News Nation Logo

पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाला सैनिक गिरफ्तार, जांच के आदेश

यह सैनिक हाल ही में उत्तरी कमान में तैनात किया गया था. जासूसी की जानकारी मिलने के बाद जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 25 Feb 2021, 01:34:02 PM
Pakistan Spy

पंजाब का रहने वाला सैनिक उधमपुर में था तैनात. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • उधमपुर की उत्तरी कमान में तैनात था जासूस सैनिक
  • उत्तरी कमान पर पाकिस्तान-चीन सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी
  • अब सेना के उच्चाधिकारी कर रहे हैं जासूसी मामले की जांच

नई दिल्ली:

भारतीय सेना (Indian Army) ने पाकिस्तान को संवेदनशील सूचनाएं देने वाले सैनिक को गिरफ्तार करने के साथ ही जासूसी प्रकरण की जांच के आदेश दिए हैं. उत्तरी कमान से जुड़े इस सैनिक को सेना के उच्चाधिकारियों ने जासूसी करते पकड़ा था. पंजाब का रहने वाला यह सैनिक हाल ही में उत्तरी कमान में तैनात किया गया था. जासूसी की जानकारी मिलने के बाद जांच के आदेश दे दिए गए हैं. इस जांच से यह पता चलेगा कि गिरफ्तार सैनिक की संवेदनशील जानकारियों तक पहुंच कैसे हुई और उसने पाकिस्तान की कितनी सूचनाएं दीं. गौरतलब है कि पाकिस्तान (Pakistan) और चीन (China) से लगती सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी उत्तरी कमान की ही है.

हवलदार रैंक का है सैनिक
हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार सैनिक हवलदार रैंक का है और वह पंजाब का रहने वाला है. सैनिक को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है. कहा गया है की उसने पाकिस्तान में अपने संचालकों को इलेक्ट्रॉनिक रूप से संवेदनशील जानकारियां भेजीं. मामले की जांच चल रही है, सैनिक की पहचान को रोक दिया गया है. उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर में यह सैनिकों की सुरक्षा के लिए हानिकारक हो सकता है क्योंकि ढेरों जानकारियां भेजी गई हैं गौरतलब है कि उत्तरी कमान के पास ही पाकिस्तान औऱ चीन से जुड़ी सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी है.

यह भी पढ़ेंः आज आधी रात से भारत-पाक में सीजफायर, LOC पर नहीं होगी फायरिंग

बीते साल भी पकड़े गए थे चीनी जासूस
गौरतलब है कि बीते साल के अंत में चीनी जासूसी कांड में बड़ा खुलासा हुआ था. पीएमओ के बड़े अधिकारी के साथ-साथ दलाई लामा और भारत में लगाये गए सुरक्षा उपकरण भी चीन के इस जासूस के निशाने पर थे. चीनी जासूस एयरपोर्ट पर लगने वाले सुरक्षा उपकरणों में भी सेंध लगाना चाहते थे. दिल्ली में पकड़े गए चीनी जासूसी नेटवर्क से हुई पूछताछ में यह जानकारी सामने आई थी. इस जासूसी नेटवर्क में चीनी महाबोधी मंदिर के एक प्रमुख बौद्ध भिक्षु और कोलकाता की एक प्रभावशाली महिला के शामिल होने की भी खबर है. चीन की जासूस क्विंग शी के पास जो दस्तावेज मिले हैं उसके मुताबिक पीएमओ के अधिकारी और दलाई लामा के हर मूवमेंट की जानकारी ली जा रही थी. ये सारा खुलासा क्विंग शी नाम की चीनी जासूस से पूछताछ के दौरान हुआ है जो इस वक्त दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है. 

First Published : 25 Feb 2021, 01:31:30 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.