News Nation Logo

कांग्रेस की डॉक्यूमेंट्री पर विवाद शुरू, मायावती ने लगाया बड़ा आरोप

कोरोना काल के दौर में कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की प्रवासी श्रमिकों से पिछले दिनों हुई मुलाकात पर एक डॉक्यूमेंट्री जारी करने पर बवाल शुरू हो गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Ns | Updated on: 23 May 2020, 02:52:41 PM
Mayawati

कांग्रेस की डॉक्यूमेंट्री पर विवाद शुरू, मायावती ने लगाया बड़ा आरोप (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

कोरोना काल के दौर में कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की प्रवासी श्रमिकों से पिछले दिनों हुई मुलाकात पर एक डॉक्यूमेंट्री जारी करने पर बवाल शुरू हो गया है. राहुल गांधी की इस डॉक्यूमेंट्री पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती (Mayawati) ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है और कोरोना लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा के लिए उसे जिम्मेदार ठहराया है. मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि आज पूरे देश में कोरोना लॉकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है, उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है.

यह भी पढ़ें: Alert: 12 दिनों में दोगुने हो रहे कोरोना संक्रमित, WHO की सलाह ये राज्य न दें लॉकडाउन में छूट

बसपा प्रमुख मायावती ने शनिवार को एक के बाद एक चार ट्वीट किए. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'आज पूरे देश में कोरोना लॉकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है, उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है. क्योंकि आजादी के बाद इनके लंबे शासनकाल के दौरान अगर रोजी-रोटी की सही व्यवस्था गांव/शहरों में की होती तो इन्हें दूसरे राज्यों में क्यों पलायन करना पड़ता?'

मायावती ने ट्वीट में लिखा, 'वैसे ही वर्तमान में कांग्रेसी नेता द्वारा लॉकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने सम्बंधी जो वीडियो दिखाया जा रहा है, वह हमदर्दी वाला कम व नाटक ज्यादा लगता है. कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता.'

यह भी पढ़ें: दिल्ली सरकार के विज्ञापन को लेकर विवाद, सिक्किम को बताया अलग देश

उन्होंने केंद्र और राज्यों की बीजेपी सरकारों को सलाह देते हुए ट्वीट में लिखा, 'साथ ही, बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकारें कांग्रेस के पदचिन्हों पर ना चलकर, इन बेहाल घर वापसी कर रहे मजदूरों को उनके गांवों/शहरों में ही रोजी-रोटी की सही व्यवस्था करके उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की नीति पर यदि अमल करती हैं तो फिर आगे ऐसी दुर्दशा इन्हें शायद कभी नहीं झेलनी पड़ेगी.'

एक अन्य ट्वीट में बसपा मुखिया ने लिखा, ' बीएसपी के लोगों से भी पुनः अपील है कि जिन प्रवासी मजदूरों को उनके घर लौटने पर उन्हें गांवों से दूर अलग-थलग रखा गया है तथा उन्हें उचित सरकारी मदद नहीं मिल रही है तो ऐसे लोगों को भी अपना मानकर उनकी भरसक मानवीय मदद करने का प्रयास करें. मजलूम ही मजलूम की सही मदद कर सकता है.'

यह भी पढ़ें: ब्रिटिश अदालत का अनिल अंबानी को चीन के तीन बैंकों को 71.7 करोड़ डॉलर का भुगतान करने का आदेश

गौरतलब है कि लॉकडाउन के कारण ट्रेन और बसों के बंद होने के बाद प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने-अपने घरों को निकल पड़े थे. विभिन्न जगहों पर हुए हादसों में कई मजदूरों की मौत भी हो गई. इस बीच राहुल गांधी ने प्रवासी मजदूरों से कुछ दिनों पहले मुलाकात की थी. अब कांग्रेस ने इस मुलाकात पर डॉक्यूमेंट्री जारी की है, जिसमें राहुल गांधी ने कहा कि गरीबों और मजदूरों को न्याय दिया जाए और देश के आर्थिक रूप से कमजोर 13 करोड़ परिवारों में से प्रत्येक को 7500 रुपये की मदद दी जाए.

यह वीडियो देखें: 

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 23 May 2020, 01:52:18 PM