News Nation Logo
Banner
Banner

CM की कुर्सी पर बैठते ही चरणजीत सिंह चन्नी ने सबसे पहले किया यह बदलाव

चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री बनते ही पंजाब की नौकरशाही में बदलाव हुआ है. सीएम का चार्ज संभालने के दिन ही मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी बदले गए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री के स्पेशल प्रिंसिपल सेक्रेटरी को भी बदल दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 20 Sep 2021, 04:00:15 PM
Charanjit Singh Channi

Charanjit Singh Channi (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री बनते ही पंजाब की नौकरशाही में बदलाव हुआ है. सीएम का चार्ज संभालने के दिन ही मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी बदले गए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री के स्पेशल प्रिंसिपल सेक्रेटरी को भी बदल दिया गया है. आपको बता दें कि चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम बनाया गया है. आज यानी सोमवार को उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार आम आदमी, ईमानदारों की है और रेत माफियाओं से मुक्त है. साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी सरकार गरीबों का प्रतिनिधित्व करती है, क्योंकि उन्होंने बचपन में खुद रिक्शा चलाया था.

यह भी पढ़ेंः आतंकी एजाज अहंगर को तालिबान ने जेल से किया रिहा, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट 

उन्होंने केंद्र से तीन कृषि कानूनों को रद्द करने और आंदोलनकारी राज्य कर्मचारियों से काम पर जाने की अपील की. यहां पद की शपथ लेने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में भावुक हुए 58 वर्षीय चन्नी ने कहा कि कांग्रेस ने एक आम आदमी को मौका दिया है जिसने एक विनम्र पार्टी कार्यकर्ता के रूप में अपना करियर शुरू किया था.
मुख्यमंत्री ने कहा, "राहुल गांधी, हरीश रावत और नवजोत सिद्धू ने एक आम आदमी को मुख्यमंत्री (मुख्यमंत्री) बनाया. मैं एक ऐसे परिवार से आता हूं जिसका घर मिट्टी और भूसे से बना था. मैं एक गरीब आदमी का प्रतिनिधि हूं, चाहे वह गरीब किसान हो या एक मजदूर। मैंने खुद एक रिक्शा खींचा. मेरे पिता का टेंट हाउस का व्यवसाय था और मैं एक रिक्शा पर कुर्सियों की आपूर्ति करता था."

यह भी पढे़ंः चरणजीत सिंह चन्नी बने पहले दलित मुख्यमंत्री, पीएम मोदी ने दी बधाई

मुख्यमंत्री के साथ सिद्धू, रावत और उपमुख्यमंत्री-सुखजिंदर रंधावा और ओपी सोनी मौजूद थे. किसानों और गरीबों के प्रति एकजुटता व्यक्त करते हुए चन्नी ने कहा, "मैं किसानों को कोई नुकसान नहीं होने दूंगा. हम आज ही रेत माफिया पर फैसला लेंगे। लंबित बिलों के लिए किसी गरीब का बिजली कनेक्शन नहीं काटा जाएगा." "हमें पंजाब को मजबूत करना है. यह किसानों का राज्य है. मैं केंद्र से कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील करता हूं. मैं अपना सिर काट दूंगा लेकिन किसानों को कोई नुकसान नहीं होने दूंगा." "माफिया में शामिल लोगों को मुझसे संपर्क करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। हम आज पहली कैबिनेट बैठक में रेत माफिया को खत्म करने के लिए एक नीति लाने जा रहे हैं." उन्होंने कहा कि उनकी सरकार जल्द ही पानी का बिल माफ करने और बिजली की दरें कम करने की घोषणा करेगी.

First Published : 20 Sep 2021, 03:36:57 PM

For all the Latest States News, Punjab News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.