News Nation Logo
Banner

प्रदर्शनकारी किसान पर दुष्यंत चौटाला की प्रतिक्रिया, कही ये बड़ी बात

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का दूसरा बयान सामने आया है जिसमें वो कहते हैं पुलिस पर हमले का वीडियो सामने आया है. आप किसी का माला पहनाकर स्वागत नहीं करेंगे यदि वे आप पर हमला करने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें लाठीचार्ज करना पड़ा.

News Nation Bureau | Edited By : Rupesh Ranjan | Updated on: 31 Aug 2021, 04:11:01 PM
Dushyant Chautala

Dushyant Chautala (Photo Credit: News Nation )

highlights

  • प्रदर्शनकारी किसान पर दुष्यंत चौटाला की प्रतिक्रिया
  • पुलिस पर किए गए हमले- दुष्यंत चौटाला
  • जवाबी कार्रवाई में पुलिस मे किया लाठीचार्ज - दुष्यंत चौटाला

 

नई दिल्ली:

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में शनिवार को भाजपा की राज्यस्तरीय बैठक आयोजित की गई थी. बैठक के विरोध में जुटे प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच बसताड़ा टोल प्लाजा पर हिंसा भड़क गई. करनाल की ओर जाते किसानों को रोकने और उन्हें तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया. इस घटना में 10 प्रदर्शनकारी किसान घायल हो गए. इसी बीच सोशल मीडिया पर करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का एक वीडियो वायरल हो गया. जिसमें वह पुलिस से किसानों का सिर फोड़ने की बात कहते हुए दिख रहे हैं. किसानों पर सुनियोजित तरीके से लाठीचार्ज करने के विपक्ष का आरोप पुख्ता होता देख हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला डैमेज कंट्रोल में लग गये. चौटाला ने हाल ही में इस घटना पर दिए अपने पहले बयान में एसडीएम सिन्हा पर कार्रवाई का वादा किया था. 

यह भी पढ़ें: केरल कांग्रेस सचिव पीएस पारसनाथ पार्टी से निष्कासित


इस घटना पर हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का दूसरा बयान सामने आया है जिसमें वो कहते हैं पुलिस पर हमले का वीडियो सामने आया है. आप किसी का माला पहनाकर स्वागत नहीं करेंगे यदि वे आप पर हमला करने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें लाठीचार्ज करना पड़ा. पुलिस का काम कानून-व्यवस्था बनाए रखना है. हमने सुनिश्चित किया है कि पिछले 9 महीनों में अत्यधिक बल का प्रयोग न हो. इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनकारी किसान नेताओं पर हमला बोला. उन्होंने कहा अगर इरादा अराजकता पैदा करने का है, तो बात अलग है. लेकिन अगर इरादा किसानों और कृषि कानूनों के लिए काम करना है, तो उनकी नियमित बातचीत होनी चाहिए. वे 40 लोग कहां हैं जिन्होंने कहा कि एमएसपी और बाजार मौजूद नहीं होंगे और जमीन पर कब्जा कर लिया जाएगा?

यह भी पढ़ें: तालिबान और पाकिस्तान से भारत को खतरा! CDS बिपिन रावत की सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक

बता दें कि इससे पहले रविवार को भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक विवादित बयान दिया था.  राकेश टिकैत हरियाणा के नूंह में आयोजित महापंचायत को संबोधित करते हुए खट्टर सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने करनाल में पुलिस द्वारा किसानों पर की गई लाठीचार्ज की घटना को निंदा करते हुए हरियाणा सरकार पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों को कल एक अधिकारी ने किसानों के सिर पर वार करने का आदेश दिया. इसके आगे उन्होंने कहा कि वे हमें खालिस्तानी कहते हैं. अगर आप हमें खालिस्तानी और पाकिस्तानी कहेंगे, तो हम भी कहेंगे कि 'सरकारी तालिबानी' ने देश पर कब्जा कर लिया है. वे 'सरकारी तालिबानी' हैं. इसके साथ ही उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जिन्होंने आदेश दिया सर फोड़ने का इन कमांडरो की पहचान करनी होगी. बता दें कि उक्त बातें भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने रविवार को नूंह में आयोजित महापंचायत को संबोधित करते हुए कही.

First Published : 31 Aug 2021, 04:08:32 PM

For all the Latest States News, Haryana News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो