News Nation Logo

नाथूराम गोडसे की प्रतिमा के 'पक्षधर' पार्षद हुए कांग्रेस में शामिल

कांग्रेस ने ग्वालियर के पार्षद बाबूलाल चौरसिया को अपनी पार्टी में जरूर शामिल कर लिया है, जो नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की प्रतिमा लगाने के कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 25 Feb 2021, 02:22:05 PM
Godse

ग्वालियर से पार्षद हैं बाबूलाल चौरसिया. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • ग्वालियर के पार्षद बाबूलाल चौरसिया की कांग्रेस में 'घर वापसी'
  • नाथूराम गोडसे की प्रतिमा लगाने के कार्यक्रम में हुए थे शामिल
  • मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कराई 'घर वापसी'

ग्वालियर:

कांग्रेस (Congress) के नए-पुराने नेताओं का शगल रहा भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लेकर कठघरे में खड़ा करना. इस हमले वे लगातार इस तथ्य की अनदेखी कर देते हैं कि गोडसे का संबंध आरएसएस से कभी नहीं रहा. हालांकि मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ग्वालियर के पार्षद बाबूलाल चौरसिया को अपनी पार्टी में जरूर शामिल कर लिया है, जो नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की प्रतिमा लगाने के कार्यक्रम में शामिल हुए थे. चौरसिया साहब अपने को खांटी कांग्रेसी बताते हैं, जो निकाय चुनाव में टिकट नहीं दिए जाने से नाराज होकर हिंदू महासभा में शामिल हो गए थे. हालांकि विचारधारा से पटरी नहीं बैठ पाने के कारण वापस कांग्रेस में आ गए.

कमलनाथ की मौजूदगी में हुए शामिल
मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ की मौजूदगी में बाबूलाल चौरसिया ने पार्टी का दामन थामा. इस तरह महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की प्रतिमा लगाने के कार्यक्रम में शामिल हुए शख्स बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस ने पार्टी की सदस्यता दी. 2017 में ग्वालियर हुए नाथूराम गोडसे की प्रतिमा लगाए जाने के एक कार्यक्रम में बाबूलाल चौरसिया भी मौजूद थे. कांग्रेस में शामिल होने पर बाबूलाल चौरसिया ने कहा, 'मैं जन्म से ही कांग्रेसी हूं. निकाय चुनाव में पार्टी की ओर से टिकट न दिए जाने पर मैंने कांग्रेस छोड़ दी थी. इसके बाद मैं हिंदू महासभा में शामिल हो गया था और चुनाव भी जीता, लेकिन बाद में मुझे लगा कि मैं उनकी विचारधारा में फिट नहीं बैठता हूं. इसलिए कांग्रेस में वापसी कर ली.'

यह भी पढ़ेंः महंगाई ने मारा, कैसे होगा आम आदमी का गुजारा, पढ़ें स्पेशल रिपोर्ट

बाबूलाल चौरसिया गोडसे को श्रद्धांजलि देते आ रहे हैं
बाबूलाल चौरसिया नाथूराम गोडसे की मूर्ति लगवाने वाले प्रमुख लोगों में से एक थे. यही नहीं वह बीते तीन सालों से नाथूराम गोडसे की जयंती पर श्रद्धांजलि देते आ रहे हैं. हालांकि अब उन्होंने इसका सारा दोष हिंदू महासभा पर मढ़ते हुए कहा गया है कि उन्हें भ्रमित किया गया था. मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने बाबूलाल को पार्टी में शामिल करने को लेकर कहा कि हमारी पार्टी माफ करने में यकीन करती है. ग्वालियर सीट से कांग्रेस के विधायक प्रवीण पाठक ने चौरसिया को शामिल करने का बचाव किया. उन्होंने कहा, 'चौरसिया पहले कांग्रेस पार्टी के ही सदस्य थे।. उन्होंने पार्टी में वापसी का फैसला लिया है और हम स्वागत करते हैं.'

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाला सैनिक गिरफ्तार, जांच के आदेश

कांग्रेस बचाव में, तो बीजेपी हमलावर
राहुल गांधी के एक बयान का हवाला देते हुए पाठक ने कहा कि हमारी पार्टी में राहुल गांधी जैसे नेता हैं, जिन्होंने अपने पिता के कातिलों को माफ कर दिया कि उन्हें जिंदगी जीने के लिए एक मौका मिलना चाहिए. बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, 'हम हमेशा कहते रहे हैं कि हिंदू महासभा और उसके नेताओं से हमारा कोई ताल्लुक नहीं है. अब सच सामने आ गया है कि कांग्रेस के लोग ही साजिश रचते रहे हैं कि बीजेपी की छवि को राज्य में खराब कर दिया जाए.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 25 Feb 2021, 02:14:18 PM

For all the Latest States News, Madhya Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.