News Nation Logo

गुरुग्राम में पिछले 24 घंटों में ब्लैक फंगस के 14 मामले सामने आए

साइबर सिटी गुरुग्राम (Cyber City Gurugram) में हर गुजरते दिन के साथ ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं. जिला स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के 14 नए मामलों की पुष्टि की है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 26 May 2021, 11:24:38 PM
Black Fungus

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल )

highlights

  • गुरुग्राम में ब्लैक फंगस की आहट
  • 24 घंटे में आए ब्लैक फंगस के 14 केस
  • 4 संदिग्ध मौतें भी हुईं हालांकि पुष्टि नहीं हुई

गुरुग्राम:

साइबर सिटी गुरुग्राम (Cyber City Gurugram) में हर गुजरते दिन के साथ ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं. जिला स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के 14 नए मामलों की पुष्टि की है. इसके साथ ही कुल आंकड़ा 170 हो गया है. इनमें गुरुग्राम (Gurugram) के अलावा बाहरी जिलों और राज्यों में रहने वाले मरीज शामिल हैं, जिनका इलाज जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिले के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है. गुरुग्राम में ब्लैक फंगस (Black Fungus) के कारण चार संदिग्ध मौतें (Four Suspected Death) दर्ज की गई हैं. हालांकि जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से इनमें से किसी की भी पुष्टि नहीं हुई है. 

गुरुग्राम के पारस अस्पताल (Paras Hospital) के ईएनटी विभाग के प्रमुख (Chief of ENT Department) डॉ. अमिताभ मलिक (Doctor Amitabh Malik) ने कहा, यह संक्रमण कोविड-19 (COVID-19) से जूझ रहे कई मधुमेह रोगियों (Diabetic Patient ) और कमजोर प्रतिरोधक (Low Immunity) क्षमता वाले लोगों को हो रहा है. डॉ. मलिक ने कहा, जब एक मधुमेह रोगी को कोरोना होता है, तो उसे स्टेरॉयड दिया जाता है, जो प्रतिरक्षा को कमजोर करता है और शर्करा के स्तर को बढ़ाता है.

यह भी पढ़ेंःPM मोदी ने मैक्रों से की बात, स्थिति सामान्य होने पर भारत आने का दिया न्योता

यह संक्रमण का एक नया रूप नहीं है. इसमें वे लोग शामिल हैं, जिन्हें स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं या वे ऐसी दवाएं लेते हैं, जो शरीर की रोगाणुओं और बीमारी से लड़ने की क्षमता को कम करती हैं. यह आमतौर पर मधुमेह, कैंसर या अंग प्रत्यारोपण वाले लोगों को प्रभावित करता है.

यह भी पढ़ेंःPM मोदी ने इमैनुएल मैक्रों को कोविड में सहायता के लिए दिया धन्यवाद

डॉक्टरों के अनुसार, इस बीमारी से जुड़े सामान्य लक्षण सिरदर्द, चेहरे में दर्द, नाक बंद होना, आंखों की रोशनी कम होना या आंखों में दर्द, गालों और आंखों में सूजन है. हालांकि, जिले में अब तक व्हाइट फंगस का कोई मामला सामने नहीं आया है. कोलंबिया एशिया अस्पताल के ईएनटी विभाग के वरिष्ठ सलाहकार डॉ. शशांक वशिष्ठ ने कहा कि व्हाइट फंगस कैंडिडा नाम का एक फंगस है, जो सफेद रंग का होता है. यह भी उन लोगों को प्रभावित करता है, जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 May 2021, 11:23:06 PM

For all the Latest States News, Haryana News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो