logo-image
लोकसभा चुनाव

हरियाणा सरकार ने नौकरियों में बढ़ाया OBC आरक्षण, विधानसभा चुनाव से पहले सीएम सैनी ने लिया बड़ा फैसला

Haryana OBC Reservation: हरियाणा सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले ओबीसी आरक्षण को बढ़ाने का ऐलान किया है. राज्य के सीएम नायब सिंह सैनी ने सरकारी नौकरियों में 15 फीसदी ओबीसी कोटा को बढ़ाकर 27 फीसदी करने का ऐलान किया है.

Updated on: 24 Jun 2024, 05:55 AM

New Delhi:

Haryana OBC Reservation: हरियाणा सरकार ने सरकारी नौकरियों में ओबीसी आरक्षण बढ़ाने का ऐलान किया है. नायब सिंह सैनी सरकार ने ये फैसला ऐसे समय में लिया है जब राज्य में अगले कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने है. दरअसल, लोकसभा चुनाव के बाद सभी पार्टियां अब विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियां करने लगी हैं. इसी बीच हरियाणा सरकार ने ओबीसी के आरक्षण की सीमा को बढ़ाने का ऐलान कर  दिया. क्योंकि इस साल के आखिर में हरियाणा विधानसभा के लिए चुनाव होने हैं. ऐसे में सीएम नायब सिंह सैनी ने अन्य पिछड़ा वर्गों के 15 प्रतिशत आरक्षण को बढ़ाकर 27 प्रतिशत करने का ऐलान किया है. सीएम के इस ऐलान के बाद राज्य के ओबीसी वर्ग को सरकारी नौकरियों में इसका लाभ मिलेगा.

ये भी पढ़ें: NEET UG Re-Exam: नीट यूजी री-एग्जाम में पहुंचे केवल इतने ग्रेस मार्क्स वाले छात्र, इस बार भी मुश्किल था पेपर

हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने रविवार को ओबीसी वर्ग के बड़ी घोषणा की. सरकार ने कहा कि क्रीमीलेयर की वार्षिक आय सीमा को बढ़ाकर 8 लाख रुपये कर दिया गया. इससे नौकरियों में ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को लाभ मिलेगा. इसी के साथ सरकारी नौकरियों के ग्रुप-ए और ग्रुप-बी पदों पर अब अन्य पिछड़ा वर्ग यानी ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिलेगा. जो पहले सिर्फ 15 प्रतिशत था.

ये भी पढ़ें: Sexual Assault Case: JDS MLC सूरज रेवन्ना की बढ़ीं मुश्किलें, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

हरियाणा के सीएम सैनी ने कहा कि राज्य में ग्रुप ए और बी पदों पर जल्द से जल्द भर्तियां निकाली जाएंगी, जिसमें पिछड़ा वर्ग को प्राथमिकता दी जाएगी. उन्होंने कहा कि इसके लिए विशेष भर्ती अभियान चलाया जाएगा. बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हरियाणा में बड़ा झटका लगा है और पार्टी राज्य की दस में से सिर्फ पांच सीटें जीतने में ही कामयाबी हुई. जबकि इससे पहले के दोनों लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने राज्य की सभी 10 सीटें जीती थी. ऐसे में बीजेपी अब विधानसभा चुनाव को लेकर कोई रिस्क लेना नहीं चाहती. इसीलिए राज्य के ओबीसी वर्ग के आरक्षण को बढ़ा दिया.

ये भी पढ़ें: Tamil Nadu Hooch Tragedy: ‘राहुल गांधी और खरगे कहां हैं’, शराब कांड में निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर वार