News Nation Logo

महाराष्ट्र में जरूरी सेवाओं के अलावा सब कुछ बंद, आज से राज्य में धारा 144 लागू : सीएम उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी की निगाहें मुख्यमंत्री द्वारा घोषित फैसले पर टिकी हैं. राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 14 Apr 2021, 12:10:01 AM
CM Uddhav Thackeray

सीएम उद्धव ठाकरे (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • बुधवार से ब्रेक द चेन के लिए अब राज्य में धारा 144 लागू होगी
  • सिर्फ जरूरी काम के लिए ही बाहर लोग निकल सकेंगे
  • सरकार एक महीने के लिए राशन की व्यवस्था करेगी

 

मुंबई :

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि सभी की निगाहें मुख्यमंत्री द्वारा घोषित फैसले पर टिकी हैं. राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है. लॉकडाउन अब कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने का एक विकल्प है. कोविड टास्क फोर्स ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन की सलाह दी. उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीच में ऐसा लगा कि कोरोना से जंग जीत गए, लेकिन महाराष्ट्र में फिर से कोरोना बेकाबू हो गया. राज्य में हालात बेहद डरावने हैं. कोरोना की वजह से प्रदेश बोर्ड की परीक्षा टाल दी गई है.

यह भी पढ़ें : दिल्ली सरकार के दफ्तरों में अब नहीं होगी इन-पर्सन मीटिंग, केवल कोरोना मीटिंग की इजाज़त

सीएम ने कहा कि कोरोना खत्म होने के बाद परीक्षाएं फिर से कराई जा सकती हैं. उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज अपने राज्य में रोज 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन होता है. इसमें से एक हजार मीट्रिक टन यानी कि 100 परसेंट ऑक्सीजन का इस्तेमाल कोरोना के लिए हो रहा है. उन्होंने कहा कि हमने पीएम से मांग की है कि जो स्थिति है, हमें और ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत पड़ सकती है. यहां की एजेंसी को इस बारे में बताया है और उन्होंने हमें ऑक्सिजन देना शुरू कर दिया है. हमको बाकी राज्यों से ऑक्सीजन लाने की इजाजत मिली है, लेकिन उसे लाने में भी वक्त लगेगा.

यह भी पढ़ें : कोरोना संक्रमण से दुनिया में मुश्किल हालात : पीएम

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री को मैंने खत लिखा है. उनसें कहा है कि सड़क के रास्ते से ऑक्सीजन लाना अब आसान नहीं होगा. हमने हवाई ट्रांसपोर्ट से ऑक्सीजन सप्लाई करने की मांग की है. इस फेसबुक लाइव और खत लिखकर भी यह मांग मैं प्रधानमंत्री से कर रहा हूं. सीएम ने कहा कि हमने पीएम से मांग की है कि प्रदेश में जीएसटी रिटर्न फाइल करने के लिए लघु उद्योगों के लिए तीन महीने की डेडलाइन बढ़ाई जाए.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, आज आए 13,468 नए केस, 81 लोगों की मौत

वैक्सीन के बाद भी एन्टी बॉडी पैदा होने में टाइम लगता है. दुनिया मे एक के बाद एक कोरोना की लहर की खबर मिल रही है. कोरोना एक प्राकृतिक आपदा है, जैसे बाकी आपदाओं में मदद की जाती है उसी प्रकार महाराष्ट्र की जनता की मदद केंद्र सरकार द्वारा की जानी चाहिए. मौजूदा स्थिति में ऑक्सिजन इस्तेमाल सिर्फ मेडिकल जरूरत के लिए करना होगा.

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में 523 वैक्सीन केंद्र है. पिछले साल की तुलना इस साल कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. अभी तक हम कोरोना की हाई पिक पर पहुंचे है कि नहीं यह कह नहीं सकते.

सीएम ने कहा कि बुधवार से ब्रेक द चेन के लिए अब राज्य में धारा 144 लागू होगी. साथ ही अगले 15 दिनों तक, सिर्फ जरूरी काम के लिए ही बाहर लोग निकल सकेंगे. इस दौरान एसेंशियल सर्विस के अलावा सब बंद रहेगा. सार्वजनिक परिवहन सेवाएं शुरू रहेंगे. आज यह करने की जरूरत इसीलिए है क्योंकि मरीजों की बढ़ती संख्या डरा देने वाली है. स्वास्थ्य सुविधा कम पड़ती हुई दिखाई दें रही है.

सरकार एक महीने के लिए राशन की व्यवस्था करेगी, जिसका लाभ साढ़े 7 करोड़ लोगों को मिलेगा. स्वास्थ्य सुविधा में जहां जैसी जरूरत है उसके अनुसार व्यवस्था की जा रही है. जहां बेड्स, ऑक्सीजन , वेंटिलेटर , आइसोलेशन , कोरोंटीन सेंटर्स बढ़ा रहे है पर इन सब के लिए डॉक्टर्स कर्मचारियों की भी जरूरत पड़ेगी.

 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 13 Apr 2021, 08:41:54 PM

For all the Latest States News, Maharashtra News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.