाजित करने का एक प्रस्ताव पारित किया था. प्रस्ताव को बाद में केंद्र में तत्कालीन कांग्रेस नीत संप्रग सरकार को भेजा गया था.

यह भी पढ़ें: अशोक गहलोत के हाथ से निकल रही राजस्थान सरकार, पायलट समर्थक 24 विधायक होटल पहुंचे

दानिश अली ने ट्वीट किया, ‘बहन मायावती जी के नेतृत्व वाली बसपा सरकार के दौरान उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्य के विभाजन के लिए प्रस्ताव पारित किया गया था और उसे भारत सरकार को भेजा गया था. केंद्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकारें इस पर निर्णय लें.’

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने पीएम मोदी से फिर किया सवाल, पीएम केयर्स फंड की जानकारी क्यों नहीं दे रहे हैं

प्रदेश के अमरोहा से लोकसभा सदस्य दानिश अली ने कहा कि इस विभाजन से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोग कहीं अधिक खुश होंगे और सहज महसूस करेंगे. उन्होंने कहा कि राज्य को छोटे हिस्सों में बांटने से बेहतर शासन और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें: हार्दिक पटेल गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष बने, सोनिया गांधी ने दी मंजूरी 

इस बीच, उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से 22 जून से लद्दाख में लापता हुए भारतीय इंजीनियरिंग सेवा (आईईएस) के अधिकारी सुभान अली के खोज अभियान में तेजी लाने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि सुभान अली जिस वाहन से यात्रा कर रहे थे, वह एक गहरी खाई में गिर गया था और द्रास नदी की धारा के साथ बह गया था.

यह वीडियो देखें: 

First Published : 12 Jul 2020, 07:49:00 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.