News Nation Logo
Banner

Exclusive: टीएस देव बोले- छत्तीसगढ़ का CM कौन रहेगा, यह तो...

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में दरार के बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव (TS Singh Deo) ने न्यूज नेशन से बातचीत में कहा कि पार्टी ने कभी नहीं कहा कि ढाई साल का कोई फार्मूला है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 26 Aug 2021, 05:38:46 PM
ts deo

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव (Photo Credit: ANI)

highlights

  • पंजाब के बाद अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस में खींचतान जारी
  • पार्टी ने कभी नहीं कहा कि ढाई साल का कोई फार्मूला है
  • एक रुपये देकर पार्टी का सदस्य बना था : स्वास्थ्य मंत्री

नई दिल्ली:

Chattisgarh Congress crisis : पंजाब के बाद अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस (Chhattisgarh Congress) में खींचतान जारी है. छत्तीसगढ़ कांग्रेस में दरार के बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव (TS Singh Deo) ने न्यूज नेशन से बातचीत में कहा कि पार्टी ने कभी नहीं कहा कि ढाई साल का कोई फार्मूला है. मीडिया में यह बात चली और उसके बाद से ही अटकलें चल रही हैं, लेकिन यह भी सच है कि इस 16 जून को भूपेश बघेल का ढाई साल पूरा हो गया. यह सब पार्टी आलाकमान तय करती है. हम लोग पार्टी के सिपाही हैं, उसको फॉलो करते हैं. 

यह भी पढ़ें : पहली महिला CJI बनकर ये जज रचेंगी इतिहास, राष्ट्रपति ने अप्रूव किए इतने नाम

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने न्यूज नेशन से बातचीत में कहा कि भूपेश बघेल मुख्यमंत्री है और हमारी सरकार 5 साल चलेगी. मुख्यमंत्री कौन रहेगा और कौन नहीं रहेगा, यह पार्टी तय करेगी. कांग्रेस पार्टी ने कभी ऐसा नहीं कहा कि ढाई साल का कोई फार्मूला है. क्या आप मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार है इस सवाल पर टीएस सिंह देव ने कहा कि पार्टी जो भी जिम्मेदारी दी है, मैंने वह पूरी की है. एक रुपये देकर पार्टी का सदस्य बना था तब से अब तक 40 साल से पार्टी ने जहां-जहां भेजा वहां मैं गया हूं.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में दरार के बीच बघेल, देव ने की राहुल गांधी से मुलाकात

आपको बता दें कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंह देव ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी. इन दोनों नेताओं की राहुल गांधी के साथ बैठक तब हुई जब देव ने राज्य में शीर्ष पद के लिए कथित दावों के बीच बारी-बारी के आधार पर मुख्यमंत्री पद की मांग की.

बघेल और देव दोनों ने राहुल गांधी से मुलाकात की, क्योंकि छत्तीसगढ़ कांग्रेस में अंदरूनी कलह का खतरा है. कांग्रेस को पहले पंजाब, मध्य प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक और कुछ पूर्वोत्तर राज्यों में इसी तरह की स्थिति का सामना करना पड़ा था. बघेल और देव के बीच मतभेदों की कई खबरें हैं. देव और बघेल राष्ट्रीय राजधानी के कई दौरे कर रहे हैं. देव, रिकॉर्ड के लिए, कहते हैं कि सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी फैसला करेंगे. 

यह भी पढ़ें : दिल्ली पुलिस अधिकारी के बेटे ने आईजीआई के पास आदमी के सिर में मारी गोली

2018 के विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में मुख्यमंत्री पद के लिए बघेल, देव, चरण दास महंत और ताम्रध्वज साहू के नाम चर्चा में थे. हालांकि, कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के साथ कई बैठकें करने के बाद बघेल विजेता बनकर उभरे. ऐसी भी खबरें आई हैं कि कांग्रेस ने बघेल और देव को खुश करने के लिए सीएम पोस्ट-शेयरिंग फॉर्मूला अपनाया था। कांग्रेस ने इस साल जून में राज्य में ढाई साल पूरे कर लिए हैं.

First Published : 26 Aug 2021, 05:34:41 PM

For all the Latest States News, Chhattisgarh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.