News Nation Logo

Facebook LIVE पर ब्लेड से गला काट रहा था शख्स, प्राण निकलने से पहले ऐसे बची जान

आयरलैंड फेसबुक हेडक्वाटर ने सुसाइड कर रहे शख्स के बारे में मुंबई पुलिस के साइबर सेल को कॉल कर मामले की जानकारी दी थी, जिसके बाद उसकी जान बचाई जा सकी.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 05 Jan 2021, 01:47:30 PM
suicide1

ज्ञानेशवर पाटिल (Photo Credit: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में फेसबुक LIVE के जरिए सुसाइड की कोशिश करने वाले शख्स को मुंबई पुलिस ने आयरलैंड फेसबुक हेडक्वाटर की मदद से बचा लिया. बता दें कि आयरलैंड फेसबुक हेडक्वाटर ने फेसबुक लाइव पर सुसाइड की कोशिश कर रहे शख्स के बारे में मुंबई पुलिस के साइबर सेल को कॉल कर मामले की जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस ने शख्स को बचा लिया.

फेसबुक लाइव पर आकर शख्स अपने गले पर ब्लेड मार रहा था, जिसे मुंबई पुलिस साइबर सेल की डीसीपी रश्मि करंदीकर और उनकी टीम ने समय रहते बचा लिया. शख्स का नाम ज्ञानेश्वर पाटिल पाटिल बताया जा रहा है जिसकी उम्र 23 साल है. वह फेसबुक लाइव पर अपने गले पर ब्लेड मारते हुए कह रहा था, ''मैं बहुत परेशान हूं. मुझे कुछ लोग बहुत तंग कर रहे हैं, इसलिए मैं सुसाइड करने जा रहा हूं.'' इस दौरान वह काफी रो भी रहा था.

ये भी पढ़ें- अरबाज और सोहेल खान 7 दिनों के लिए क्वारंटीन, एक हफ्ते बाद होगा कोविड टेस्ट

पूरा मामला रविवार की रात 8 बजे का है. महाराष्ट्र धुले के भोई सोसायटी में रहने वाला शख्स उस समय अपने घर में अकेला ही था. आयरलैंड फेसबुक हेडक्वाटर इस शख्स की हर गतिविधि को बारीकी से देख रहा था, जिसके बाद फेसबुक की टीम ने बिना कोई देरी किए तुरंत मुंबई पुलिस को संपर्क किया. जिसके बाद मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने धुले पुलिस की मदद से इस शख्स की जान बचा ली.

रविवार रात 8.10 बजे डीसीपी करंदीकर को आयरलैंड के फेसबुक हेडक्वाटर से कॉल आता है कि आपके महाराष्ट्र में एक शख्स खुद की जान लेने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने बताया कि वह ब्लेड से अपने गले पर बार-बार हमला कर रहा और उसके हाथ और गला खून से लतपत है.

ये भी पढ़ें- मुंबई पुलिस ने जब्त किया गुटखा, पान-मसालों की कीमत जान दंग रह जाएंगे आप

आयरलैंड से सूचना मिलने के बाद साइबर सेल की टीम ने शख्स का पता लगाने की कोशिश की, जिसमें मालूम चला कि वह महाराष्ट्र के धुले में है. इसके बाद उसके पिन प्वाइंट लोकेशन को ढूंढना जरूरी था, वरना उसकी सटीक लोकेशन का पता नहीं चल पाता. वहीं दूसरी तरफ नाशिक रेंज के आईजी प्रताप दीघावकर और धुले एसपी चिन्मय पंडित को भी मामले की सूचना दी गई.

रात 9 बजे लोकेशन मिलते ही धुले पुलिस की टीम मौके पर पहुंचकर ज्ञानेश्वर पाटिल की जान बचा ली. पुलिस ने खून से लतपत ज्ञानेश्वर को अस्पताल में भर्ती कराया गया. बता दें कि पिछले 5 महीने में इसी तरह 5 लोगों की जान बचाई जा चुकी है.

First Published : 05 Jan 2021, 01:39:16 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.