News Nation Logo

VIDEO:बेंगलुरू हिंसा का एक पहलू ये भी, जहां दिखा असली हिन्दुस्तान

बेंगलुरू हिंसा के के दौरान कुछ मुस्मिल युवक एक हम्यूमन चेन बनाकर एक मंदिर को बचाने की कोशिश में लगे हुए थे. ये युवक दंगाई भीड़ के बीच में एक दूसरे का हाथ पकड़े हुए वहां पर स्थित हनुमान मंदिर को बचाने के लिए चारो ओर से घेरकर खड़े हो गए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 12 Aug 2020, 07:41:27 PM
human chain at temple

मुस्लिम युवकों ने चेन बनाकर की मंदिर की रक्षा (Photo Credit: एएनआई ट्विटर)

नई दिल्‍ली:

मंगलवार की रात को बेंगलुरू में हुई हिंसा में हमें एक नए हिन्दुस्तान की झलक भी दिखाई दी. आपको बता दें कि बेंगलुरू हिंसा (Bengaluru Violence) के के दौरान कुछ मुस्मिल युवक एक हम्यूमन चेन बनाकर एक मंदिर को बचाने की कोशिश में लगे हुए थे. ये युवक दंगाई भीड़ के बीच में एक दूसरे का हाथ पकड़े हुए वहां पर स्थित हनुमान मंदिर को बचाने के लिए चारो ओर से घेरकर खड़े हो गए थे. जब तक दंगाई भीड़ (Violent Mob) वहां हिंसा फैलाती रही तब तक ये मुस्लिम युवक ह्यूमन चेन बनाकर हनुमान मंदिर को घेरकर खड़े रहे. हालांकि इस दौरान पुलिस ने दंगाइयों को रोकने के लिए लाठियां भांजने, आंसू गैस छोड़ने के अलावा गोलियां भी चलाईं और इस गोली बारी में 3 लोगों की मौत हो गई.

मंगलवार की रात को पैगंबर मोहम्मद साहब को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी गई थी जिसके बाद ये वायरल हो गई और देखते ही देखते जंगल की आग की तरह पूरे शहर में फैल गई. इसके बाद तो सांप्रदायिकता की आग ऐसी फैली कि देखते ही देखते पूरा शहर जल उठा. कनार्टक में बेंगलुरु के देवराजीवनहल्ली (डीजे हल्ली) और काडुगोंडानाहल्ली (केजी हल्ली) थाना क्षेत्र में पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर हिंसा भड़की. चूंकि ये आरोप कांग्रेस विधायक के बेटे नवीन पर था, इसलिए विधायक श्रीनिवास मूर्ति के घर पर तोड़फोड़ हुई और कई सारी गाड़ियां जलाई गई. इनके घर के सामने एक हनुमान मंदिर भी था, जिसे उपद्रवी तोड़ने के लिए आगे बढ़ रहे थे, मगर उनके सामने उनके ही समुदाय के लोग मंदिर के रखवाले बनकर खड़े हो गए.

यह भी पढ़ें-Lockdown 3.0 : बेंगलुरू पुलिस कमिश्नर ने सोशल मीडिया पर दिया जनता को मैसेज

बेंगलुरू हिंसा पर कांग्रेस का बीजेपी पर हमला
कांग्रेस ने बेंगलुरू में हुई हिंसा की निंदा करते हुए बुधवार को कनार्टक की भाजपा सरकार से सवाल किया कि क्या बीएस येदियुरप्पा सरकार सो रही थी, या फिर हिंसा होने की प्रतीक्षा कर रही थी ? पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि इस घटना से कानून-व्यवस्था की विफलता साबित हुई है. उन्होंने ट्वीट किया, बेंगलुरू हिंसा, दंगा और आगजनी निंदनीय एवं अस्वीकार्य है. यह कानून-व्यवस्था की मशीनरी और कानून के शासन की पूरी तरह विफलता है. 

यह भी पढ़ें-बेंगलुरू हिंसा: हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने की गोलीबारी, 3 की मौत

क्या सो रही थी येदियुरप्पा सरकार
कांग्रेस नेता ने सवाल किया, क्या येदियुरप्पा सरकार सो रही थी या हिंसा होने की प्रतीक्षा कर रही थी? पुलिस ने समय पर कार्रवाई क्यों नहीं की? तीन मौतों का जिम्मेदार कौन है? गौरतलब है कि मंगलवार रात हिंसक भीड़ ने थाने और कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के आवास में तोड़फोड़ की. यह घटना विधायक के एक कथित संबंधी द्वारा सोशल मीडिया पर, सांप्रदायिक मुद्दे से जुड़ा एक पोस्ट साझा किये जाने के बाद हुई. पुलिस के मुताबिक, बड़ी संख्या में लोग विधायक श्रीनिवास मूर्ति के आवास के निकट जमा हुए और तोड़फोड़ की तथा वहां खड़े वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Aug 2020, 07:30:33 PM

For all the Latest States News, South India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.