News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

सीएम योगी पूर्वांचल के गन्ना किसानों को 9 दिसंबर को देंगे बड़ी सौगात, जानें क्या

मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने पूर्वांचल के गन्ना किसानों को बस्ती के मुंडेरवा और गोरखपुर के पिपराइच में चीनी मिलों की सौगात दी थी.अब ये दोनों मिलें चीनी उत्पादन के क्षेत्र में एक नया सोपान जोड़ने जा रही हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 08 Dec 2020, 06:52:09 PM
cm yogi

सीएम योगी पूर्वांचल के गन्ना किसानों को 9 दिसंबर को देंगे बड़ी सौगात (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली :

मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने पूर्वांचल के गन्ना किसानों को बस्ती के मुंडेरवा और गोरखपुर के पिपराइच में चीनी मिलों की सौगात दी थी. अब ये दोनों मिलें चीनी उत्पादन के क्षेत्र में एक नया सोपान जोड़ने जा रही हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उद्घाटित पिपराइच व मुंडेरवा चीनी मिलें वर्तमान पेराई सत्र में सल्फरलेस चीनी का उत्पादन करेंगी. उत्तर प्रदेश राज्य चीनी एवं गन्ना विकास निगम लिमिटेड की दोनों चीनी मिलों में सल्फरलेस शुगर प्लांट का उद्घाटन बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे.

मुंडेरवा चीनी मिल में 9 दिसंबर को दोपहर 12 बजे व पिपराइच चीनी मिल में 1 बजे मुख्यमंत्री द्वारा सल्फरलेस शुगर प्लांट का लोकार्पण होना है, इस दौरान प्रदेश के गन्ना विकास व चीनी मिल विभाग के मंत्री सुरेश राणा भी मौजूद रहेंगे.

चीनी की निर्यात की संभावनाएं अधिक होती है

उत्तर प्रदेश में पहली बार निगम क्षेत्र में सल्फरलेस चीनी का उत्पादन होने जा रहा है. सल्फरलेस उत्पादित होने वाली चीनी की निर्यात की संभावनाएं अधिक होती है. इसके लिए पिपराइच व मुंडेरवा की चीनी मिलों में करीब 25-25 करोड़ रुपये के अत्याधुनिक प्लांट लगाए गए हैं.

इसे भी पढ़ें:भारत बंद के आगे झुकी मोदी सरकार : किसान नेता 

सूबे की कमान संभालने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर-बस्ती मंडल के गन्ना किसानों को पिपराइच व मुंडेरवा चीनी मिलों की सौगात दी थी. इन दोनों ही चीनी मिलों का पेराई का लक्ष्य 65 लाख क्विंटल है, दोनों ही मिलों की 50-50 हजार क्विंटल गन्ना पेराई प्रतिदिन की क्षमता है.

25-25 करोड़ रुपये की लागत की टरबाइन

सल्फरलेस चीनी बनाने के लिए पिपराइच व मुंडेरवा की चीनी मिलों में अत्याधुनिक टरबाइन लगाई गई है. इनके निर्माण पर तकरीबन 25-25 करोड़ रुपये की लागत आई है. नई टरबाइन में चीनी की सफाई के लिए कार्बन-डाई-ऑक्साइड का इस्तेमाल होगा. यह कार्बन डाई-आक्साइड चीनी मिलों को डिस्टिलरियों से मुफ्त मिल जाएगी.

और पढ़ें:मोदी सरकार ने CM केजरीवाल को किया हाउस अरेस्ट, AAP का बड़ा आरोप

स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है सल्फ़र

चीनी उत्पादन की परम्परागत तकनीक में गन्ने के रस को साफ करने के लिए चूने के साथ ही सल्फर डाई ऑक्साइड का इस्तेमाल होता है. चीनी बनने के बाद भी सल्फर का कुछ अंश इसमें रह जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है. इसकी वजह से विदेशों में सल्फरयुक्त चीनी प्रतिबंधित है.

First Published : 08 Dec 2020, 06:52:09 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.