News Nation Logo

बेंगलुरू हिंसा: हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने की गोलीबारी, 3 की मौत

बेंगलुरू के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने मीडिया से बातचीत में कहा, पुलिस की गोलीबारी में तीन लोग मारे गए. उन्होंने बताया कि बेंगलुरू के पुलाकेशी नगर में हुई हिंसा के मामले में 146 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 12 Aug 2020, 07:00:45 PM
home minister basavraj bommai

गृहमंत्री बसवराज बोम्मई (Photo Credit: एएनआई ट्विटर)

नई दिल्‍ली:

कांग्रेस विधायक के एक कथित रिश्तेदार द्वारा सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा किये जाने के बाद हुई हिंसा को काबू करने के लिए पुलिस की गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई. बेंगलुरू के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने मीडिया से बातचीत में कहा, पुलिस की गोलीबारी में तीन लोग मारे गए. उन्होंने बताया कि बेंगलुरू के पुलाकेशी नगर में हुई हिंसा के मामले में 146 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मंगलवार रात शुरू हुई यह हिंसा बुधवार तड़के तक जारी रही. इस दौरान 50 पुलिस कर्मियों सहित कई लोग घायल हो गए.

बेंगलुरू हिंसा पर कर्नाटक के गृहमंत्री बसवराज ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि इस मामले में यह निर्णय लिया गया है कि जिला मजिस्ट्रेट इस हिंसा की पूरी घटना की जांच करेंगे. उन्होंने बताया कि अब तक इस हिंसा में 146 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. 

आक्रोशित भीड़ ने विधायक आवास में की तोड़-फोड़ 
मंगलवार रात आक्रोशित भीड़ ने एक थाने और कांग्रेस विधायक के आवास में तोड़फोड़ की थी, जिसके बाद सरकार ने कड़ी चेतावनी जारी करते हुए कहा था कि दंगों और कानून एवं व्यवस्था में उल्लंघन के मामलों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पंत ने बताया कि कथित सोशल मीडिया पोस्ट डालने वाले नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्होंने शांति बनाए रखने की भी अपील की . मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा ने कहा, विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के आवास और डीजे हाली पुलिस थाने पर हमला और दंगे निंदनीय हैं.

यह भी पढ़ें-Bengaluru Riots: कर्नाटक सरकार UP की तर्ज पर दंगाइयों से करेगी संपत्ति नुकसान की वसूली

अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश
उन्होंने कहा, अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं और सरकार ने हिंसा पर काबू पाने के लिए हर संभव कार्रवाई की है. उन्होंने कहा कि पुलिस, मीडियाकर्मी और आम नागरिक पर हमला अक्षम्य है. सरकार ऐसी हरकतें बर्दाशत नहीं करेगी. मंगलवार रात को सोशल मीडिया पोस्ट से भड़के सैकड़ों लोगों ने उग्र प्रदर्शन किया और डीजे हाली पुलिस स्टेशन में आग लगा दी. उन्होंने कई पुलिस और निजी वाहनों को आग लगा दी, विधायक मूर्ति और उनकी बहन के सामान के साथ तोड़-फोड़ की. एक एटीएम को भी तहस-नहस कर दिया.

यह भी पढ़ें-बेंगलुरु हिंसा पर बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा, लगाया ये बड़े आरोप

भीड़ हटाने के लिए पुलिस लाठियां भांजने के साथ गोलियां भी चलाईं
पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठियां चलाईं, आंसू गैस के गोले दागे और बाद में गोलियां चलाईं, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई. इस बीच, डीजे हाली और केजी हाली में कर्फ्यू लगा दिया गया है. वहीं विधायक मूर्ति ने समुदाय के लोगों से हिंसा नहीं करने की अपील की. उन्होंने वीडियो संदेश में कहा, मैं मुस्लिम भाईयों से अपील करता हूं कि कुछ बदमाशों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिये. लड़ने-झगड़ने की कोई जरूरत नहीं है. हम सभी भाई हैं. हम कानून के अनुसार दोषियों को सजा दिलाएंगे. हम भी आपके साथ हैं. मैं अपने मुस्लिम दोस्तों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं. कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री बी जेड ज़मीर अहमद खान ने हिंसा को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया. शिवाजी नगर से कांग्रेस के विधायक रिजवान अरशद ने भी लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील की है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Aug 2020, 07:00:45 PM

For all the Latest States News, South India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.